आई एन वी सी न्यूज़
नई दिल्ली

“हमारे जीवन का परम उद्देश्य आनंदमय रहना है।” – बौद्ध गुरू दलाई लामा के इन वचनों को त्रिआयामी मॉडल (हेल्थ, हैप्पीनेस एंड हॉस्पिटैलिटी) के रूप में भारतीय एवं अंतरराष्ट्रीय महा मनीषियों, वैज्ञानिकों एवं चिकित्सकों की खोजों एवं शोधों का समागम करते हुए इस नवीन एवम वैज्ञानिक विधा को एक छत के नीचे संस्थापित किया जा रहा है। विज्ञान एवं तकनीकी के माध्यम से जीवन के परम उद्देश्य एक कदम “अमरत्व की खोज” को प्राकृतिक स्वास्थ्य, आनंद एवं देखभाल की एक अनूठी एवं अंतरराष्ट्रीय इस परियोजना का अनावरण आज लोहागढ़ फोर्ट रिसॉर्ट के सभागार में आयोजित एक भव्य समारोह में किया गया।


हम कौन हैं? जीवन से हमें क्या चाहिए और जीवन में हमें क्या चाहिए? मानव योनि के इन ज्ञात और अज्ञात प्रश्नों के जवाब जानने और जीवन के परम उद्देश्यों (लग्जरी, लैजर एवं लव) की प्राप्ति को प्रत्यक्ष रूप में ज्ञान, विज्ञान एवं तकनीकी के माध्यम से लोहागढ़ होस्पो फोर्ट रिसॉर्ट एवं रिसर्च सेंटर में साकार किया जा रहा है। यह कहना है इस अंतरराष्ट्रीय एवं अनूठे प्रकल्प के संस्थापक अध्यक्ष श्री भगत सिंह लोहागढ़ का। इस परियोजना के शुभारंभ के लिए जयपुर में 35 एकड़ जमीन उपलब्ध कराई गई है। इसके अतिरिक्त नोएडा, दिल्ली में एक अंतरराष्ट्रीय स्तर का रिसर्च लैब सफलतापूर्वक स्थापित किया जा चुका है जहां कई देशों के फार्मा वैज्ञानिक उच्च क्षमता, न्यूनतम कीमत के साथ असंभव सी प्रतीत होने वाली वाली महंगी दवाओं को बना चुके हैं। श्री भगत सिंह ने कहा कि शोध और खोज की यह यात्रा बहुत लंबी है जिसमें अंतरराष्ट्रीय स्तर के गठबंधन कर वैज्ञानिक, बहुआयामी चिकित्सा विज्ञान के डॉक्टर एवं विशेषज्ञों से सहयोग लिए जा रहे हैं।

 

श्री सिंह ने बताया कि इस प्रोजेक्ट का विजन डॉक्यूमेंट एवम परियोजना प्रारूप अंतरराष्ट्रीय प्रोफेसर, वैज्ञानिक, डिजिटल डिप्लोमेट एवं भारत के प्रधानमंत्री मोदी के स्वच्छता मिशन से जुड़े राष्ट्रीय एंबेस्डर डॉ डीपी शर्मा तैयार कर रहे हैं। परियोजना के प्रथम कंसेप्ट ड्राफ्ट का अनावरण आज राजस्थान सरकार के स्मॉल एंड मीडियम स्केल इंडस्ट्री के चेयरमैन राजीव अरोड़ा, संस्थापक अध्यक्ष भगत सिंह लोहागढ़, डॉ डीपी शर्मा के साथ-साथ परियोजना से जुड़े बोर्ड ऑफ डायरेक्टर्स के सदस्य, वैज्ञानिकों, डॉक्टरों एवं प्रोफेशनल जैसे नेवी के पूर्व अधिकारी एवं विजनरी डायरेक्टर कैप्टन सुभाष सिंह, आईआईटी एवं जापान के फार्मास्यूटिकल रिसर्च फैलो डॉक्टर घनश्याम पांडे, फिजिशियन डॉक्टर हरेंद्र, वरिष्ठ फिजिशियन एमडी डॉक्टर गोविंद गोयल, ख्यातनाम डॉक्टर सत्येंद्र सिंह एवं पैलेस ऑन व्हील्स के रिटायर्ड महाप्रबंधक प्रदीप बोहरा की उपस्थिति में किया गया।

श्री राजीव अरोड़ा ने कहा कि हम ‘लोहागढ़ होसपो रिजॉर्ट एंड रिसर्च सेंटर’ के नए उद्यम में संपूर्ण कायाकल्प के साथ बॉडी, ब्रेन और बर्थ री-इंजीनियरिंग के एक नए, अनूठे और इनोवेटिव मॉडल की सुविधा प्रदान करने के प्रयासों की सराहना करते हैं और बधाई देते हैं कि श्री भगत सिंह लोहागढ़ का यह अंतरराष्ट्रीय स्तर का अनूठा प्रकल्प एक दिन मानव जीवन के आनंद, स्वास्थ्य और सत्कार का केंद्र बिंदु बन जाएगा। उन्होंने कहा कि एक अंतरराष्ट्रीय मिशन से जुड़े हेल्थ, हॉस्पिटल एवं हैप्पीनेस के प्रोफेशनल्स एवम बोर्ड ऑफ विजनरी डायरेक्टर्स के सदस्य नेवी के पूर्व अधिकारी एवं कैप्टन सुभाष सिंह, आईआईटी एवं जापान के फार्मास्यूटिकल रिसर्च फेलो डॉक्टर घनश्याम पांडे, पैलेस ऑन व्हील्स के रिटायर्ड महाप्रबंधक प्रदीप बोहरा, फिजिशियन डॉक्टर हरेंद्र, वरिष्ठ फिजिशियन एमडी डॉक्टर गोविंद गोयल, एवं ख्यातनाम डॉक्टर सत्येंद्र सिंह के जुड़ने से यह परियोजना भगत सिंह लोहागढ़ के सपनों को धरातल पर उतार देगी।

 

उच्च स्तर के पेशेवर लोहागढ़ होसपो में स्वास्थ्य देखभाल, खुशी और रिवर्स एजिंग का समग्र अनुभव प्रदान करने के लिए समर्पित रहेंगे। हम आनंद, स्वास्थ्य और आतिथ्य के इस आनंदमय वैश्विक केंद्र में आपके स्वास्थ्य को खगोलीय अवकाश बनाने के लिए एक प्राकृतिक माहौल और सूक्ष्मता पूर्वक देखभाल करने कि लिए प्रतिबद्ध हैं, और विलासितापूर्ण दिव्य प्रेम, देखभाल और आनंद के साथ एक सेलिब्रिटी की तरह महसूस कराने की विधा पर काम कर रहे हैं। एक हाई-टेक वैश्विक अस्पताल और रिसॉर्ट के साथ इस प्रतिष्ठित उद्यम का मुख्य उद्देश्य प्यार और आराम के साथ रहने के लिए हरे-भरे प्राकृतिक वातावरण के साथ एक छतरी के नीचे फैमिली फीलिंग और पर्यावरणीय चिकित्सा आनंद और सत्कार की अंतरराष्ट्रीय स्तर की सेवा प्रदान करना है।

 

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here