Thursday, November 14th, 2019
Close X

NUJ का 7 दिसंबर को संसद का घेराव - हक़ की लड़ाई में बढ़-चढक़र भाग लेंगे पत्रकार : संजय राठी

sanjayrathee,sanjayrathi,hujsanjayrathee,nujsanjayrathee,jurnalist sanjayrathee,sanjayrathee rohtakआई एन वी सी न्यूज़ रोहतक,

सरकारी सिस्टम के साथ साथ प्राइवेट सिस्टम  द्वारा पत्रकारों पर हमला, दमन और उत्पीड़न के खिलाफ सात दिसंबर को नेशनल यूनियन ऑफ जर्नलिस्टस पत्रकार सुरक्षा कानून को लेकर संसद का घेराव करने के लियें दिल्ली  में  देश  भर  के पत्रकार जुट रहे हैं !  नेशनल यूनियन ऑफ जर्नलिस्ट्स द्वारा 7 दिसम्बर को प्रस्तावित संसद भवन पर धरना/प्रदर्शन को लेकर हरियाणा के पत्रकारों में भारी उत्साह है। प्रदेश भर के पत्रकार भारी संख्या में इस आयोजन में बढ़-चढक़र भाग लेंगे। इस सन्दर्भ में नेशनल यूनियन ऑफ जर्नलिस्ट्स के राष्ट्रीय अध्यक्ष रास बिहारी, महासचिव रतन दीक्षित, संगठन सचिव ललित शर्मा तथा राष्ट्रीय सचिव संदीप मलिक के साथ हरियाणा यूनियन ऑफ जर्नलिस्ट्स के प्रदेशाध्यक्ष संजय राठी से विचार-विमर्श कर कार्यक्रम को सफल बनाने के लिए रणनीति तय की गई है।

उक्त सन्दर्भ में हरियाणा यूनियन ऑफ जर्नलिस्ट्स के प्रदेशाध्यक्ष संजय राठी ने मेवात से वरिष्ठ उपाध्यक्ष सुरेन्द्र दुआ, पंचकुला से उपाध्यक्ष एवं पूर्व राष्ट्रीय कार्यकारिणी सदस्य संजय राय, फरीदाबाद से राष्ट्रीय कार्यकारिणी सदस्य भूपेन्द्र चौधरी, पलवल से प्रदेश सचिव भगत सिंह तेवतिया, गुडगांवा के जिला संयोजक कासिम खान, रिवाड़ी से पूर्व प्रदेश सचिव रामकुमार, रोहतक के जिलाध्यक्ष सुदर्शन सैनी, करनाल के जिलाध्यक्ष गुरमीत सग्गू व वरिष्ठ पत्रकार आर.आर. शैली, सोनीपत के वरिष्ठ पत्रकार योगेश सूद, बहादुरगढ़ से राष्ट्रीय कार्यकारिणी के पूर्व सदस्य कृष्ण गोपाल विद्यार्थी व प्रदेश सचिव ईशान्त राठी, झज्जर से वरिष्ठ पत्रकार श्याम अहलावत, मनमोहन खंडेलवाल, हिसार से वरिष्ठ पत्रकार नरेश सेलपाड़, पानीपत के जिलाध्यक्ष दिनेश मित्तल, रोहतक से उपाध्यक्ष विजय अहलावत, प्रदेश प्रवक्ता रवि मलिक, प्रदेश कोषाध्यक्ष सुभाष बजाज, प्रचार सचिव डॉ. प्रदीप बल्हारा तथा कार्यालय सचिव संजय शर्मा आदि से विचार-विमर्श कर प्रदर्शन को सफल बनाने के लिए जिम्मेदारियां तय की गई हैं। जिसके अनुसार ज्यादा से ज्यादा संख्या में पत्रकारों को दिल्ली प्रदर्शन में शामिल किया जा सके।प्रदेशाध्यक्ष संजय राठी ने बताया कि पूरे देश भर में मीडियाकर्मियों पर लगातार बढ़ रहे हमले बेहद चिंता का विषय हैं। इसके मद्देनजर शीघ्र ही जर्नलिस्ट प्रोटेक्शन एक्ट बनाया जाना अनिवार्य है ताकि पत्रकार साहसपूर्ण, सुरक्षित वातावरण में निष्पक्ष पत्रकारिता कर सकें। इसके अलावा मजीठिया वेज बोर्ड की संस्तुति के अनुरूप पत्रकारों को वेतन प्रदान किया जाना। इसके साथ ही प्रिंट तथा इलेक्ट्रोनिक मीडिया के लिए मीडिया काऊंसिल का गठन किया जाना आदि मांगे प्रमुख हैं। इन्हीं मुद्दों को लेकर नेशनल यूनियन ऑफ जर्नलिस्ट्स के बैनर तले 7 दिसम्बर को 11 बजे संसद भवन पर जोरदार प्रदर्शन किया जायेगा।

Comments

CAPTCHA code

Users Comment