Close X
Sunday, October 24th, 2021

IPS पवन कुमार जैन वर्ष 2020 के लिए INVC इंटरनेशनल अवार्ड के लिए चयनित

इससे पहले श्री पीएम भारद्वाज, श्री विजय समनोत्रा एवम श्रीमती भारती पाराशर को वर्ष 2020 के लिए आई एन वी सी अवार्ड के लिए चुना जा चुका है ।  

कमेटी के सामने सैकड़ो नामांकन थे , जिनमे से वर्ष 2020 के लिए श्री पवन कुमार जैन के चयन के साथ ही अंतिम अवार्ड की भी घोषणा कर दी गई। 


आई एन वी सी
न्यूज़ नई दिल्ली ,

अवार्ड सलेक्शन कमेटी संयोजक डॉ वीरेंद्र रावत (अधिवक्ता सुप्रीम) कोर्ट,  अंतरराष्ट्रीय समाचार एवं विचार निगम के अंतरराष्ट्रीय सलाहकार (मानद) डॉ डीपी शर्मा और अवार्ड सलेक्शन कमेटी के चेयरमैन जाकिर हुसैन ने एक लम्बे मंथन के बाद , सैकड़ो प्राप्त नामांकनों में से श्री पवन कुमार जैन के जन सेवा कार्यो के साथ - साथ  बाकी दूसरी उपलब्धियों को मद्देनज़र रखते हुए , सर्वसम्मति से अंतरराष्ट्रीय समाचार एवं विचार निगम के INVC इंटरनेशनल अवार्ड के लिए चयनित किया !

 
अंतरराष्ट्रीय समाचार एवं विचार निगम वर्ष 2020 के लिए चार अवार्ड दे रही हैं साथ अवार्ड सलेक्शन कमेटी संयोजक डॉ वीरेंद्र रावत (अधिवक्ता सुप्रीम) कोर्ट,  अंतरराष्ट्रीय समाचार एवं विचार निगम के अंतरराष्ट्रीय सलाहकार (मानद) डॉ डीपी शर्मा और अवार्ड सलेक्शन कमेटी के चेयरमैन जाकिर हुसैन ने यह भी तय किया है की अंतरराष्ट्रीय समाचार एवं विचार निगम वर्ष 2021 के 5 अवार्ड देगी।

ज्ञात रहे कि सन 2020 का  पुरस्कार वितरण समारोह कोरोना महामारी के कारण स्थगित कर दिया गया था । अब यह समारोह वर्चुअल माध्यम से सितंबर - अक्टूबर में आयोजित किया जाएगा जिसकी तारीख की घोषणा जल्द की जाएगी।

श्री पवन कुमार जैन के बारे में , क्यों अवार्ड  सेलेक्शन  कमेटी ने अवार्ड के लिए किया चयन ?

सेवा के प्रतीक पुरुष और कवि हृदय मानव पवन कुमार जैन को आई एन वी सी का लाइफ टाइम अचीवमेंट इंटरनेशनल अवार्ड

सेवा के प्रतीक पुरुष और कवि हृदय पवन कुमार जैन,  निवासी राजाखेड़ा,जिला-धौलपुर (राजस्थान) भारतीय पुलिस सेवा में मध्य प्रदेश कैडर 1987 बैच के अधिकारी हैं।  सिविल सेवा परीक्षा में भौतिक शास्त्र जैसे विशुद्ध विज्ञान के विषय को हिन्दी माध्यम में लिख कर चयनित होने वाले भारतीय पुलिस सेवा के पहले अधिकारी का रिकॉर्ड भी उन्हीं के नाम है। वे पुलिस अधीक्षक के रूप में विदिशा, सरगुजा, खरगौन, मुरैना तथा सीहोर में पदस्थ रहे और बाद में विशेष सशस्त्र बल एवं अपराध अनुसंधान विभाग में उप पुलिस महानिरीक्षक के रूप में पदस्थ रहे हैं। श्री पवन जैन मुख्यमंत्री सचिवालय, म.प्र. शासन में अतिरिक्त सचिव, आयुक्त, संस्कृति एवं राजभाषा (मध्यप्रदेश)  एवं न्यासी, सचिव, भारत भवन (भोपाल)  के रूप में पदस्थ रहे हैं। वे पुलिस महानिरीक्षक एवं प्रबंध संचालक, म.प्र. पुलिस हाउसिंग कार्पोरेशन भोपाल व पुलिस महानिरीक्षक उज्जैन जोन उज्जैन के रूप में पदस्थ रहे हैं।

अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक, योजना एवं अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक, लोकायुक्त के पद पर पदस्थ रहने के बाद  वे विशेष पुलिस महानिदेशक(प्रशिक्षण) के पद पर  कार्यरत रहे हैं ।

