केंद्रीय मंत्री जीके रेड्डी ने कांग्रेस नेता व पूर्व केंद्रीय मंत्री सलमान खुर्शीद को आड़े हाथों लिया और उनके द्वारा लिखी गई किताब ‘सनराइज ओवर अयोध्या: नेशनहुड इन आवर टाइम्स’ की निंदा की। केंद्रीय मंत्री ने कहा ‎कि वरिष्ठ कांग्रेसी नेता द्वारा दिया गया इस तरह का बयान सराहनीय नहीं है। भारत में जब तक हिंदुओं की मौजूदगी है, यहां समाजवाद है। जिस दिन वे अल्पसंख्यक बन जाएंगे उस दिन देश से पाकिस्तान और बांग्लादेश की तरह ही सेक्युलरिज्म खत्म हो जाएगा। उन्होंने कहा ‎कि आज देश में हिंदू, मुस्लिम, सिख, ईसाई भाईचारे में जी रहे हैं। चुनाव से पहले कांग्रेस धर्म के आधार पर शांति भंग करने की कोशिश करती है। जम्मू-कश्मीर को छोड़कर पिछले 7 साल में कहीं भी कोई सांप्रदायिक संकट, कर्फ्यू, बम विस्फोट, आतंकवादी घटनाएं नहीं हुई हैं। इससे पहले केंद्रीय मंत्री आरके सिंह ने भी कांग्रेस नेता सलमान खुर्शीद को उनकी किताब में हिंदू धर्म की तुलना आतंकी समूहों से करने के लिए फटकार लगाई। उन्होंने कहा ‎कि यह वही शख्स हैं, जो पाकिस्तान गए थे और वहां की सैन्य अकादमी में ठहरकर भारत के हितों को नुकसान पहुंचाया था। खुर्शीद वही शख्स हैं जिन पर केंद्र की ओर से विकलांगों के लिए दिए गए पैसे के गबन का आरोप लगा था।
केंद्रीय ऊर्जा मंत्री ने कहा ‎कि यह बहुत शर्म की बात है कि खुर्शीद ने पूरे धर्म को इस तरह से बदनाम किया है, जो सहनशीलता से परे है। उन्होंने कहा ‎कि कांग्रेस क्या कर रही है? आप लोगों की धार्मिक भावनाओं को आहत कर रहे हैं और सोच रहे हैं कि हम इसे सहन कर लेंगे। आपको अपने दिमाग का थोड़ा इस्तेमाल करना चाहिए। अपनी किताब ‘सनराइज ओवर अयोध्या’ को लेकर पैदा हुए विवाद के बीच कांग्रेस नेता और पूर्व केंद्रीय मंत्री सलमान खुर्शीद ने कहा कि उन्होंने यह किताब हिंदू-मुस्लिम एकता को बढ़ावा देने के लिए लिखी थी। जो कोई भी राजनीति करना चाहेगा, करेगा और जो कोई किताब लिखना चाहेगा लिखेगा। मेरी पुस्तक हिंदू-मुस्लिम एकता को बढ़ावा देने और लोगों को यह समझाने के लिए है कि सुप्रीम कोर्ट का अयोध्या पर फैसला एक अच्छा फैसला था। plc

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here