वरिष्ठ कांग्रेस नेता वीरप्पा मोइली  कहा कि जी-23 गुट वरिष्ठ नेताओं को निशाना बना रहा है और कांग्रेस को कमजोर कर रहा है। उन्होंने कहाकि भाजपा हमेशा रहने वाली पार्टी नहीं है। मोदी के बाद इसका टिक पाना मुश्किल होगा। इस बीच सोनिया और राहुल गांधी जी-23 नेताओं से मिल सकते हैं। हालांकि इसकी तारीख अभी तय नहीं होगी।

पांच राज्यों के चुनावी परिणाम के बाद एक तरफ कांग्रेस में जबर्दस्त घमासान मचा हुआ है। वहीं वरिष्ठ कांग्रेस नेता वीरप्पा मोइली ने हार से उपजे पार्टी के जख्मों पर मरहम लगाने की कोशिश की है। उन्होंने कहाकि भाजपा और दूसरे दल आते-जाते रहेंगे। केवल कांग्रेस ही एकमात्र पार्टी है जो हमेशा रहेगी। इसके साथ ही उन्होंने पार्टी नेताओं से वापस सत्ता में आने के लिए अपने एटीट्यूड में बदलाव करने को भी कहा। वीरप्पा मोइली का यह बयान गुलाम नबी आजाद के घर जी-23 नेताओं की मीटिंग के बाद आया है। मोइली ने कहाकि चुनाव जीतने के लिए कांग्रेस नेताओं को जिंदगी, समाज और हर चीज के प्रति अपने एटीट्यूड में बदलाव लाना चाहिए। उन्होंने कहाकि कांग्रेस हमेशा रहने वाली पार्टी है। मोइली ने इस दौरान नेहरू के बयान का भी उदाहरण दिया। उन्होंने कहाकि जवाहरलाल नेहरू ने कहा था कि अगर कांग्रेस गरीबों और पिछड़ों के लिए काम करना बंद कर देगी तो यह खत्म हो जाएगी। हमें इन लोगों के लिए काम करना है और उम्मीद नहीं खोनी है। मोइली ने कहाकि कांग्रेस नेताओं को इस बात से हतोत्साहित होने की जरूरत नहीं है कि हम सत्ता में नहीं हैं। उन्होंने भाजपा और अन्य दलों को ट्रांजिट पैसेंजर की संज्ञा दी। उन्होंने कहाकि यह दल आते-जाते रहेंगे। केवल कांग्रेस ही यहां हमेशा-हमेशा रहेगी। PLC

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here