अलोक कुमार का लेख

रेल बजट पर आलोक कुमार का व्यंग्य : सिर्फ 'उम्मीदों' से ही लबरेज लोकतन्त्र में रेल बजट से 'हमने' भी उम्मीदें लगा रखी हैं.....