Close X
Wednesday, September 23rd, 2020

नवम्बर, दिसम्बर व जनवरी में टीकाकरण का विशेष अभियान चलाया जायेगा

आई एन वी सी न्यूज़
लखनऊ ,
       उत्तर प्रदेश के अपर मुख्य सचिव सूचना एवं गृह श्री अवनीश कुमार अवस्थी ने आज यहां लोक भवन में प्रेस प्रतिनिधियों को सम्बोधित करते हुए बताया कि मुख्यमंत्री जी नेे कोविड-19 के उपचार की सभी आवश्यक दवाओं की बैकअप सहित पर्याप्त उपलब्धता सुनिश्चित करने के निर्देश दिये हैं। उन्होंने कहा है कि जिला चिकित्सालयों, मेडिकल काॅलेजों तथा चिकित्सा संस्थानों में औषधियों एवं आॅक्सीजन की सुचारु व्यवस्था बनायी रखी जाए। उन्होंने कोविड अस्पतालों की व्यवस्थाओं को चुस्त-दुरुस्त बनाये रखने के निर्देश दिये हैं। उन्होंने कहा है कि चिकित्सक एवं नर्सिंग स्टाफ, वाॅर्ड्स में नियमित राउण्ड लें। डाॅक्टरों तथा पैरामेडिक्स को प्रशिक्षित करने की प्रक्रिया लगातार जारी रहे। उन्होंने बताया कि कोरोना संक्रमित मरीजों का ईलाज गम्भीरता से लेते हुए किया जाए, इसमें किसी भी प्रकार की शिथिलता व लापरवाही नहीं बरती जानी चाहिए।

श्री अवस्थी ने बताया कि मुख्यमंत्री जी ने कोविड चिकित्सालयों में बेड्स की संख्या में वृद्धि करने के निर्देश दिये हैं। उन्होंने कहा है कि काॅन्टैक्ट ट्रेसिंग का कार्य पूरी तेजी से संचालित किया जाए। इसके लिए सर्विलान्स टीम की व्यवस्था को और मजबूत बनाया जाए। यह सुनिश्चित किया जाए कि रोगियों के लिए आॅक्सीजन निर्धारित दर पर उपलब्ध हो। इसकी कालाबाजारी करने वालों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाए। मुख्यमंत्री जी ने जनपद लखनऊ व कानपुर नगर में उपचार व्यवस्था को और सुदृढ़ किये जाने के निर्देश दिये हैं। उन्होंने कहा है कि अपर मुख्य सचिव स्वास्थ्य तथा अपर मुख्य सचिव ग्राम्य विकास एवं पंचायतीराज जनपद लखनऊ की चिकित्सा व्यवस्थाओं की समीक्षा करें। प्रमुख सचिव स्वास्थ्य जनपद कानपुर नगर की चिकित्सा व्यवस्थाओं की समीक्षा करें। उन्होंने कहा है कि कोविड संक्रमित रोगी को समय से अस्पताल में भर्ती कराते हुए इलाज प्रारम्भ किये जाने से अधिक से अधिक लोगों की जीवन रक्षा की जा सकती है। इसलिए कोविड-19 के उपचार की प्रभावी व्यवस्था को हर हाल मंे बनाए रखा जाए।

