सीबीआई ने आरोपी के केन्या से आते ही उसे धर दबोचा। उसे अदालत के समक्ष पेश किया जाना है। सीबीआई ने कहा कि वह इस मामले में आरोपपत्र दाखिल कर चुकी है, इसी कारण वह आरोपी की हिरासत की मांग नहीं करेगी।

केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) ने रविवार को बताया कि दस साल पहले केनरा बैंक को करीब 21 करोड़ रुपये का चूना लगाकर फरार हुए आरोपी को केन्या से लौटने पर गिरफ्तार कर लिया गया है। सीबीआई के एक अधिकारी ने बताया कि केनरा बैंक, अहमदाबाद ने वर्ष 2012 में नोवा शिपिंग प्राइवेज लिमिटेड के निदेशक संजय आर गुप्ता और उसकी कंपनी के खिलाफ बैंक की जामनगर शाखा से 20.68 करोड़ रुपये की धोखाधड़ी करने का आरोप लगाते हुए मामला दर्ज कराया था।

वर्ष 2013 में सीबीआई ने इस संबंध में अहमदाबाद की विशेष अदालत के समक्ष आरोपपत्र दाखिल किया था। आरोपी तब से ही फरार चल रहा था। उसके खिलाफ लुकआउट सर्कुलर और रेड कॉर्नर नोटिस भी जारी किया गया था। PLC

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here