अंतरराष्ट्रीय समाचार एवं विचार निगम द्वारा विभिन्न क्षेत्रों में दिए जाने वाले और दूसरे अंतरराष्ट्रीय पुरस्कारों की घोषणा करना अभी बाकी हैं , ज्ञात रहे कि सन 2020 का  पुरस्कार वितरण समारोह कोरोना महामारी के कारण स्थगित कर दिया गया था

आई एन वी सी न्यूज़
नई  दिल्ली ,

अवार्ड सेलेक्शन  कमेटी संयोजक डॉ वीरेंद्र रावत अधिवक्ता सुप्रीम कोर्ट,  अंतरराष्ट्रीय समाचार विचार निगम के अंतरराष्ट्रीय सलाहकार (मानद) डॉ डीपी शर्मा और अवार्ड सलेक्शन कमेटी के चेयरमैन जाकिर हुसैन ने एक लम्बे मंथन के बाद , 6000 हज़ार से ज़्यादा प्राप्त नामांकन में से ,  पीएम भारद्वाज के जन सेवा कार्यो के साथ – साथ ही  बाकि दूसरी उपलब्धियों को मद्देनज़र रखते हुए , सर्वसम्मति से अंतरराष्ट्रीय समाचार एवं विचार निगम के लाइफ टाइम अचीवमेंट इंटरनेशनल अवार्ड के लिए चयनित किया !

अंतरराष्ट्रीय समाचार एवं विचार निगम द्वारा विभिन्न क्षेत्रों में दिए जाने वाले और दूसरे अंतरराष्ट्रीय पुरस्कारों की घोषणा करना अभी बाकी हैं , ज्ञात रहे कि सन 2020 का  पुरस्कार वितरण समारोह कोरोना महामारी के कारण स्थगित कर दिया गया था । अब यह समारोह वर्चुअल माध्यम से सितंबर – अक्टूबर में आयोजित किया जाएगा जिसकी तारीख की घोषणा बाकी के अवार्ड फाइनल होने के बाद की जाएगी।

पीएम भारद्वाज के बारे में , क्यों अवार्ड  सेलेक्शन  कमेटी ने अवार्ड के लिए किया चयन ?

भारद्वाज फाउंडेशन की स्थापना भारतीय युवा शक्ति के आत्म विश्वास को जाग्रत करते हुए तकनीकी और कौशल विकास के द्वारा स्वावलंबी सुसंस्कृत भारत के निर्माण और विश्व महाशक्ति के रूप में स्थापित करने के लिए सन 2013 में  भारत सरकार के सार्वजनिक क्षेत्र के चार उपक्रमों के पूर्व एमडी, सीएमडी श्री पीएम भारद्वाज द्वारा की गई।इस उद्देश्य की पूर्ति हेतु उद्योगों और शिक्षण संस्थानों के मध्य दूरी को कम करने  एवं सकारात्मक प्रेरणा हेतु अब तक राष्ट्रीय स्तर के 42 से अधिक कार्यक्रम किए जा चुके हैं जिनमें राजस्थान टेक्निकल यूनिवर्सिटी, बीकानेर टेक्निकल यूनिवर्सिटी, आर्य ग्रुप ऑफ़ कॉलेजेज, मणिपाल यूनिवर्सिटी, जयपुर नेशनल यूनिवर्सिटी, डॉक्टर के एन मोदी यूनिवर्सिटी,ए आई सी टी ई, जे के लक्ष्मीपत यूनिवर्सिटी,केशवानंद इंस्टिट्यूट इत्यादि शामिल हैं। इन कार्यक्रमों का विवरण विभिन्न समाचार पत्रों में प्रकाशन के साथ इलेक्ट्रॉनिक मीडिया  द्वारा भी कवरेज़ प्रदान किया गया है।
भारद्वाज फाउंडेशन में विभिन्न विश्वविद्यालयों के उच्च कोटि के विद्वान  कुलपति, आचार्य, औद्योगिक संगठनों के अध्यक्ष, सचिव, उद्योगपति एवं उच्च स्तरीय कार्यकारी अधिकारी तथा अपने अपने क्षेत्र के अन्य  माननीय विशेषज्ञ अपने अतुलनीय अनुभव से सक्रिय योगदान दे रहे हैं।