श्री अवस्थी ने बताया कि मुख्यमंत्री जी ने कोविड चिकित्सालय में भर्ती मरीजों की गहन माॅनीटरिंग करने के निर्देश दिये हैं। उन्होंने कहा है कि सफलतापूर्वक उपचारित किये गये रोगियों की इलाज विधि का बारीकी से अध्ययन किया जाए। इससे अन्य मरीजों का सफल इलाज करने में मदद मिलेगी। उन्होंने अपर मुख्य सचिव चिकित्सा शिक्षा को मेडिकल काॅलेज व चिकित्सा संस्थानों में तथा अपर मुख्य सचिव स्वास्थ्य को जिला चिकित्सालयों में इसकी समीक्षा कराने के निर्देश दिये हैं।  मुख्यमंत्री जी ने कोविड से सुरक्षा एवं बचाव के सम्बन्ध में लोगों को जागरूक करने की कार्यवाही को लगातार जारी रखने के निर्देश दिये। उन्होंने कहा है कि जब तक इस रोग की कोई कारगर दवा अथवा वैक्सीन विकसित नहीं हो जाती, तब तक बचाव ही सबसे अच्छा उपाय है। इसलिए कोविड-19 के सम्बन्ध में जागरूकता की कार्यवाही प्रभावी ढंग से संचालित की जाए। बैठक में मुख्यमंत्री जी को अवगत कराया गया कि पब्लिक एड्रेस सिस्टम के माध्यम से जनता को कोविड-19 से बचाव एवं सड़क सुरक्षा के सम्बन्ध में जागरूक करने के उद्देश्य से कार्ययोजना तैयार कर ली गयी है।
श्री अवस्थी ने बताया कि मुख्यमंत्री जी ने कृषि उत्पादन आयुक्त को निर्देशित किया है कि जनता को उचित मूल्य पर सब्जियां उपलब्ध कराने के लिए सभी जरूरी कदम उठाये जाएं। उन्होंने आलू, प्याज, टमाटर की जमाखोरी करने वालों के खिलाफ कार्रवाई करने के निर्देश दिये हैं। उन्होंने कहा है कि मूल्य समर्थन योजना के तहत धान की खरीद के लिए समयबद्ध ढंग से तैयारियां सुनिश्चित की जाएं। धान क्रय केन्द्रों की संख्या में वृद्धि का आकलन कर इसे लागू किया जाए। मुख्यमंत्री जी ने कहा है कि आत्मनिर्भर भारत अभियान के सफल क्रियान्वयन के लिए राज्य स्तरीय बैंकर्स समिति (एस0एल0बी0सी0) की बैठक में विभिन्न योजनाओं के तहत ऋण प्रदान करने की कार्ययोजना बनायी जाए। उद्यमियों, बेरोजगारों तथा अन्य पात्र लोगों को ऋण उपलब्ध कराने के जनपदवार लक्ष्यों की समीक्षा करते हुए इसकी पूर्ति सुनिश्चित की जाए।

श्री अवस्थी ने बताया कि आज मा0 मुख्यमंत्री जी द्वारा सामाजिक पेंशन योजनाओं के अन्तर्गत वृद्धावस्था, निराश्रित महिला, दिव्यांगजन तथा कुष्ठावस्था पेंशन की द्वितीय किश्त 1311.05 करोड़ रुपये की (जुलाई, अगस्त एवं सितम्बर, 2020) 86 लाख 95 हजार 27 लाभार्थियों को आॅनलाइन हस्तांतरित की है। उन्होंने बताया कि अगर समाज की सबसे कमजोर कड़ी को मजबूत कर दिया जाए तो पूरे समाज को आर्थिक स्वावलम्बन की ओर अग्रसर होने से कोई रोक नहीं सकता। यह आत्मनिर्भर भारत बनाने का आधार भी बन सकता है। यही प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी की भी मंशा है। उन्होंने कहा कि वर्तमान सरकार नर को नारायण से जोड़कर उनकी सेवा कर रही है। यदि किसी निराश्रित या दिव्यांग के जीवन में हम शासन की योजनाओं के माध्यम से खुशहाली लाने का कार्य करते हैं, तो हमारी अन्तरात्मा प्रसन्न होती है।

श्री अवस्थी ने बताया कि मुख्यमंत्री जी ने कहा है कि कोरोना काल में किसी भी व्यक्ति के सामने भोजन का संकट न आए, इसलिए राज्य सरकार ने तय किया कि जिनके पास राशन कार्ड नहीं है, उनके तत्काल राशन कार्ड बनाकर खाद्यान्न उपलब्ध कराया जाए। अप्रैल, 2020 से प्रत्येक माह में 02 बार पात्र लोगों को राशन उपलब्ध कराया जा रहा है। सरकार ने यह भी सुनिश्चित किया है कि प्रत्येक पात्र व्यक्ति को आयुष्मान भारत योजना अथवा मुख्यमंत्री जन आरोग्य योजना का लाभ मिले। यदि किसी परिस्थितिवश किसी व्यक्ति के पास कोई भी स्वास्थ्य योजना का कार्ड नहीं है, तो ऐसी स्थिति में उसे उपचार हेतु 1,000 रुपये की राशि ग्राम प्रधान निधि या नगर निकाय निधि से उपलब्ध कराने की व्यवस्था है।
श्री अवस्थी ने बताया कि इस अवसर पर मुख्यमंत्री जी ने जनपद प्रयागराज, अयोध्या, फतेहपुर, ललितपुर, देवरिया, वाराणसी तथा चित्रकूट के पेंशन योजनाओं के लाभार्थियों से वीडियो काॅन्फ्रेंसिंग के माध्यम से संवाद किया और उनका कुशलक्षेम पूछा। उन्होंने बताया कि उत्तर प्रदेश राज्य परिवहन निगम द्वारा प्राप्त जानकारी के अनुसार कल 7,400 बसों के माध्यम से 11 लाख 32 हजार लोगों ने यात्रा की है।

