मंदिर निर्माण

सरलता, साहस, संयम, त्याग, वचनवद्धता, दीनबंधु राम नाम का सार है

सभी को खुले मन से स्वीकार करना चाहिए