कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने आगामी चुनावों को लेकर हिंदू का एजेंडा पकड़ लिया है।इस लेकर जयपुर में कांग्रेस ने महंगाई हटाओ रैली निकाली है।इसमें राहुल गांधी ने ‘हिंदू और हिंदुत्ववादी’ को लेकर बयान दिया है।राहुल ने कहा कि अब हिंदुओं को सत्ता में लाना है, हिंदुत्ववादियों को नहीं।राहुल गांधी के इस बयान के बाद एआईएमआईएम के प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी ने सवाल किया,आवैसी ने पूछा कि कांग्रेस ने क्या यही सेक्युलर एजेंडा तय किया है।

आवैसी ने टवीट कर लिखा कि राहुल गांधी और कांग्रेस दोनों ने मिलकर हिंदुत्व के लिए जमीन तैयार की है। उन्होंने कहा कि अब वे बहुसंख्यकवाद की फसल काटने की कोशिश कर रहे हैं। ओवैसी ने तंज करते कहा कि वर्ष 2021 में हिंदुओं को सत्ता में लाने का धर्मनिरपेक्ष एजेंडा तय किया गया है, वाह! साथ ही ओवैसी ने कहा कि भारत सबका है। यह देश अकेले हिंदू का नहीं है।ओवैसी ने कहा कि भारत सभी धर्मों के लोगों का है और उन लोगों का भी है, जिनका किसी भी धर्म में कोई विश्वास नहीं है।

बता दें कि महंगाई हटाओ रैली को संबोधित करते हुए राहुल गांधी ने जयपुर में कहा है कि दो शब्दों की आत्मा एक जैसी नहीं हो सकती। ये दो शब्द हैं हिन्दू और हिन्दुत्ववादी।इन दो शब्दों की आत्मा एक जैसी नहीं हो सकती है।कांग्रेस नेता ने कहा है कि मैं हिन्दू हूं, लेकिन हिन्दुत्ववादी नहीं हूं। PLC

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here