ब्रिटेन में लॉकडाउन के दौरान प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन और उनके कर्मचारियों द्वारा आयोजित की गईं पार्टियों से संबंधित एक जांच में कहा गया है कि ये नियमों का ‘घोर उल्लंघन’ थीं। इस बीच, जॉनसन ने समूचे घटनाक्रम पर सोमवार को माफी मांगी। लेकिन उन्होंने कहा कि उन पर और उनकी सरकार पर भरोसा किया जा सकता है और वे चीजों को ठीक कर देंगे। सरकार में ‘नेतृत्व और निर्णय की विफलताएं थीं’ तथा ‘कुछ चीजों को होने की अनुमति नहीं दी जानी चाहिए थी।’ पुलिस के अनुरोध पर निष्कर्षों के प्रमुख अंशों को रोककर रखा गया है, क्योंकि पुलिस मामले में अलग से जांच कर रही है। रिपोर्ट का निष्कर्ष जॉनसन के लिए एक झटका है जिन्होंने पहले कहा था कि नियमों का हर समय पालन किया गया। ग्रे के निष्कर्ष 16 में से केवल चार कार्यक्रमों से संबंधित हैं जिनकी उन्होंने जांच की थी।

वर्ष 2020 और 2021 में 12 अन्य पार्टियों को लेकर उनके निष्कर्षों को पुलिस के अनुरोध पर रोक दिया गया है क्योंकि पुलिस मामले में अलग से जांच कर रही है। पुलिस द्वारा जिन कार्यक्रमों के बारे में जांच की जा रही है उनमें जॉनसन के लिए जून 2020 की जन्मदिन की पार्टी और अप्रैल 2021 में प्रिंस फिलिप के अंतिम संस्कार की पूर्व संध्या पर आयोजित दो सभाएं भी शामिल हैं। विपक्षी नेताओं और जॉनसन की पार्टी के कुछ सांसदों ने भी उनके इस्तीफे की मांग की है, लेकिन जॉनसन ने इस मांग को ठुकरा दिया है। इस बीच, जॉनसन ने समूचे घटनाक्रम पर माफी मांगते हुए कहा कि ‘मुझे उम्मीद है कि मैं इसे ठीक कर दूंगा।’ PLC

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here