वर्तमान में वे संचालक खेल एवं युवक कल्याण, म.प्र. भोपाल के पद पर पदस्थ हैं ।  श्री पवन जैन को सरगुजा जिले में कोयलांचल क्षेत्र के दस हजार से अधिक खदान मजदूरों को ऋण मुक्त कराने के लिये वर्ष 1997 में नई दिल्ली में  ‘’टी.पी. झुनझुनवाला समाज सेवा पुरूस्कार’’ से अलंकृत किया गया। मध्य प्रदेश भारतीय हिन्दी साहित्य परिषद द्वारा वर्ष 2002 के लिये उन्हें ’’ निराला युवा साहित्य सम्मान’’ से अलंकृत किया गया।

वर्ष 2003 में सराहनीय सेवाओं के लिए ’’राष्ट्रपति पुलिस पदक’’ से सम्मानित किया गया। वर्ष 2013 में श्री पवन जैन को विशिष्ट सेवाओं के लिए ’’राष्ट्रपति पुलिस पदक’’  से भी सम्मानित किया गया है।

श्री जैन की साहित्यिक अभिरूचि भी रही है जिसके लिए उनकी कृति हिन्दी के उत्कृष्ट कवि, काव्य संग्रह ‘’मैं समय हूँ......’’ राधाकृष्ण प्रकाशन, नई दिल्ली से प्रकाशित हो चुकी है। भारतीय परिदृश्य में पुलिस की दबंग छवि को दरकिनार करते हुए उनके अंदर एक कोमल हृदय एवं संवेदनशील व्यक्तित्व विद्यमान है जिसको चरितार्थ करने के लिए वे हिन्दी अकादमी, नई दिल्ली द्वारा गणतंत्र दिवस के अवसर पर लाल किले की ऐतिहासिक परम्परा के कवि सम्मेलन में पिछले 16 वर्षों में 14 बार काव्य-पाठ भी कर चुके हैं। वर्ष 2017 में लाल किले के ऐतिहासिक मुशायरे की सदारत का गौरव प्राप्त किया । भारत के प्रख्यात कवि-सम्मेलनों, काव्य मंचों एवं कवि भारती में पिछले 30 वर्षों से निरंतर रचना पाठ कर रहे हैं ।

उन्होंने आठवें विश्व हिन्दी सम्मेलन न्यूयॉर्क 2007 में मुख्य-वक्ता के रूप में आलेख पाठ किया और वहाँ आयोजित विश्व हिन्दी कवि सम्मेलन में रचना पाठ किया । नवें विश्व हिन्दी सम्मेलन, जोहान्सबर्ग (द.अफ्रीका) 2012 में उनके आलेख पाठ को विशेष सराहना मिली तथा उनकी कविताओं को सर्वाधिक प्रशंसा भी मिली ।

अगस्त सितम्बर वर्ष 2017 में I.C.C.R. तथा भारतीय उच्चायोग लन्दन के संयुक्त तत्वधान में इंग्लैंड के 10 बड़े शहरों में भारतीय कवियों के दल का नेतृत्व एवं अंतराष्ट्रीय हिन्दी कवि सम्मेलनों में ओजस्वी कविता पाठ किया । श्री जैन ने पूज्य पिताजी की स्मृति में स्थापित बाबूलाल जैन सेवा संस्थान द्वारा चंबल क्षेत्र में 21 विशाल नि:शुल्क  चिकित्सा शिविर के माध्यम से मध्य प्रदेश, राजस्थान एवं उत्त‍रप्रदेश के 50,000 से अधिक जरूरतमंद मरीजों के नेत्र ऑपरेशन, दंत ऑपरेशन एवं पोलियो शल्य चिकित्सा् के ऑपरेशन एवं देश के प्रख्यात चिकित्सिकों के उपचार द्वारा प्रत्यक्ष लाभ पहॅुचाया गया है। संस्थान द्वारा साहित्यिक गतिविधियों के प्रोत्साहन हेतु राजाखेड़ा, आगरा, ग्वालियर और मुरैना में 34 से अधिक राष्ट्रीय कवि सम्मेलनों में देश के सैकड़ों शीर्षस्थ कवियों एवं शायरों ने शब्दों का दीपदान कर चंबल क्षेत्र की लाखों जनता को देश प्रेम और सामाजिक चेतना की भावना से ओत-प्रोत किया है ।

भारत का अंतरराष्ट्रीय समाचार एवं विचार निगम आप के इन विशिष्ट कार्यों के लिए आपको लाइफ टाइम अचीवमेंट्स "आई एन वी सी " इंटरनेशनल अवार्ड प्रदान करने की घोषणा करते हुए स्वयं को गौरवान्वित महसूस करता है।

Comments

CAPTCHA code

Users Comment