मध्यप्रदेश में दो दिन बाद कड़ाके की ठंड से राहत ‎मिलने की उम्मीद है। बादल छाने के कारण तापमान में मामूली बढोत्तरी हो सकती है। उत्तर भारत में एक के बाद एक आ रहे दो पश्चिमी विक्षोभ के असर से बादल छाने के कारण न्यूनतम तापमान में बढ़ोतरी होने लगेगी। इससे ठंड से कुछ राहत मिलने लगेगी। मौसम ‎विभाग के अनुसार, उत्तर भारत के पहाड़ों पर पिछले दिनों लगातार बर्फबारी हुई है। मौसम विज्ञानियों के मुताबिक हवा का रुख उत्तरी हो गया है। उ

त्तर भारत की तरफ से आ रही बर्फीली हवाओं के चलते रविवार-सोमवार को मध्य प्रदेश में कड़ाके की ठंड पड़ने की संभावना है। पूर्व वरिष्ठ मौसम विज्ञानी अजय शुक्ला के अनुसार, 16 जनवरी रविवार को एक कमजोर आवृति का पश्चिमी विक्षोभ उत्तर भारत में प्रवेश करेगा। इसके बाद 18 जनवरी को भी एक तीव्र आवृति वाले पश्चिमी विक्षोभ के उत्तर भारत में प्रवेश करने की संभावना है। इसके प्रभाव से

वातावरण में नमी बढ़ने से बादल छाने लगेंगे। इससे रात का तापमान बढ़ने लगेगा। इस दौरान कहीं-कहीं गरज-चमक के साथ बौछारें भी पड़ सकती हैं।मौसम विज्ञान केंद्र के वरिष्‍ठ विज्ञानी पीके साहा के अनुसार, शुक्रवार को राजधानी भोपाल का अधिकतम तापमान 19.9 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया, जो सामान्य से पांच डिग्री सेल्‍सियस कम रहा। साथ ही यह गुरुवार के अधिकतम तापमान 20.8 डिग्री सेल्‍सियस की तुलना में 0.9 डिग्रीसे. कम रहा। शुक्रवार को भोपाल, इंदौर, उज्जैन एवं शाजापुर में शीतल दिन रहा। साहा के मुताबिक हवा का रुख उत्तरी हो गया है। इसके चलते ग्वालियर-चंबल संभागों के जिलों में शीतलहर का प्रभाव दिखने लगा है। इस वजह से शनिवार से राजधानी सहित अन्य जिलों में भी रात के तापमान में और गिरावट आने के आसार हैं। रविवार-सोमवार को भी ठंड के तेवर तीखे रह सकते हैं। इसके बाद बादल छाने से रात के तापमान में बढ़ोतरी होने के आसार हैं। PLC

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here