दिल्ली । 40वां अंतर्राष्ट्रीय व्यापार मेला रविवार (14 नवंबर) से शुरू होकर 27 नवंबर तक चलेगा। 14 दिवसीय इस मेले का उद्घाटन केंद्रीय वाणिज्य मंत्री पीयूष गोयल करेंगे। पहले पांच दिन व्यापारी दर्शकों जबकि शेष नौ दिन आम दर्शकों के लिए रहेंगे। मेले में विदेशी सहभागिता इस बार थोड़ी कम होगी। नौ देशों से लगभग 40 कंपनियां भाग ले रही हैं। देश विदेश के कुल करीब तीन हजार भागीदार मेले में शिरकत करेंगे। मेले की आत्मनिर्भर भारत रहेगी और कोरोना प्रोटोकाल का सख्ती से पालन किया जाएगा।

बुधवार को प्रगति मैदान में आयोजित पत्रकार वार्ता में यह जानकारी मेला आयोजक भारतीय व्यापार संवर्धन परिषद (आइटीपीओ) के अध्यक्ष एवं प्रबंध निदेशक एल सी गोयल ने दी। उनके साथ मेले के महाप्रबंधक एस आर साहू सहित कई अन्य अधिकारी भी मौजूद रहे। एलसी गोयल ने बताया कि पिछले साल कोरोना काल में मेला नहीं लग सका था जबकि 2019 में यह केवल 23 हजार वर्ग मीटर क्षेत्र में किया गया था। इस साल यह तीन गुना 70 हजार वर्ग मीटर क्षेत्र में किया जा रहा है।

इस बार चार नए हाल नं. दो, तीन, चार व पांच में भी मेला लगेगा। बिहार पार्टनर और उत्तर प्रदेश व झारखंड फोकस स्टेट रहेंगे। विदेशी भागीदारी अफगानिस्तान, बांग्लादेश, बहरीन, किर्गिस्तान, नेपाल, श्रीलंका, संयुक्त अरब अमीरात, ट्यूनीशिया और तुर्की से रहेगी। पहले की तरह मेले में राज्य दिवस समारोह, सेमिनार और सांस्कृतिक कार्यक्रम भी होंगे। गोयल ने बताया कि मेले के लिए व्यापारी दर्शकों की टिकट बुकिंग शुक्रवार से जबकि आम दर्शकों के लिए 17 नवंबर से शुरू होगी। टिकटें आनलाइन या 65 मेट्रो स्टेशनों से मिलेंगी। टिकटों की दरों में 20 से 30 प्रतिशत का इजाफा किया गया है।

प्रगति मैदान मेट्रो स्टेशन से टिकट नहीं मिलेगी। मेले के प्रवेश द्वारों पर थर्मल स्कैनर लगे रहेंगे। वरिष्ठ नागरिकों के लिए प्रवेश नि:शुल्क रहेगा। पार्किंग नेशनल स्टेडियम और आइपी बस डिपो में होगी, जहां से मेले के लिए शटल सेवा उपलब्ध होगी। PLC

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here