भारद्वाज फाउंडेशन के संस्थापक अध्यक्ष श्री पी एम भारद्वाज, राष्ट्रीय स्तर के ख्यातनाम मोटिवेशनल एवं मैनेजमेंट गुरु स्वयं ही एक संस्थान के तुल्य हैं । इसके लिए वे लीडरशिप , मैनेजमेंट, नवीन तकनीक,समस्या और समाधान, ज्ञान और आत्मज्ञान इत्यादि के बारे में एक हज़ार से भी अधिक व्याख्यान व प्रशिक्षण कार्यक्रमों के द्वारा उद्योगों एवं शैक्षणिक संस्थानों के युवाओं  एवं प्रोफेशनल्स को मोटिवेट कर चुके हैं।
श्री भारद्वाज अपने व्याख्यानों में मैनेजमेंट टिप्स में आध्यात्मिक एवं धार्मिक ग्रंथों का समावेश करते हैं। संत कबीर, संत रहीम, संत गुरु नानक के अलावा श्रीमद्भगवद्गीता एवं रामायण के टिप्स भी मैनेजमेंट में जोड़ते हैं और इसी वजह से उनके व्याख्यान शैक्षणिक संस्थाओं  व उद्योगों में बहुत पसंद किए जाते हैं। इनका मानना है कि श्रीमद भगवद गीता धार्मिक ग्रंथ नहीं वरन् सफल जीवन जीने का विज्ञान है अतः इसे शैक्षणिक पाठ्यक्रम में आवश्यक रूप से शामिल किया जाना चाहिए।
नफा नुकसान न्यूज़ पेपर में इनके करीब 250 से ज्यादा लेख वीकली कॉलम  “आर्ट ऑफ मैनेजमेंट” में प्रकाशित हो चुके हैं।
इनका शुरू से ही यह कहना रहा है कि  शिक्षा में व्यवहारिक ज्ञान, स्किल बेस्ड एजुकेशन, इंडस्ट्री कनेक्ट, इनोवेशन पर जोर, नैतिक शिक्षा, रोजगार मुखी, स्वालंबन, इत्यादि की आवश्यकता है।
संस्थापक अध्यक्ष पीएम भारद्वाज जो कि मणिपाल यूनिवर्सिटी जयपुर, भारतीय स्किल डेवलपमेंट यूनिवर्सिटी जयपुर, राजस्थान आई एल डी स्किल डेवलपमेंट यूनिवर्सिटी इत्यादि के बोर्ड मेंबर भी हैं का मानना है कि जब तक उद्योग एवं शैक्षणिक संस्थाएं अपने बीच की खाई को पाटकर हाथ से हाथ मिला कर काम नहीं करेंगे तब तक हमारा देश सुपर पावर नहीं बन पाएगा क्योंकि भारत में प्रतिभा की कमी नहीं है बस सही दिशा निर्देश, प्रशिक्षण और प्रोत्साहन की आवश्यकता है।
श्री पीएम भारद्वाज ने अपना जीवन इस उद्देश्य को समर्पित कर रखा है।
इनका मोटिवेशनल स्लोगन है “ऑल इज पॉसिबल थ्रू कमिटमेंट एंड एफर्ट्स”
उनका कहना है कि हमारी युवा अपने आप पर, भगवान पर, गुरुजनों पर विश्वास और श्रेष्ठ जनों के अनुसरण में अथक प्रयत्न से बड़े से बड़ा काम संभव कर सकते हैं ।
राष्ट्र निर्माण के इस महत्वपूर्ण कार्य में भारद्वाज फाउंडेशन के सभी लब्धप्रतिष्ठित सदस्य मनोयोग और ऊर्जा से लगे हैं तथा अपने प्रयास की सफलता  के लिए दृढनिश्चयी और पूर्ण आश्वस्त भी हैं।
श्री पीएम भारद्वाज को राष्ट्रीय स्तर पर कई बार तकनीकी एवं एचआर के क्षेत्र में बड़े अवार्ड से नवाजा जा चुका है l
आई एन वी सी आपके द्वारा किए गए अति विशिष्ट कार्यों के लिए आईएनवीसी लाइफ टाइम अचीवमेंट इंटरनेशनल अवार्ड की घोषणा करते हुए गौरवान्वित महसूस करता है।
 
 
 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here