Close X
Sunday, October 25th, 2020

काॅन्टैक्ट ट्रेसिंग की कार्यवाही पर विशेष ध्यान

आई एन वी सी न्यूज़
लखनऊ ,

उत्तर प्रदेश के अपर मुख्य सचिव सूचना एवं गृह श्री अवनीश कुमार अवस्थी ने आज यहां लोक भवन में प्रेस प्रतिनिधियों को सम्बोधित करते हुए बताया कि मुख्यमंत्री जी ने निर्देश दिये है कि सरकारी विभागों में रिक्त पदों के लिए भर्ती प्रक्रिया को शुरू करने के निर्देश दिए हैं उन्होंने मुख्य सचिव सहित समस्त अपर मुख्य सचिव तथा प्रमुख सचिवगण को 01 सप्ताह में रिक्त पदों का विवरण उपलब्ध कराने के लिए निर्देशित किया है। इस कार्य को पूरी तेजी से आगे बढ़ाते हुए आगामी समय में भी पारदर्शितापूर्ण और निष्पक्ष ढंग से भर्ती प्रक्रिया को संचालित किया जाए। उन्होंने कहा कि आगामी 03 माह में भर्ती की प्रक्रिया को प्रारम्भ करते हुए 06 माह में चयनित अभ्यर्थियों को नियुक्ति पत्र प्रदान कर दिए जाएं। उन्होने यह भी निर्देश दिये है कि प्रदेश की विभिन्न भर्ती संस्थाओं के पदाधिकारियों के साथ बैठक करते हुए चयन परीक्षाओं के आयोजन के संबंध में कार्य योजना तैयार की जाए।
श्री अवस्थी ने प्रदेश में एक दिन में कोविड-19 के 01 लाख 55 हजार से अधिक टेस्ट की क्षमता अर्जित किए जाने पर संतोष व्यक्त किया है। उन्होंने कहा कि कोविड-19 पर प्रभावी नियंत्रण स्थापित करने में मेडिकल टेस्टिंग की भूमिका अत्यन्त महत्वपूर्ण है। इसके दृष्टिगत टेस्टिंग कार्य पूरी तेजी से संचालित किया जाए। उन्होंने कहा कि समय पर कोविड-19 के रोगी को उपचार के लिए अस्पताल पहुंचाने से उसका उपचार एल-1 श्रेणी के कोविड चिकित्सालय में ही किया जा सकता है। इसलिए काॅन्टैक्ट ट्रेसिंग की कार्यवाही पर विशेष ध्यान दिया जाना आवश्यक है।
श्री अवस्थी ने बताया कि मुख्यमंत्री जी ने निर्देश दिए कि कोविड चिकित्सालयों में आॅक्सीजन तथा आवश्यक दवाओं की सुचारु उपलब्धता सुनिश्चित की जाए। इस बात पर विशेष ध्यान दिया जाए कि प्रदेश के अस्पतालों में आॅक्सीजन की उपलब्धता के सम्बन्ध में कोई समस्या न हो। उन्होंने बताया कि मुख्यमंत्री जी ने जनपद लखनऊ व कानपुर नगर में कोविड-19 के सफलतापूर्वक उपचारित रोगियों की उपचार विधि का गहन अध्ययन करते हुए कोविड-19 पर नियंत्रण स्थापित करने के निर्देश दिए हैं।
श्री अवस्थी ने बताया कि मुख्यमंत्री जी ने कहा कि अपर मुख्य सचिव स्वास्थ्य, जिला चिकित्सालयों में तथा अपर मुख्य सचिव चिकित्सा शिक्षा मेडिकल काॅलेजों व चिकित्सा संस्थानों में सफलतापूर्वक उपचारित रोगियों के इलाज के बारे में चिकित्सकों से विचार-विमर्श करते हुए स्वस्थ्य हुए रोगियों की दर में वृद्धि सुनिश्चित कराएं। उन्होंने बताया कि मुख्यमंत्री जी ने कोविड-19 से बचाव तथा यातायात सुरक्षा के सम्बन्ध में लोगों को निरन्तर जागरूक किए जाने पर बल दिया। बैठक में अपर मुख्य सचिव गृह द्वारा मुख्यमंत्री जी को अवगत कराया गया कि पब्लिक एड्रेस सिस्टम के माध्यम से कोविड-19 तथा यातायात सुरक्षा के बारे में जनता को जागरूक करने के लिए सभी जनपदों के जिलाधिकारियों तथा वरिष्ठ पुलिस अधीक्षकों/पुलिस अधीक्षकों को निर्देशित कर दिया गया है।
