Close X
Sunday, October 25th, 2020

यमुना एक्सप्रेस-वे में 1000 एकड़ में आधुनिक तकनीक से युक्त फिल्म सिटी का होगा निर्माण

आई एन वी सी न्यूज़
लखनऊ ,

उत्तर प्रदेश के अपर मुख्य सचिव सूचना एवं गृह श्री अवनीश कुमार अवस्थी ने आज यहां लोक भवन में प्रेस प्रतिनिधियों को सम्बोधित करते हुए बताया कि मुख्यमंत्री जी ने कोविड-19 के टेस्टिंग कार्य में और तेजी लाने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने कहा कि कोविड-19 के संक्रमण को नियंत्रित करने में टेस्टिंग की महत्वपूर्ण भूमिका है। इसलिए मेडिकल टेस्टिंग के कार्य को पूरी क्षमता से संचालित किया जाए। उन्होंने जनपद लखनऊ और कानपुर नगर में विशेष ध्यान देने के निर्देश देते हुए कहा कि इन जिलों में काॅन्टैक्ट टेªेसिंग में वृद्धि की जाए। इसके लिए आवश्यकतानुसार अतिरिक्त टीमें लगाई जाएं। उन्होंने कहा कि जनपद लखनऊ में के0जी0एम0यू0, एस0जी0पी0जी0आई0 तथा आर0एम0एल0आई0एम0एस0 जैसे उच्च स्तरीय चिकित्सा संस्थान हैं। इसको और मजबूत करते हुए बेडों की संख्या बढ़ाने के निर्देश दिये है। इसी प्रकार कानपुर में भी मेडिकल काॅलेज सहित अन्य चिकित्सालय उपलब्ध हैं। इन संस्थानों की क्षमताओं का पूरा उपयोग करते हुए दोनों जिलों में कोविड-19 के संक्रमण को नियंत्रित करते हुए रिकवरी दर को बेहतर किया जाए। उन्होंने बताया कि मुख्यमंत्री जी ने कानपुर में भी मेडिकल काॅलेज के साथ अन्य अस्पतालों को भी मजबूत करने का निर्देश दिया है। जिससे ये संस्थान अपनी क्षमता को और अधिक मजबूत करे। उन्होंने कहा है कि एस0जी0पी0जी0आई0 तथा के0जी0एम0यू0 में जनरल ओ0पी0डी0 सेवा प्रारम्भ की जाए। आर0एम0एल0आई0एम0एस0, गोमती नगर लखनऊ को एक डेडिकेटेड कोविड चिकित्सा संस्थान के रूप में संचालित किया जाए।

श्री अवस्थी ने बताया कि मुख्यमंत्री जी ने प्रत्येक जनपद में इंटीग्रेटेड कमाण्ड एण्ड कन्ट्रोल सेन्टर को पूरी सक्रियता से कार्यशील रखने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने कहा कि एम्बुलेंस सेवाओं को सुचारु ढंग से संचालित किया जाए। कोविड चिकित्सालयों की व्यवस्थाओं को चुस्त-दुरुस्त बनाए रखते हुए यह सुनिश्चित किया जाए कि वरिष्ठ चिकित्सक एवं नर्सिंग स्टाफ नियमित राउण्ड लें। पैरामेडिक्स द्वारा रोगियों की प्रभावी माॅनिटरिंग की जाए। उन्होंने बताया कि मुख्यमंत्री जी ने कहा कि चिकित्सकों द्वारा लक्षण के आधार पर मरीजों की गहनता से जांच की जाए। प्रारम्भिक लक्षणों वाले मरीजों पर पूरा ध्यान दिया जाए। इससे रोगियों को शीघ्र स्वस्थ करने में मदद मिलेगी। उन्होंने डोर-टू-डोर सर्वे तथा सर्विलांस कार्य को प्रभावी ढंग से संचालित करने के निर्देश भी दिए।

श्री अवस्थी ने बताया कि मुख्यमंत्री जी ने कहा है कि कोविड-19 के संक्रमण की चेन को तोड़ने के लिए सभी प्रयास जारी रखे जाएं। कोविड-19 से बचाव और सुरक्षा के बारे में जागरूकता अभियान पूरी सक्रियता से संचालित किया जाए। इसके लिए विभिन्न प्रचार माध्यमों के साथ-साथ पब्लिक एडेªस सिस्टम का प्रभावी उपयोग किया जाए। प्रमुख चैराहों एवं बाजार आदि में पब्लिक एड्रेस सिस्टम के द्वारा जनता को कोविड-19 तथा सड़क सुरक्षा के सम्बन्ध में जागरूक किए जाने की कार्यवाही जारी रखी जाए। उन्होंने बताया कि मुख्यमंत्री जी ने राजस्व संग्रह में वृद्धि के लिए सभी प्रयासों को प्रभावी ढंग से जारी रखने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि वाणिज्य कर विभाग के अधिकारियों के साथ वर्चुअल मीटिंग के माध्यम से जी0एस0टी0 संग्रह कार्य की समीक्षा की जाए। बैठक में मुख्यमंत्री जी को यह अवगत भी कराया गया कि राज्य स्तरीय बैंकर्स समिति की बैठक में आत्मनिर्भर भारत पैकेज एवं किसान क्रेडिट कार्ड के सम्बन्ध में सकारात्मक विचार-विमर्श किया गया।

