Close X
Saturday, September 25th, 2021

वैक्सीनेशन के अलावा कोरोना से बचने का कोई उपाय नहीं

जेनेवा। विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्युएचओ) ने कोरोना वायरस के नए वेरिएंट्स और धीमे टीकाकरण को लेकर चेताया है। शुक्रवार को संगठन ने कोरोना के डेल्टा स्वरूप को लेकर भी चेतावनी दी। डब्ल्युएचओ के आपात निदेशक माइकल रेयान ने कहा है कि वैक्सिनेशन के अलावा कोरोना से बचने का कोई जादुई उपाय नहीं है। डब्ल्युएचओ ने कहा कि डेल्टा वेरिएंट दुनिया के 132 देशों और हिस्सों में फैल चुका है। पहली बार इस वेरिएंट की पुष्टि भारत में हुई थी। रेयान ने कहा, डेल्टा एक चेतावनी है। यह वायरस विकसित हो रहा है, लेकिन यह सतर्क होने का समय है कि इससे पहले कि खतरनाक वेरिएंट सामने आएं, हमें कुछ करना होगा। संगठन के प्रमुख टेडरोस अधानोम घेब्रेयसस ने कहा, अब तक चार वेरिएंट्स ऑफ कन्सर्न सामने आ चुके हैं और जब तक ये वायरस फैलता रहेगा और वेरिएंट्स आएंगे।
  उन्होंने कहा कि एक औसत के हिसाब से बीते चार हफ्तों में डब्ल्युएचओ के 6 क्षेत्रों में से पांच में संक्रमण 80 फीसदी तक बढ़ गया है। इस दौरान रेयान ने कहा कि डेल्टा ने कई देशों को प्रभावित किया है, लेकिन वायरस के प्रसार को रोकने के उपाय काम आ रहे हैं। इनमें फिजिकल डिस्टेंसिंग, मास्क पहनना, हाथों की सफाई और खराब वेंटिलेशन और व्यस्त जगहों पर ज्यादा समय बिताने से बचना शामिल है। उन्होंने कहा, ये डेल्टा स्ट्रेन को रोक रहे हैं। खासतौर से तब जब आप इसमें टीकाकरण को और मिला लें। संगठन चाहता है कि सभी देश सितंबर के अंत तक कम से कम 10 फीसदी आबादी का टीकाकरण कर लें। वहीं, इस साल के अंत तक यह आंकड़ा 40 फीसदी और 2022 के मध्य तक 70 प्रतिशत हो। डब्ल्युएचओ प्रमुख ने कहा, हम इन लक्ष्य को प्राप्त करने से अभी बहुत दूर हैं। उन्होंने कहा कि डब्ल्युएचओ के 194 सदस्य देशों में से आधे से ज्यादा ने अपनी 10 फीसदी आबादी का पूर्ण टीकाकरण कर लिया है। एक-चौथाई से कम सदस्यों ने 40 फीसदी और केवल तीन देशों ने 70 फीसदी टीकाकरण किया है। संगठन ने कहा कि बुरुंडी, एरीट्रिया और उत्तर कोरिया ही केवल ऐसे देश हैं, जहां कोविड-19 टीकाकरण शुरू होना बाकी है। टेडरोस ने कहा कि संक्रमण की मौजूदा दर के हिसाब से अगले दो हफ्तों में संक्रमण 20 करोड़ के आंकड़े को पार कर जाएगा। जबकि, असल आंकड़े काफी ज्यादा होंगे। PLC.

Comments

CAPTCHA code

Users Comment