पूर्व मुख्यमंत्री उमा भारती ने कल शराब दुकान के बाहर चौपाल लगाकर लोगों को शराब छोडने की सलाह दी और गंगौत्री का जल पिलाया। सुश्री भारती कल मिसरोद क्षेत्र में आशिमा माल के पास स्थित तीन मंजिला इमारत में स्थित शराब दुकान और आहाते पर पहुंची।

यहां उन्होंने कुर्सी पर बैठकर चौपाल लगाई। मौके पर मौजूद मिसरोद पुलिस को शराब पीने वालों के खिलाफ कार्रवाई करने के लिए भी कहा है। उन्होंने लोगों को आश्वत किया है इस शराब दुकान को यहां से हटाया जाएगा। ताकि यहां के माहौल भयमुक्त हो। हमारा शराब के खिलाफ अभियान जारी रहेगा। गंगा दहशरे पर गंगौत्री का जल पिलाया और लोगों को शराब छोड़ने की समझाइश दी। बता दें कि उमा भारती मंगलवार रात को भी इसी दुकान पर पहुंची थी और उन्होंने दोबारा आने की बात कही थी। इसके अलावा ट्वीट कर भी प्रदेश में शराब से बढ़ रहे अपराधों पर चिंता जताई थी।

आशिमा माल के पास खुली शराब दुकान का यहां की कालोनी में रहने वाले रहवासियों ने शुरू से ही विरोध किया था। गंगा दशहरे पर गुरुवार रात शराब दुकान के सामने उमा भारती ने चौपाल लगाई। यहां उनके समर्थक एवं रहवासी भी मौजूद थे। उन्होंने कहा कि यहां एक छोटा सा बच्चा अपने भाई को तलाशने आया था। शराब पीकर वह घर कैसे जाएगा।

शराब पीकर वाहन चलाना अपराध है पुलिस कार्रवाई क्यों नहीं करती है। शराब पीने के बाद बढ़ रहे हादसे, दुर्घटनाएं, महिला अपराध, समाजिक अपराध को रोकना मुख्य उद्देश्य है। वह अब उन अस्पतालों में जाएंगी जहां पर शराब की वजह से कई बीमारियों से पीड़ित हुए मरीज भर्ती हैं।

इसके साथ ही उन्होंने कहा कि आशिमा माल एवं इसके आसपास का माहौल अच्छा है यहां से इस शराब दुकान को हटवाया जाएगा। यहां से महिलाएं, युवितयां डर के कारण निकल नहीं पाती हैं। इसी बीच उन्होंने गंगौत्री का जल मंगाया और पानी में मिलाने के बाद सभी को पिलाया। साथ ही शराब पीने वालों को सलाह दी कि वह गंगा जल पिएं। PLC

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here