रूस लंबे समय से एशिया, दक्षिण अमेरिका और मध्य पूर्व के साथ घनिष्ठ संबंध बनाने पर जोर दे रहा है

एक ब्रिक्स अधिकारी ने कहा कि ईरान ने ब्रिक्स के रूप में उभरती अर्थव्यवस्थाओं के समूह में सदस्य बनने के लिए एक आवेदन प्रस्तुत किया गया है। ईरान के विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता ने कहा कि ब्रिक्स समूह में ईरान की सदस्यता, जिसमें ब्राजील, रूस, भारत, चीन और दक्षिण अफ्रीका शामिल हैं, जहां ईरानियों ने कहा ‎कि रूस और ब्रिक्स देशों के बीच अच्छा व्यापार होगा।

रूसी विदेश मंत्रालय की प्रवक्ता मारिया ज़खारोवा ने अलग से कहा कि अर्जेंटीना ने भी समूह में शामिल होने के लिए आवेदन किया था। उन्होंने यह भी बताया कि अर्जेंटीना के अधिकारियों से तत्काल बातचीत के लिए संपर्क नहीं हो सका।

ज़खारोवा ने टेलीग्राम मैसेजिंग ऐप पर बताया ‎कि जब व्हाइट हाउस सोच रहा था कि दुनिया में और क्या बंद किया जाए, प्रतिबंध लगाया जाए या खराब किया जाए, उस समय अर्जेंटीना और ईरान ने ब्रिक्स में शामिल होने के लिए आवेदन किया। रूस लंबे समय से एशिया, दक्षिण अमेरिका और मध्य पूर्व के साथ घनिष्ठ संबंध बनाने पर जोर दे रहा है, लेकिन उसने हाल ही में यूक्रेन पर आक्रमण करने की वजह से यूरोप, संयुक्त राज्य अमेरिका और अन्य देशों द्वारा लगाए गए आर्थिक प्रतिबंधों को हटाने के प्रयास कर रहा है। PLC

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here