उत्तर प्रदेश के आगामी विधानसभा चुनाव को लेकर राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ यानी आरएसएस (RSS) ने योगी आदित्यनाथ को एक बार फिर यूपी का सीएम बनाने का चुनावी एजेंडा सेट कर लिया है. योगी के काम और नाम पर संघ ने अपनी मुहर लगा दी है. संघ की पत्रिका पांचजन्य के यूपी विशेषांक ने योगी के कार्यों की सराहना की है. यही नहीं संघ के कार्यकर्ताओं को इसकी पांच लाख प्रतियां लोगों तक पहुंचाने का काम सौंपा गया है. वहीं भाजपा के समानान्तर बूथ स्तर तक संघ के कार्यकर्ता जुटेंगे.आरएसएस ने इसके साथ ही अपने सभी आनुषांगिक संगठनों को योगी के पक्ष में जन अभियान चलाने के निर्देश दिए हैं. आरएसएस का मुस्लिम राष्ट्रीय मंच भी योगी के पक्ष में जन अभियान चलाने जा रहा है. मुस्लिम राष्ट्रीय मंच का ख़्वातीन दस्ता (महिला विंग) और मौलाना प्रकोष्ठ से जुड़े लोग योगी सरकार का प्रचार करेंगे.संघ के बीएल संतोष ने बीजेपी के संगठन प्रभारी समेत अन्य बड़े नेताओं के साथ बैठक कर अपने चुनावी अभियानों पर चर्चा की. बीजेपी के स्थानीय जनप्रतिनिधियों के प्रति जनता में जो नाराजगी है, उसे दूर करने के लिए संघ अब बूथ स्तर पर बीजेपी के समानांतर जुटेगा.

आरएसएस का मुस्लिम राष्ट्रीय मंच करेगा दास्तान-ए-योगी का विमोचन
राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के मुस्लिम राष्ट्रीय मंच ने दास्तान-ए-योगी पुस्तक प्रकाशित कराई है. इसका विमोचन 30 दिसंबर को आरएसएस के इंद्रेश कुमार लखनऊ में करेंगे. इस पुस्तक में योगी की संघर्ष गाथा लिखी गई है. इस किताब को विमोचन के बाद मुस्लिम महिलाएं और मौलाना बूथ स्तर तक वितरित करेंगे.

यूपी में बढ़ी संघ की सक्रियता
यूपी में चुनाव नजदीक आते ही संघ की सक्रियता लगातार बढ़ रही है. संघ की पत्रिका पांचजन्य के यूपी विशेषांक में जहां योगी के विकास कार्यों की खूब सराहना की गई है, वहीं संघ के अनुसांगिक संगठन सहकार भारती ने अपना राष्ट्रीय अधिवेशन इसी माह यूपी में पहली बार किया, जिसमें सीएम योगी से लेकर अमित शाह मौजूद रहे. उसके मंच से योगी के विकास कार्यों की आरएसएस ने तारीफ की.PLC.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here