Close X
Sunday, November 28th, 2021

तब तक 20000 रुपये महीना दिया जाए

मध्य प्रदेश में नगरीय निकाय के चुनावों में उतरने की घोषणा कर चुकी आम आदमी पार्टी (आप) ने चुनावी तैयारियॉं शुरू कर दी है। इसकी झलक गुरूवार को तब देखने मिली जब 'आप' के पदाध‍िकारी और कार्यकर्ताओं ने तख्ती बैनर लेकर नगर निगम के मस्टर श्रमिकों और विन‍ियमित कर्मचारियों के नियमितीकरण के मुद्दें को लेकर नगर निगम मुख्यालय पर प्रदर्शन किया। उन्होने निगम कमिश्नर प्रतिभा पाल को ज्ञापन देकर कहा जब तक नियमितीकरण की प्रक्रिया पूर्ण न हो, तब तक इन अल्प वेतन भोगी कर्मचारियों का मानदेय बढ़ाकर 20 हजार किया जाये।
गुरूवार को अचानक आम आदमी पार्टी के निगम परिसर पहुंचने पर सबसे ज्यादा आश्चर्य निगम के अध‍िकारी-कर्मचारियों के साथ ही तमाम कर्मचारी यूनियनों के पदाध‍िकारियों को भी हुआ। हालांकि पिछले लम्बे समय से स्थानीय कर्मचारी यूनियनों के साथ ही प्रमुख विपक्षी दल कांग्रेस भी दिहाड़ी मस्टर कर्मचारियों के इस मुद्दें पर खुलकर प्रदर्शन करने से बचती रही है। आम आदमी पार्टी द्वारा खुलकर मस्टरकर्मियों के नियमितीकरण का मुद्दा उठाकर यूनियनों के नेताओं और कर्मचारियों को चुनाव में समर्थन देने के मामले में विचार करने पर मजबूर कर दिया है।
:: अल्प वेतन में कैसे की जा सकती है दक्षता और ईमानदारी की उम्मीद ::
बहरहाल, गुरूवार को नगर निगम में प्रदर्शन और नारेबाजी के साथ आप कार्यकर्ता निगम कमिश्नर प्रतिभा पाल से मिले। कमिश्नर को ज्ञापन सौंपते हुए आप के पदाधिकारियों ने कहा कि मस्टरकर्मियों और विनियमित कर्मचारियों का नियमितीकरण अब वक्त के लिहाज से भी जरुरी हो गया है। आप के जिला सचिव मनोज यादव ने कहा कि नगर निगम में हजारों कर्मचारियों को मस्टरकर्मी बनाकर रखा गया है। इन मस्टरकर्मियों को काफी कम मानदेय दिया जाता है। मानदेय की राशि शासन के ही न्यूनतम मानदेय के प्रविधानों का उल्लंघन है। मानवीय आधार पर देखा जाए तो इन्हें इतना वेतन भी नहीं मिलता कि ये घर चला सके। ऐसे में दक्षता और ईमानदारी से काम की उम्मीद कैसे की जा सकती है। ऐसे में नियमितीकरण ही हल है। इससे कर्मचारियों के बीच भेदभाव भी समाप्त होगा। पार्टी ने मांग रखी कि जब तक नियमितीकरण की प्रक्रिया पूर्ण न हो, तब तक इनका मानदेय बढ़ाकर 20000 रुपये प्रतिमाह किया जाए।
प्रदर्शन के दौरान संदीप शर्मा, सीपी मित्तल, सईद अहमद, रमेश मंगलानी, संतोष व्यास, सीमा यादव, दीपाली सिंह गौड़, प्रमिला चौकसे, सुमित चावला, जितेंद्र चौहान, संजय शुक्ला, गंगा राम, पारस जैन, नर्मदा प्रसाद, मुकेश रॉय, चंचल त्यागी, नौशाद मंसूरी, नदीम खान, सुधीर सिंह गौड़, राजा श्रीवास्तव, विवेक सक्सेना, मकसूद चौहान, पी एल वर्मा, सुल्तान खान, संदीप सुनेरिया आदि शामिल थे। plc

Comments

CAPTCHA code

Users Comment