Close X
Friday, October 22nd, 2021

अहमद पटेल की भूमिका में नजर आएंगी प्रियंका गांधी वाड्रा

नई दिल्ली  । कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा भूपेश बघेल से मुलाकात के दौरान कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी के आवास 10 जनपथ से राहुल गांधी के आवास 12 तुगलक रोड गईं थीं। तीन घंटे चली बैठक के बाद, छत्तीसगढ़ में यथास्थिति बनी हुई थी और राज्य में नेतृत्व परिवर्तन पर कोई बात नहीं हो रही है। प्रियंका को 10 जनपथ से बाहर निकलकर राहुल गांधी के आवास में जाने और वहां से आने के दौरान देखा गया। संभवत: किसी मध्यमार्ग का रास्ता तैयार किया गया है, लेकिन किसी भी फॉर्मूले की कोई आधिकारिक घोषणा नहीं हुई। छत्तीसगढ़ के सीएम ने भी रोटेशनल मुख्यमंत्री पद पर कोई जवाब नहीं दिया।
गलियारों में कहा जा रहा है कि प्रियंका गांधी के हस्तक्षेप और भूपेश बघेल की उत्तर प्रदेश में भागीदारी ने उनकी गद्दी बचा ली। बघेल के यूपी की कांग्रेस महासचिव प्रभारी के साथ अच्छे संबंध हैं क्योंकि भूपेश बघेल की टीम द्वारा राज्य के लगभग 50 लोगों को कैडर को प्रशिक्षित करने के लिए यूपी में रखा जा रहा है और हाल ही में रायपुर में यूपी के लगभग 100 कार्यकर्ताओं को प्रशिक्षित किया गया था।
छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री ने यूपी में सभी संसाधनों को लगाया है, इससे पहले वह असम के प्रचार प्रभारी थे। यह पहली बार नहीं है जब प्रियंका गांधी ने महत्वपूर्ण निर्णय लेने की प्रक्रिया में हस्तक्षेप किया है, उन्होंने नवजोत सिंह सिद्धू को पंजाब कांग्रेस अध्यक्ष के रूप में नियुक्त करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई थी। इससे पहले जब सचिन पायलट ने जुलाई 2020 में विद्रोह का नेतृत्व किया,तब प्रियंका गांधी थीं जिन्होंने पिछले साल राजस्थान में पायलट को शांत कर सरकार को बचाया, हालांकि, वह ज्योतिरादित्य सिंधिया के विद्रोह को रोकने में असमर्थ थीं,इसकारण मध्य प्रदेश कमलनाथ सरकार गिर गई। जबकि उनके साथ काम करने वाले जितिन प्रसाद भी भाजपा में शामिल हो गए।
सिंधिया जहां केंद्रीय मंत्री हैं, वहीं जितिन प्रसाद को जल्द ही इनाम मिलने की उम्मीद है। शुक्रवार को भूपेश बघेल ने राहुल गांधी के साथ तीन घंटे की बैठक की, जिसके बाद बघेल ने कहा कि उन्होंने गांधी को राज्य का दौरा करने के लिए आमंत्रित किया है। उन्होंने कहा, "मैंने उन्हें हर चीज से अवगत कराकर राजनीतिक और प्रशासनिक मुद्दों पर चर्चा की है.. राहुल गांधी से छत्तीसगढ़ आने का अनुरोध किया है। बैठक के बाद बघेल अपने समर्थन में डेरा डाले हुए विधायकों से मिलने पार्टी मुख्यालय अकबर रोड गए थे।PLC

Comments

CAPTCHA code

Users Comment