Close X
Friday, October 29th, 2021

5 ट्रिलियन इकॉनमी का सपना कहां गया?

उत्तर प्रदेश में अगले साल होने वाले विधानसभा चुनाव से पहले समाजवादी पार्टी के प्रमुख अखिलेश यादव एक्टिव हैं. राजधानी लखनऊ में अखिलेश ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर पार्टी कार्यकर्ताओं को ईवीएम (EVM) से सावधान रहने की नसीहत दी. उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव को सबसे बड़ा चुनाव बताते हुए अखिलेश यादव ने कहा कि ईवीएम से सावधान रहें. इसके अलावा, जिले के डीएम को लेकर भी सावधान रहें और चुनाव की पूरी तैयारी करें. सपा अध्यक्ष ने आरोप लगाया कि ईवीएम और डीएम बिहार चुनाव में ईमानदार नहीं थे, जिसका जवाब उन्हें बंगाल चुनाव के नतीजों में मिल गया.

समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष ने कार्यकर्ताओं से कहा कि बूथों पर बीजेपी की बुरी नजर है. यह लोकतंत्र बचाने के लिए सपा कार्यकर्ताओं की परीक्षा का समय है. उन्होंने अपने कार्यकर्ताओं से बिना समय बर्बाद किए अपने-अपने क्षेत्रों में खुद को समर्पित करने को कहा. अखिलेश यादव ने कहा कि इस कार्य में कोई झिझक न हो और यह तय करें कि बूथ पर किसी भी प्रकार की कोई गड़बड़ी न करने पाए.

पार्टी कार्यकर्ताओं से अखिलेश यादव ने कहा कि वह यह न भूलें कि ऐसा अवसर फिर दोबारा नहीं आने वाला है. एक दिन पहले ही अखिलेश यादव ने यूपी में हुए जिला पंचायत के चुनावों में गुंडागर्दी होने का आरोप लगाया था. अखिलेश ने कहा कि सरकार सिर्फ नाम बदलने का सिर्फ काम कर रही है. उन्होंने पूछा- 5 ट्रिलियन इकोनॉमी का सपना कहां गया? मुख्यमंत्री ने 1 ट्रिलियन इकॉनमी के लक्ष्य की बात कही थी, कहां है? लखनऊ में बड़े-बड़े कागजों पर दस्तखत हुआ था. बड़े-बड़े एमओयू साइन हुए थे.

कोरोना काल में काम आई समाजवादियों की एम्बुलेंस
पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने कहा कि कोरोना में लोगों की कितनी जान चली गयी? अस्पतालों में ऑक्सीजन नहीं था, बेड नहीं था. कोरोना काल में समाजवादियों की चलाई गई एम्बुलेंस काम आयी. ऐसा लॉक डाउन किया कि गरीब की जान चली गयी. सरकार ने सही समय पर लॉकडाउन नहीं किया. गंगा मां में लाशें बह रही थीं. PLC

Comments

CAPTCHA code

Users Comment