श्री अवस्थी ने बताया कि मुख्यमंत्री जी ने जी0एस0टी0 के अन्तर्गत अधिक से अधिक पंजीयन के लिए कार्य योजना बनाने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने कहा कि जी0एस0टी0 के माध्यम से संग्रहीत होने वाले राजस्व में वृद्धि के लिए प्रभावी प्रयास किए जाएं। यह सुनिश्चित किया जाए कि जी0एस0टी0 की चोरी न होने पाए। उन्होंने उद्योग बन्धु की बैठक आहूत करने तथा उद्यमियों एवं निवेशकों की समस्याओं का समाधान करने के निर्देश भी दिए है। उन्होंने बताया कि मुख्यमंत्री जी ने कहा कि आगामी समय में सम्पन्न होने वाले पर्वों के दृष्टिगत पूरी सतर्कता और सावधानी बरती जाए। कोविड-19 को देखते हुए पर्वों के दौरान सार्वजनिक आयोजन न किया जाए। त्यौहारों को मनाने में सोशल डिस्टेंसिंग तथा मास्क का उपयोग अनिवार्य रूप से किया जाए। उन्होंने दैवीय आपदा के प्रभावितों को राज्य सरकार द्वारा अनुमन्य राहत राशि का समय से वितरण सुनिश्चित कराए जाने के निर्देश भी दिए।
श्री अवस्थी ने बताया कि प्रदेश में भ्रष्टाचार पर जीरो टालरेन्स एवं स्वच्छ प्रशासन पर निरन्तर बल देने की दिशा में सर्तकता विभाग द्वारा जनपद आगरा में टीम गठित कर कार्यवाही की गयी।
श्री अवस्थी ने बताया कि गृह विभाग द्वारा धारा-188 के तहत 2,27,140 एफआईआर दर्ज करते हुये 4,28,793 लोगों को नामजद किया गया है। प्रदेश में अब तक 1,56,66,000 वाहनांे की सघन चेकिंग में 72,594 वाहन सीज किये गये।चेकिंग अभियान के दौरान 81,47,66,114 रूपए का शमन शुल्क वसूल किया गया। आवश्यक सेवाओं हेतु कुल 4,37,541 वाहनों के परमिट जारी किये गये हैं। कालाबाजारी एवं जमाखोरी करने वाले 1244 लोगों के खिलाफ 921 एफआईआर दर्ज करते हुए 446 लोगों को गिरफ्तार किया गया है। उन्होंने बताया कि प्रदेश में फेक न्यूज के तहत अब तक 2583 मामलों को संज्ञान में लेते हुए कार्यवाही की गई है। 18 सितम्बर को कुल 07 मामले, जिनमें फेसबुक के 06, व ट्विटर के 01 मामले को संज्ञान में लिया गये हंै। उन्होंने बताया कि प्रदेश के 19,532 कन्टेनमेंट जोन के 1,220 थानान्तर्गत, 15,70,857 मकानों के 88,62,750 लोगों को चिन्हित किया गया है। इन कन्टेनमेंट जोन में कोरोना पाॅजिटिव लोगों की संख्या 52,722 है। इंस्टीट्यूशनल क्वारेंटाईन किये गये लोगों की संख्या 33,567 है।
   अपर मुख्य सचिव चिकित्सा एवं स्वास्थ्य श्री अमित मोहन प्रसाद ने बताया कि प्रदेश में कोविड-19 टेस्टिंग का कार्य तेजी से किया जा रहा है। प्रदेश में कल एक दिन में अब तक का सर्वाधिक कुल 1,55,897 सैम्पल की जांच की गयी। प्रदेश में अब तक कुल 82,85,710 सैम्पल की जांच की गयी है। उन्होंने बताया कि प्रदेश में विगत 24 घंटंे में कोरोना के संक्रमित 6584 नये मामले आये है। प्रदेश में 24 घंटे में 6806 लोग उपचारित हुए। प्रदेश में रिकवरी का प्रतिशत 78.79 है। उन्होंने बताया कि प्रदेश में 67,825 कोरोना के एक्टिव मामले है। उन्होंने बताया कि होम आइसोलेशन में 35,124 लोग हैं। होम आइसोलेशन में अब तक कुल 1,73,782 में से 1,38,658 की अवधि की पूर्ण हो चुकी है। निजी चिकित्सालयों में 3926 लोग तथा सेमी पेड एल-1 प्लस में 202 लोग ईलाज करा रहे है। उन्होंने बताया कि प्रदेश में सरकारी कार्यालयों एवं महत्वपूर्ण संस्थानों में 64,505 कोविड हेल्प डेस्क स्थापित किये जा चुके है। इनके माध्यम से 7,57,435 लोगों का लक्षणात्मक चिन्हांकन किया गया है। उन्होंने बताया कि कोविड हेल्प डेस्क को और अधिक प्रभावी बनाने के निर्देश दिये गये। जिससे लोगों की सघन प्राथमिक जांच हो सके। प्रदेश में सर्विलांस टीम के माध्यम से 1,09,838 क्षेत्रों में 3,61,587 सर्विलांस टीमों के माध्यम से 2,39,08,813 घरों के 11,89,07,243 जनसंख्या का सर्वेक्षण किया गया है।
श्री प्रसाद ने बताया कि कोविड-19 से संक्रमित व्यक्ति ठीक हो जाने पर भी यदि उनकों मानसिक तनाव, उलझन या घबराहट महसूस होती है तो वह हेल्पलाइन नं0 18001805145 पर काॅल कर काउंसलर से सलाह ले सकते है। उन्होंने बताया कि सरकारी अस्पतालों में कोविड-19 की जांच व ईलाज की सुविधा निःशुल्क उपलब्ध है।

Comments

CAPTCHA code

Users Comment