पंजाब में विधानसभा चुनाव से पहले कांग्रेस मौजूदा मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी को मुख्यमंत्री पद का चेहरा घोषित कर सकती है। सूत्रों का कहना है कि पार्टी के सर्वे में चन्नी सबसे आगे चल रहे हैं। बता दें कि इस सर्वे में कांग्रेस ने प्रत्याशियों, कार्यकर्ताओं, सांसदों और विधायकों से राय जानने की कोशिश की। बता दें कि मुख्यमंत्री पद के चेहरे को लेकर दो ही नामों पर तेजी से चर्चा चल रही थी। सूत्रों का कहना है कि नवजोत सिंह सिद्धू को इस मामले में वरीयता नहीं दी जाएगी। एक सूत्र ने बताया, ‘पार्टी की तरफ से आम जनता को भी फोन किया जा रहा है और लोगों से उनकी राय पूछी जा रही है। यह काम ऑटोमेटेड कॉल सिस्टम के जरिए किया जा रहा है। पार्टी का टारगेट है कि 1.5 करोड़ लोगों को अगले कुछ ही दिनों में फोन किया जाएगा।’ पार्टी के कोऑर्डिनेटर ब्लॉक प्रेसिडेंट, जिला प्रेसिडेंट और प्रत्याशियों तक भी पहुंच रहे हैं। वे लोगों के विचार जानने का प्रयास कर रहे हैं। राज्यसभा औऱ लोकसभा सांसदों से भी संपर्क किया गया और जानने की कोशिश की गई कि वे किसे मुख्यमंत्री के तौर पर देखना पसंद करेंगे। यह रायशुमारी नवजोत सिंह सिद्धू और चरणजीत सिंह चन्नी के बीच ही कराई जा रही है। कांग्रेस के एक वरिष्ठ सदस्य ने बताया, ‘पार्टी इतने सारे प्रयास इसीलिए कर रही है ताकि जो भी फैसला लिया जाए वह पारदर्शी हो। जो भी इस सर्वे में पिछड़ जाए वह दूसरे पर कीचड़ न उछाल सके। राहुल गांधी के सामने चन्नी और सिद्धू दोनों ने ही स्वीकार किया था कि वे सर्वे के नतीजों को मानेंगे।’ सूत्रों का कहना है कि शुरुआती सर्वे में चन्नी आगे चल रहे हैं लेकिन पार्टी पूरा समय देना चाहती है जिससे कि सबूत के साथ सर्वे का नतीजा प्रस्तुत किया जा सके। आम आदमी पार्टी ने भी मुख्यमंत्री पद का दावेदार घोषित करने के लिए सर्वे का ही सहारा लिया था। हालांकि उस वक्त कांग्रेस ने इस कदम की आलोचना की थी। PLC

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here