श्री अवस्थी ने बताया कि पुलिस विभाग द्वारा धारा-188 के तहत 2,25,848 एफआईआर दर्ज करते हुये 4,27,056 लोगों को नामजद किया गया है। प्रदेश में अब तक 1,54,72,564 वाहनांे की सघन चेकिंग में 72,150 वाहन सीज किये गये। चेकिंग अभियान के दौरान 80,30,19,714 रूपए का शमन शुल्क वसूल किया गया। आवश्यक सेवाओं हेतु कुल 4,37,122 वाहनों के परमिट जारी किये गये हैं। कालाबाजारी एवं जमाखोरी करने वाले 1242 लोगों के खिलाफ 919 एफआईआर दर्ज करते हुए 446 लोगों को गिरफ्तार किया गया है। उन्होंने बताया कि प्रदेश के 19,947 कन्टेनमेंट जोन के 1,218 थानान्तर्गत, 15,75,920 मकानों के 88,84,726 लोगों को चिन्हित किया गया है। इन कन्टेनमेंट जोन में कोरोना पाॅजिटिव लोगों की संख्या 52,664 है। फेक न्यूज के तहत अब तक 2568 मामलों को संज्ञान में लेते हुए कार्यवाही की गयी है।

   अपर मुख्य सचिव चिकित्सा एवं स्वास्थ्य श्री अमित मोहन प्रसाद ने बताया कि प्रदेश में कोविड-19 टेस्टिंग का कार्य तेजी से किया जा रहा है। प्रदेश में कल एक दिन में 1,54,202 सैम्पल की जांच की गयी। प्रदेश में अब तक कुल 79,38,533 सैम्पल की जांच की गयी है। उन्होंने बताया कि प्रदेश में विगत 24 घंटंे में कोरोना के संक्रमित 6337 नये मामले आये है। उन्होंने बताया कि प्रदेश में 67,002 कोरोना के एक्टिव मामले हैं। प्रदेश में विगत 24 घंटे में कोरोना के 6476 लोग उपचारित हो चुके हैं। उन्होंने बताया कि प्रदेश में रिकवरी का प्रतिशत बढ़कर 78.29 हो गया है। उन्होंने बताया कि होम आइसोलेशन में 35,415 लोग हैं। निजी चिकित्सालयों में 3918 लोग तथा सेमी पेड एल-1 प्लस में 232 लोग ईलाज करा रहे है। पूल टेस्ट के अन्तर्गत कल 2705 पूल की जांच की गयी, जिसमें 2498 पूल 5-5 सैम्पल के तथा 207 पूल 10-10 सैम्पल की जांच की गयी। उन्होंने बताया कि कोरोना पाॅजिटिव पाये गये लोगों में 0-20 आयु वर्ग के 13.91 प्रतिशत, 21-40 आयु वर्ग के 48.42 प्रतिशत, 41-60 आयु वर्ग के 28.77 प्रतिशत और 60 वर्ष से अधिक आयु वर्ग के   8.90 प्रतिशत है। 60 वर्ष आयु से अधिक उम्र के लोगांे का कोरोना पाॅजिटिव के प्रतिशत में बढ़ोत्तरी आयी है इसलिए बुजुर्गों का ध्यान रखना अति आवश्यक है। उन्हें कोरोना संक्रमण से बचायें जाने की अति आवश्यक है। उन्होंने बताया कि कोविड-19 की कोई भी वैक्सीन अभी तक नहीं आयी है इसलिए इससे संबधित जो भी बचाव के नियम है उनका पूरा पालन किया जाए। जैसंे- साबुन, पानी से बार-बार हाथ धोना, सार्वजनिक स्थानों पर लोगों से दो गज की दूरी के साथ व मास्क लगाना है जरूरी।

श्री प्रसाद ने बताया कि माह अक्टूबर मे संचारी रोग का अभियान चलाया जायेगा। जिसके अन्तर्गत 01-15 अक्टूबर के मध्य दस्तक अभियान चलाया जायेगा जिसके दौरान आशा बहुएं घर-घर जाकर लोगों को अभियान के संबंध में डेंगू, मलेरिया सहित अन्य वेक्टर जनित रोगों से बचाव के संबंध में आवश्यक जानकारी प्रदान करेंगी। उन्हांेंने बताया कि माह नवम्बर, दिसम्बर व जनवरी, 2021 में एक अभियान चलाया जायेगा, जिसके अन्तर्गत कोरोना काल के दौरान लाॅकडाउन में जन्में नवजात शिशुओं के जो आवश्यक टीकाकरण से वंचित रह गये है उन बच्चों का टीकाकरण इस अभियान के अन्तर्गत किया जायेगा।
 

Comments

CAPTCHA code

Users Comment