अमृतसर। पंजाब में नवजोत सिंह सिद्धू को कांग्रेस का प्रदेश अध्यक्ष बनाए जाने के बाद जहां सिद्धू जहां अपने समर्थकों के साथ लगातार मंदिरों-गुरुद्वारों के दर्शन कर रहे हैं वहीं पार्टी खेमों में बंटती दिख रही है। अब खबर है कि बुधवार को नवजोत सिंह सिद्धू के साथ मंदिर दर्शन करने जो कांग्रेस विधायक गए थे, उसमें से कुछ पंजाब सीआईडी के रडार पर हैं। इन विधायकों पर गैरकानूनी गतिविधियां जैसे अवैध खनन व अवैध शराब का धंधा करने के आरोप लगे हुए हैं। कुछ विधायक ऐसे भी हैं जिन्होंने सीएम अमरिंदर से मदद मांगी थी, लेकिन सीएम की तरफ से कोई प्रतिक्रिया नहीं मिली थी।
  बुधवार को नवजोत सिंह सिद्धू ने विधायकों संग एक तरह का शक्ति प्रदर्शन किया। इसमें वह स्वर्ण मंदिर भी गए। अमृतसर के इस दौरे के दौरान सिद्धू के साथ कुछ 48 विधायक (आप के 3 विधायक समेत) थे। इसमें से कुछ विधायक पंजाब सीआईडी के रडार पर हैं। नवजोत सिंह सिद्धू के घर के बाहर सादे कपड़ों में मौजूद सीआईडी के अधिकारी ने खुद इस बात की जानकारी दी है। उनकी नजर अमृतसर में सिद्धू के घर जमा इन विधायकों पर थी। बताया गया कि वे सिर्फ अपनी ड्यूटी कर रहे हैं। सूत्रों ने बताया है कि इन अवैध कामों में वे (विधायक) लोग प्रत्यक्ष और अप्रत्यक्ष रूप से शामिल रहे हैं। इसमें अवैध खनन और शराब का धंधा शामिल है। जानकारी के मुताबिक, कैप्टन अमरिंदर सिंह ने इन नेताओं के बारे में उस तीन सदस्यों के पैनल को भी बताय था, जिसे कांग्रेस हाइकमान ने पंजाब कांग्रेस संकट खत्म करने के लिए बनाया था। सीआईडी की नजर जिन विधायकों पर है, उनमें से एक होशियारपुर इलाके के हैं। उनको अवैध खनन का आरोप है, जिसके लिए दिसंबर 2020 में उनको 1.65 करोड़ का नोटिस भेजा गया था। विधायक ने अमरिंदर से ‘मदद’ की गुहार लगाई थी। PLC.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here