जब कर्नाटक मुख्यमंत्री से पूछा गया कि क्या उनके मंत्रिमंडल के बहुप्रतीक्षित विस्तार पर चर्चा की जाएगी, मुख्यमंत्री ने कहा, ‘‘वे सरकारी कार्यक्रमों के लिए आ रहे हैं, बेंगलुरू में मंत्रिमंडल को लेकर चर्चा नहीं होगी। जब भी नेतृत्व मुझे बुलाएगा, मैं दिल्ली जाकर इस पर चर्चा करूंगा। मुख्यमंत्री पर देश के पांच राज्यों में विधानसभा चुनाव के बाद मंत्रिमंडल का जल्द विस्तार करने या इसमें फेरबदल करने का दबाव बढ़ रहा है। कुछ विधायक अगले साल होने वाले विधानसभा चुनाव से पहले नए चेहरों के लिए जगह बनाने की खातिर कर्नाटक मंत्रिमंडल में जल्द ही गुजरात की तरह फेरबदल करने की वकालत कर रहे हैं।

कर्नाटक के मुख्यमंत्री बसवराज बोम्मई ने बताया कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह अप्रैल की शुरुआत में कर्नाटक का आधिकारिक दौरा करने वाले हैं। उन्होंने स्पष्ट किया कि मंत्रिमंडल में बहुप्रतीक्षित फेरबदल पर इस मौके कोई चर्चा नहीं होगी। वित्त मंत्रालय का प्रभार संभाल रहे मुख्यमंत्री ने कहा कि बजट क्रियान्वयन पर नजर रखने के लिए मुख्य सचिव की अध्यक्षता वाली समिति का राज्य में पहली बार गठन किया गया है।

बोम्मई ने कहा, सहकारिता क्षेत्र में सुधार पर काम कर रहे केंद्रीय गृह एवं सहकारिता मंत्री अमित शाह ‘क्षीर अभिवृद्धि बैंक से जुड़ी बड़ी बैठक में शामिल होने के लिए एक अप्रैल को राज्य का दौरा करने वाले हैं। हम ‘क्षीर अभिवृद्धि बैंक’ शुरू करने की योजना बना रहे हैं, जिसका लक्ष्य डेयरी क्षेत्र को वित्तीय बढ़ावा देना है, ताकि किसानों की आय में बढ़ोतरी हो सके और उन्हें वित्तीय सहयोग मिल सके। बोम्मई ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के पांच अप्रैल को राज्य का दौरे करने की संभावना है, लेकिन यह अभी केवल संभावित तारीख है,इस पूरी तरह अंतिम रूप नहीं दिया गया है। PLC

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here