Close X
Monday, October 18th, 2021

देश के युवा अपनी पसंद के साथ स्पेशलाइजेशन आधारित प्रोफेशन का चुनाव करें

भारत एक युवा देश है एवं हमारे युवाओं ऊर्जावान है l उन्होंने कहा कि हमारे युवाओं को रोजगार के बहुत सारे नए अवसर उपलब्ध हैं लेकिन युवाओं को अपने पसंद के रोजगार ही तय करने चाहिए

आई एन वी सी न्यूज़
जयपुर ,


भारद्वाज फाउंडेशन जयपुर एवं  क्रैडेंट टीवी के संयुक्त तत्वाधान में कैरियर काउंसलिंग का ऑनलाइन सत्र आयोजित किया गया ।
राष्ट्रीय मोटिवेशनल व मैनेजमेंट गुरु एवं भारत सरकार की चार सार्वजनिक क्षेत्र की संस्थाओं के एमडी / सीएमडी रहे पीएम भारद्वाज ने मॉडरेट किया l

प्रधानमंत्री के स्वच्छ भारत अभियान के राष्ट्रीय एंबेसडर एवं यूएन-आईएलओ के अन्तर्राष्ट्रीय आईटी सलाहकार डॉ डीपी शर्मा ने भी विदेश से ऑनलाइन संबोधित किया।  

प्रोफ़ेसर एसएन विजयवर्गीय, निर्देशक जीनस इंफ्रास्ट्रक्चर, लिमिटेड, श्री रोहित झालानी, जयपुर प्लांट हैड केईसी इंटरनेशनल लिमिटेड, डॉ रवि गोयल प्रो प्रेसिडेंट निर्वाण यूनिवर्सिटी जयपुर, डॉ एके सैनी, एसोसिएट डीन इकफाई यूनिवर्सिटी जयपुर ने भी कार्यक्रम को सम्बोधित किया l

सत्र की शुरुआत में मॉडरेटर एवं भारद्वाज फाउंडेशन के संस्थापक अध्यक्ष पीएम भारद्वाज ने कहा कि भारत एक युवा देश है एवं हमारे युवाओं ऊर्जावान है l उन्होंने कहा कि हमारे युवाओं को रोजगार के बहुत सारे नए अवसर उपलब्ध हैं लेकिन युवाओं को अपने पसंद के रोजगार ही तय करने चाहिए ताकि युवा अपने  एवं राष्ट्रीय निर्माण की दिशा में महत्वपूर्ण योगदान दे सकें l पीएम भारद्वाज ने इसराइल का उदाहरण देते हुए बताया कि कम जनसंख्या होते हुए भी यहूदियों ने बुद्धिमान एवं  मेहनती  होने की वजह से विश्व में अपना अलग स्थान बना लिया है l यहूदियों की तरह हिंदुस्तानी भी बहुत बुद्धिमान, ताकतवर एवं मेहनती है लेकिन हमें जातिवाद, प्रांतवाद एवं भाषावाद से ऊपर उठकर राष्ट्रवाद अपनाना होगा तभी हम अपने देश को पुनः विश्व गुरु बना सकेंगे l

युवाओं के लिए आयोजित इस केरियर काउंसलिंग संवाद में डॉ डीपी शर्मा ने संबोधित करते हुए कहा कि युवाओं एवं विद्यार्थियों को अब जनरलाइजेशन से परे स्पेशलाइजेशन पर ध्यान देने की जरूरत है । उन्होंने आगे कहा कि दुनिया में सभी प्रकार के क्षेत्र एक दूसरे में कन्वर्ज हो रहे हैं और यही कन्वर्जेंस नए क्षेत्रों, रोजगार के अवसरों एवं स्किल आधारित तकनीकी विधाओं‌ को नए रूप में जन्म दे रहे हैं। इन हालातों में यदि स्पेशलाइजेशन पर ध्यान नहीं दिया तो हम पिछड़ जाएंगे। उन्होंने अपने 53 देशों के भ्रमणशील अनुभव एवम विश्लेषण के आधार पर कहा कि आज छात्रों युवाओं का रुझान आईएएस एवं आईपीएस बनने के प्रति अधिक होता है और इसका आधार एक मात्र दादागिरी होता है। मगर इसके विपरीत विदेशों में युवाओं का रुझान प्रोफेशनल बनने के प्रति होता है न कि ऐसी सेवाओं के प्रति। आज हमारे देश को आवश्यकता है कि आईएएस एवं आईपीएस सेवाओं के लोग प्रोफेशनल बनकर प्रोफेशनल की तरह काम करें और प्रोफेशनल सेवाओं के लोग आईएएस एवं आईपीएस बनें तभी देश को नई दिशा एवं दशा प्रदान की जा सकती है।


उन्होंने राजकीय सेवाओं के लोगों की दादागिरी एवं राजनीतिज्ञों को भी कटघरे में खड़े करते हुए कहा कि सरकारी सेवकों एवं सरकार को प्रोफेशनल तरीके से व्यवहार करना चाहिए तभी देश आगे बढ़ेगा एवं भूमंडलीकृत दुनिया के साथ कदम से कदम मिला पाएगा।
प्रोग्राम के दौरान सभी पैनलिस्ट ने रोजगार के अवसर के बारे में विस्तृत जानकारी दी l


सभी ने कहा कि हेल्थ केयर, मेडिकल ,एग्रीकल्चर, इंजीनियरिंग ,पावर सेक्टर एवं अक्षय ऊर्जा, रोबोटिक्स एवं आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस इत्यादि मे रोजगार के बहुत अवसर हैं  l


बड़ी संख्या में जाने-माने स्कूलों एवं कॉलेजों के छात्रों एवं अध्यापकों ने इस ऑनलाइन प्रोग्राम मैं भाग लिया l
क्रैडेंट टीवी के निदेशक सुनील नरनोलिया ने प्रारंभ में मॉडरेटर पीएम भारद्वाज एवं सभी पैनलिस्ट का स्वागत किया

Comments

CAPTCHA code

Users Comment