Close X
Sunday, January 24th, 2021

शैक्षणिक संस्थानों एवं उद्योगों के बीच की खाई को पाटना होगा

आई एन वी सी न्यूज़
जयपुर ,

भारद्वाज फाउंडेशन जयपुर का इंडस्ट्रीज एवं एजुकेशनल इंस्टीट्यूशन का इंटरफेसिंग प्रोग्राम जो की सीरीज का 30 वां था राजस्थान चेंबर ऑफ कॉमर्स एवं इंडस्ट्री  व  जयपुर नेशनल यूनिवर्सिटी के संयुक्त तत्वाधान में 20 नवंबर 2020 को दोपहर 12:30 से 2:00 बजे तक वेबीनार के माध्यम से आयोजित किया गया |

 भारद्वाज फाउंडेशन जयपुर के संस्थापक अध्यक्ष पीएम भारद्वाज जो कि भारत सरकार की चार सार्वजनिक क्षेत्र की संस्थानों के  एमडी / सीएमडी भी रह चुके हैं एवं राष्ट्रीय स्तर के जाने-माने मोटिवेशनल व मैनेजमेंट गुरु है ने  इस प्रोग्राम में मॉडरेटर की हैसियत से बोलते हुए बताया कि भारद्वाज फाउंडेशन जयपुर पहले भी इंडस्ट्रीज एवं एजुकेशनल इंस्टीट्यूशन  इंटरफेसिंग  के 29 प्रोग्राम राष्ट्रीय स्तर पर  आयोजित कर चुका है और भारतवर्ष को उद्योगों व शैक्षणिक संस्थाओं के मेल मिलाप के बगैर सुपर पावर नहीं बनाया जा सकता | पीएम भारद्वाज ने कहा कि शैक्षणिक संस्थानों एवं उद्योगों के बीच की खाई को पाटना चाहिए |

 राष्ट्रीय स्तर के मोटिवेशनल गुरु पीएम भारद्वाज ने कहा कि जब तक शैक्षणिक संस्थाएं एवं उद्योग एक साथ एक दूसरे की आवश्यकता के अनुसार काम नहीं करेंगे तब तक देश सही तरह से आगे नहीं बढ़ पाएगा |
 उन्होंने पुरजोर शब्दों से उद्योग  व शैक्षणिक संस्थाओं की इंटरफेसिंग के महत्व के बारे में बताया |
 
प्रोग्राम के शुरू में जयपुर यूनिवर्सिटी के चांसलर संदीप बक्शी जी ने सभी अतिथियों का स्वागत किया |

राजस्थान चेंबर ऑफ कॉमर्स एवं इंडस्ट्री के मानद सेक्रेटरी जनरल डॉक्टर केएल जैन ने अपने अध्यक्षीय संबोधन के दौरान कहा कि हमारे देश में इस समय इंडस्ट्री एवं एजुकेशनल इंस्टीट्यूशंस में सही तरह का मेल मिलाप नहीं है उन्होंने कहा कि दोनों को एक दूसरे की आवश्यकताओं को समझ कर काम करना चाहिए |  उन्होंने कहा कि इस दिशा में भारद्वाज फाउंडेशन बड़ा काम कर रही है एवं राजस्थान चेंबर ऑफ कॉमर्स एंड इंडस्ट्री का पूरा सहयोग उनके साथ है वह पिछले कुछ प्रोग्राम राजस्थान चेंबर ऑफ कॉमर्स एंड इंडस्ट्री के साथ संयुक्त तत्वाधान में किए गए हैं|

जयपुर नेशनल यूनिवर्सिटी के कुलपति प्रोफेसर एच एन वर्मा ने जयपुर नेशनल यूनिवर्सिटी के विभिन्न प्रोग्रामों के बारे में बतलाया |
कुलपति प्रोफेसर एच एन वर्मा ने स्किल डेवलपमेंट, वैल्यू बेस्ड  एजुकेशन, प्रैक्टिकल ओरिएंटेड एजुकेशन किस तरह जयपुर नेशनल यूनिवर्सिटी में दी जा रही है इस बारे में भी बताया |
कुलपति प्रोफेसर एच एन वर्मा ने जयपुर नेशनल यूनिवर्सिटी के हॉस्पिटल का भी जिक्र किया जो कि कोविड-19 के दौरान भी बहुत बड़ा एवं अच्छा काम कर रहा है |
दैनिक भास्कर के एसोसिएट वाइस प्रेसिडेंट राजीव द्विवेदी जी ने भारद्वाज फाउंडेशन जयपुर द्वारा राष्ट्रीय स्तर के प्रोग्राम इंडस्ट्री व एजुकेशनल इंस्टीट्यूशंस के इंटरफेसिंग के बारे में जो किए जा रहे हैं उनकी भूरी भूरी प्रशंसा की एवं कहा कि यह आज के समय की आवश्यकता है | राजीव द्विवेदी जी ने कहा जब तक यूनिवर्सिटी व एजुकेशनल इंस्टीट्यूशंस उद्योगों की आवश्यकता अनुसार स्किल एजुकेशन छात्रों को नहीं प्रदान करेंगे तब तक रोजगार की समस्या बनी रहेगी |

