महराजगंज, हाथरस, बलरामपुर के बाद अब महराजगंज जिले में गैंगरेप का मामला सामने आया है. कोठीभार थानाक्षेत्र के एक गांव में नाबालिग बालिका के साथ चार दरिंदों ने सामूहिक दुष्कर्म किया. लड़की जब विरोध की तो उसको बेरहमी से पीट दिया. सामूहिक दुष्कर्म के बाद बालिका शाम तक खेत में अचेत पड़ी रही. होश आने के बाद वह लड़खड़ाते हुए घर पहुंची.

पीड़िता को परिजन आनन-फानन में इलाज के लिए सिसवा प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र ले गए, लेकिन वहां कोई महिला डॉक्टर मौजूद नहीं थी. डॉक्टरों ने प्राथमिक उपचार किया फिर जिला अस्पताल रेफर कर दिया. इस मामले में पीड़िता के पिता की तहरीर पर एक नामजद व तीन अज्ञात आरोपितों के खिलाफ कोठीभार पुलिस गैंगरेप, पॉक्सो एक्ट समेत कई धाराओं में केस दर्ज कर नामजद समेत दो आरोपियों को हिरासत में लेकर पूछताछ शुरू हो गई है.

अभी तक की जांच में जो बातें सामने आई है, उसके मुताबिक नाबालिग किशोरी से कोठीभार थानाक्षेत्र का एक युवक पिछले कई माह से फोन पर बातचीत कर रहा था. नाबालिग बालिका को अपने प्यार की जाल में फंसाया. रविवार को दिन  में 11 बजे फोन कर मिलने के लिए खेत की तरफ बुलाया. बालिका उसकी बातों पर भरोसा कर मिलने पहुंच गई.

खेत में लड़का अपने तीन दोस्त के साथ था. वहां पहुंचने के बाद अश्लील हरकत करने लगे. बालिका ने इसका विरोध किया, लेकिन चारों दरिंदे मारते-पीटते हुए उसके साथ बारी-बारी से दुष्कर्म करते रहे. इससे बालिका बेहोश गई. इसके बाद वह उसे छोड़ कर भाग गए. होश आने के बाद शाम को लड़की किसी तरह घर पहुंची. वहां पहुंचते ही बेहोश हो गई.

घटना की सूचना मिलते ही कांग्रेसी नेताओं का जमावड़ा शुरू हो गया. कानून व्यवस्था बनाए रखने के लिए कोतवाली से पुलिस बुला ली गई. एसपी प्रदीप गुप्ता भी एडीएम कुंज बिहारी अग्रवाल के साथ जिला अस्पताल पहुंच परिजनों से मिले और कहा कि इस मामले में दोषियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी.

कोठीभार थानाक्षेत्र में गैंगरेप की इस घटना के तीन पहले शोहदों से तंग आकर एक युवती अपनी कलाई की नस काट ली थी. दरअसल, आरोपी पिछले सवा महीने से युवती को परेशान कर रहा था. मायूस युवती ने अपने हाथ का नस काट ली. इसके बाद सक्रिय हुई पुलिस ने मुख्य आरोपी समेत दो को गिरफ्तार कर लिया. plc.

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here