श्री अवस्थी ने बताया कि आज मुख्यमंत्री जी ने प्रदेश में फिल्म सिटी की स्थापना के सम्बन्ध में दो घंटे तक महत्वपूर्ण बैठक की, जिसमें फिल्म उद्योग से जुड़े निर्माता, निर्देशक, गीतकार, गायक, प्रोड्यूसर एवं अन्य कलाकार शामिल हुए, जिसमें मुख्यमंत्री जी ने फिल्म सिटी की स्थापना केे सम्बन्ध में लोगों को सुझाव दिये एवं लिये। उन्होंने कहा कि कुछ वर्चुअल मैकेनिज्म के माध्यम से भी मुख्यमंत्री जी से जुड़े। उन्होंने बताया कि मुख्यमंत्री जी ने यमुना एक्सप्रेस-वे में 1000 एकड़ से अधिक भूमि देने के निर्देश दिये हैं। उन्होंने बताया कि मुख्यमंत्री जी ने कहा है कि हम बहुत शीघ्र ही यमुना एक्सप्रेस वे पर आधुनिक तकनीक से युक्त फिल्म सिटी का निर्माण करेगें। यह एक मार्डन इन्फ्रास्ट्रक्चर होगा।

श्री अवस्थी ने बताया कि मुख्यमंत्री जी ने उत्तर प्रदेश की संस्कृति को और आगे बढ़ाने का निर्देश दिया है। इस स्थान की खास बात यह है कि दिल्ली एन0सी0आर0 के पास होते हुए यह श्री कृष्ण और मथुरा से जुड़ा हुआ है जो देश एवं विदेश को आकर्षित करता है। उन्होंने बताया कि फिल्म इंटस्ट्री से जुडें आमन्त्रित सदस्यों ने मा0 मुख्यमंत्री जी के इस प्रस्ताव की सराहना की।

श्री अवस्थी ने बताया कि प्रदेश में कानून व्यवस्था को मजबूत करने के लिए पूरे प्रदेश में गैगस्टर के खिलाफ अभियान चलाया जा रहा है। उन्होंने बताया कि पूरे प्रदेश में अब तक गैंगस्टर एक्ट के तहत 3112 गैंग चार्ट बनाया गया है, जिनमें से 3110 गैंगचार्ट को जिलाधिकारियों द्वारा अनुमोदित कर दिया गया है। उन्होंने बताया कि न्यायालयों मंे भी गैंगस्टर चार्ट को भेज दिया गया है तथा वहां पर प्रभावी कार्यवाही की जा रही है। उन्होंने बताया कि प्रत्येक सप्ताह मुख्यमंत्री जी के स्तर पर भी समीक्षा की जायेगी। गैंगस्टर अधिनियम के अन्तर्गत 262 करोड़ रूपये की सम्पत्ति जब्त की गयी जबकि पिछले एक सप्ताह में 166 करोड़ रूपये की सम्पत्ति जब्त की गयी है। उन्होंने बताया कि परिवहन विभाग द्वारा दी गयी जानकारी के अनुसार कल एक दिन में 7292 बसों के माध्यम से 11 लाख 38 हजार से अधिक लोगों ने यात्रा की। उन्होनंे बताया कि 192 ट्रेनों के माध्यम से 70,945 लोगों ने यात्रा की तथा हवाई जहाज के माध्यम से 1127 लोगो ंने कल यात्रा की है।

अपर मुख्य सचिव चिकित्सा एवं स्वास्थ्य श्री अमित मोहन प्रसाद ने बताया कि प्रदेश में कोविड-19 टेस्टिंग का कार्य तेजी से किया जा रहा है। प्रदेश में कल एक दिन में अब तक का सर्वाधिक कुल 1,50,085 सैम्पल की जांच की गयी। प्रदेश में अब तक कुल 88,26,726 सैम्पल की जांच की गयी है। उन्होंने बताया कि प्रदेश में विगत 24 घंटंे में कोरोना के संक्रमित 5722 नये मामले आये है। प्रदेश में अब तक कुल 2,96,183 लोग पूर्णतया उपचारित होकर डिस्चार्ज किये गये। प्रदेश में 24 घंटे में 6589 लोग उपचारित हुए। प्रदेश में रिकवरी का प्रतिशत अब बढ़कर 81.25 है। उन्होंने बताया कि प्रदेश में 63,148 कोरोना के एक्टिव मामले है। उन्होंने बताया कि होम आइसोलेशन में 32,313 लोग हैं। अब तक 1,89,673 होम आइसोलेशन में रह चुके हैं जिसमें से 1,57,360 लोग हो आइसोलेशन की अवधि पूर्ण कर स्वस्थ्य हो चुके है।

श्री प्रसाद ने बताया कि प्रदेश में पूल टेस्ट के अन्तर्गत कल 3836 पूल की जांच की गयी, जिसमें 3552 पूल 5-5 सैम्पल के तथा 284 पूल 10-10 सैम्पल की जांच की गयी। उन्होंने बताया कि प्रदेश में सर्विलांस टीम के माध्यम से 1,15,966 क्षेत्रों में 3,72,719 सर्विलांस टीमों के माध्यम से 2,45,19,803 घरों के 12,18,04,691 जनसंख्या का सर्वेक्षण किया गया है। निजी चिकित्सालयों में 3864 लोग तथा सेमी पेड एल-1 प्लस में 219 लोग ईलाज करा रहे है। उन्होंने बताया कि नाॅन कोविड केयर के अन्तर्गत पिछले वर्ष 01-21 सितम्बर तक सरकारी चिकित्सालयों में मेजर आपरेशन 14,826 हुए जबकि इस वर्ष इसी अवधि में 10,642 मेजर आपरेशन हुये है। उन्होंने बताया कि 20 सितम्बर को प्रदेश के सरकारी अस्पतालों मंे 7,039 बच्चों का जन्म हुआ है। जिनमें से 6,871 नाॅर्मल डिलीवरी, 168 सिजेरियन डिलीवरी हुयी है।

Comments

CAPTCHA code

Users Comment