आईएलओ (संयुक्त राष्ट्र) में आईटी के अंतर्राष्ट्रीय प्रोफेसर और सलाहकार ने सुझाव दिया कि एक ही तरह के संचालन वाले उद्योगों को एक संघटित छतरी के नीचे क्लस्टर किए जाने की आवश्यकता है और इसी तरह शिक्षा के क्षेत्र में उद्योग विशिष्ट शाखाओं के पाठ्यक्रम चलाने वाले विश्वविद्यालयों को भी एक ही संघटित छत्र के नीचे क्लस्टर करने की आवश्यकता है। इन उद्योग और अकादमिक संघों को अगली पीढ़ी के उद्योग और शिक्षा के कन्वर्ज्ड कोलैबोरेशन के वास्तविक संयुक्त उद्यम के लिए सहयोग करने की आवश्यकता है। तभी शिक्षा एवं उद्योग समानांतर प्रगति करते हुए उच्चतम मुकाम पर पहुंच पाएंगे।

 आईआईटी दिल्ली के पूर्व निदेशक जोकि कई यूनिवर्सिटी के वाइस चांसलर भी रह चुके हैं  डॉक्टर डीपी कोठारी ने कहा कि उद्योगों के अनुभवी लोगों को यूनिवर्सिटी व शैक्षणिक संस्थाओं में काम करने का मौका देना चाहिए |
श्री भूपेंद्र तायल जोकि सफल उद्योगपति रह चुके हैं एवं आईआईटी खड़कपुर से 1975 बैच के बीटेक है एवं श्रीमद भगवत गीता के प्रोग्राम देश के उत्थान के लिए जगह-जगह आयोजित कर रहे हैं ने कहा कि श्रीमद भगवत गीता को स्कूल व कॉलेजों के पाठ्यक्रम में शामिल किया जाना चाहिए |
राष्ट्रीय स्तर के मोटिवेशनल गुरु पीएम भारद्वाज ने बतलाया कि भारद्वाज फाउंडेशन जयपुर ने देश में एक मुहिम इस बारे में चला रखी है की भगवत गीता को पाठ्यक्रम में शामिल किया जाना चाहिए क्योंकि इसके द्वारा मल्टी स्किलिंग का ज्ञान मिलता है |

वेबीनार के दौरान सीएमडी हिंदुस्तान व सांभर साल्ट कमोडोर कमलेश कुमार, पूर्व चेयरमैन हेवी वॉटर बोर्ड डॉ एन वर्मा, महाप्रबंधक आरइआइएल डॉक्टर पी एन शर्मा, यूकोरी राजस्थान के अध्यक्ष विनोद गुप्ता जी जो  की श्री कृष्णा रोलिंग मिल के भी निदेशक हैं, श्री पी सी सांगी एमडी थाईकौन , श्री राजेश शर्मा निदेशक आरसीएस वनस्पति, श्री एमएम शर्मा पूर्व महाप्रबंधक श्री सीमेंट , डॉ एम एल परिहार , श्री राजीव भार्गव निदेशक कैड सिस्टम व श्री राजीव दुबे , डॉक्टर अश्वनी शर्मा कुलपति सिंबोसिस पुणे, डॉक्टर सुधीर कलला, विपिन बहल, लघु उद्योग भारती के जनरल सेक्रेटरी महेंद्र खुराना व श्रीपीसी श्रीनिवास  ने भी भारद्वाज फाउंडेशन द्वारा किए जा रहे हैं इन प्रोग्रामों की प्रशंसा की एवं पूर्ण सहयोग का आश्वासन दिया और साथ में अपनी सुझाव भी दिए|
इस वेबीनार में बड़ी संख्या में उद्योगों व शैक्षणिक संस्थानों के प्रतिनिधियों ने  भाग लिया |

राष्ट्रीय स्तर के मोटिवेशनल गुरु व मैनेजमेंट गुरु एवं भारद्वाज फाउंडेशन के संस्थापक अध्यक्ष पीएम भारद्वाज ने बताया कि राष्ट्रीय निर्माण की इस एक्टिविटी में दैनिक भास्कर के साथ साथ समाचार जगत ,आधुनिक राजस्थान व नफा नुकसान एवं राजस्थान मीडिया टाइम्स का बहुत सहयोग मिल रहा है

Comments

CAPTCHA code

Users Comment