पूर्व केंद्रीय मंत्री और राजस्थान प्रदेश कांग्रेस कमेटी के पूर्व अध्यक्ष सचिन पायलट ने कहा है कि लोग महंगाई और बेरोजगारी से पीड़ित हैं और इनसे निजात चाहते हैं लेकिन भाजपा इस पर चुप है। उत्तर प्रदेश के लोग बदलाव चाहते हैं। अहंकार की राजनीति बहुत लंबी नहीं चलती है। उत्तर प्रदेश सरकार और उसकी पुलिस कानून के दायरे से बाहर काम करने के आदी हो चुके हैं। उप्र में तख्तापलट होगा। ध्रुवीकरण की राजनीति की भी एक सीमा होती है। हमने पश्चिम बंगाल में इसे देखा है। कांग्रेस पूरी ताकत से विधानसभा चुनाव लड़ेगी। आने वाला समय कांग्रेस का है।
सोमवार को यहां आयोजित पत्रकार वार्ता में कांग्रेस नेता सचिन पायलट ने कहा कि भारत के पूर्व नियंत्रक महालेखा परीक्षक विनोद राय ने कोर्ट में हलफनामा देकर कहा कि संजय निरुपम ने उनसे कभी नहीं कहा कि वह 2जी स्पेक्ट्रम घोटाले मामले में तत्कालीन प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह का नाम शामिल न करें। पायलट ने कहा कि इससे यह साफ हो गया है कि 2जी स्पेक्ट्रम घोटाले के माध्यम से कांग्रेस की तत्कालीन सरकार और तत्कालीन प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह के खिलाफ सुनियोजित तरीके से भ्रमजाल फैलाया गया था। उन्होंने कहा कि कोर्ट पहले ही इस घोटाले को खारिज कर चुकी है। यह कहते हुए कि सरकार आरोप सिद्ध नहीं कर पाई। विनोद राय के झूठ की बुनियाद पर मनमोहन सिंह की अगुआई वाली कांग्रेस सरकार के खिलाफ राजनीतिक इमारत खड़ी की गई। इस झूठ के लिए विनोद राय को देश की जनता से माफी मांगनी चाहिए। PLC

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here