Close X
Sunday, November 28th, 2021

अधिकाधिक करें वृक्षारोपण

आई एन वी सी न्यूज़
जयपुर,
सार्वजनिक निर्माण विभाग के शासन सचिव श्री चिन्न हरी मीणा ने कहा कि राज्य में चल रही राष्ट्रीय राजमार्ग परियोजनाओं एवं अन्य सड़क विकास कार्यों के लिए भूमि अवाप्ति जैसे कार्य समयबद्ध रूप से पूर्ण करवाएं। उन्होंने कहा कि राष्ट्रीय राजमार्ग तथा सीआरआईएफ की सभी परियोजनाओं में पौधारोपण कार्य को आवश्यक रूप से शामिल किया जाए। साथ ही सड़क परिवहन तथा राजमार्ग मंत्रालय के दिशा-निर्देशों के अनुसार सभी नयी परियोजनाओं की डीपीआर में रेन वॉटर हार्वेस्टिंग एवं आर्टिफिशियल रिचार्ज सिस्टम का कार्य शामिल किया जाए।

श्री मीणा गुरुवार को पीडब्ल्यूडी मुख्यालय निर्माण भवन में वीडियो कॉन्फ्रेंस के माध्यम से 6 हजार 804 करोड़ रुपये लागत और 1 हजार 718 किलोमीटर लम्बाई की एनएच तथा सीआरआईएफ परियोजनाओं की समीक्षा कर रहे थे। कुल 94 परियोजनाओं की प्रगति की समीक्षा के दौरान उन्होंने निर्देश दिए कि राजमार्ग विकास की जिन प्रगतिरत परियोजनाओं में पौधारोपण को शामिल नहीं किया गया है, उनमें मंत्रालय से पौधारोपण का प्रावधान नए सिरे से स्वीकृत करवाए जाएं। उन्होंने कहा कि आगामी मानसून मे अधिकाधिक वृक्षारोपण किया जाए।

श्री मीणा ने कहा कि राजमार्गों के किनारे अच्छी लम्बाई के पौधे लगाए जाएं ताकि डिफेक्ट लायबिलिटी पीरियड में पौधों के रखरखाव का प्रावधान होने के कारण डीएलपी अवधि पूरी होने तक ही पेड़-पौधे भली-भांति पनप जाएं। उन्होंने पौधारोपण कार्य को परियोजना के ऑथोरिटी इंजीनियर से सत्यापित करवाने तथा सड़क के साथ-साथ पेड़-पौधों का रखरखाव भी सुनिश्चित करने के निर्देश दिए।

उन्होंने सभी कन्सेशनर, ऑथोरिटी इंजीनियर तथा परियोजना निदेशकों से कहा कि सभी परियोजनाओं का कार्य समय पर एवं गुणवत्तापूर्ण पूरा करवाएं तथा जो कार्य समय पर पूरे नहीं हो पर रहे हैं उनकी परियोजना निदेशक नियमित मॉनिटरिंग करें। साथ ही निर्माण कार्य की गुणवत्ता का हर स्तर पर पूरा ध्यान रखा जाए।


मुख्य अभियंता (एनएच एवं पीपीपी) श्री डीआर मेघवाल ने कहा कि सम्बंधित अधीक्षण अभियंता राजमार्ग विकास की परियोजनाओं की नियमित मॉनिटरिंग करें तथा विद्युत, पीएचईडी व अन्य अधिकारियों से समन्वय बनाए रखते हुए सभी स्तर की प्रक्रियाएं समय पर पूरी करें।

इस अवसर पर सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्रालय के मुख्य अभियंता श्री आलोक दीपांकर तथा पीडब्ल्यूडी के अधीक्षण अभियंता (एनएच) श्री अनुपम गुप्ता भी उपस्थित थे।

Comments

CAPTCHA code

Users Comment