Thursday, January 30th, 2020

Man Vs Wild में दिखेंगे PM मोदी

 

नई दिल्‍ली: डिस्‍कवरी चैनल के मशहूर टीवी शो मैन वर्सेज वाइल्‍ड (Man Vs Wild) में पीएम मोदी ने हिस्‍सा लिया है. अंतरराष्‍ट्रीय बाघ दिवस (International Tiger Day) के मौके पर जैसे ही इस शो के होस्‍ट बियर ग्रिल्‍स ने इस शो का टीजर जारी किया, उसके एक घंटे के भीतर ही यह भारत के टॉप ट्विटर ट्रेंड में शामिल हो गया. वन्‍य जीव संरक्षण और जलवायु परिवर्तन के खतरों के प्रति लोगों में जागरूकता फैलाने के लिए पीएम मोदी इस प्रोग्राम का हिस्‍सा बने हैं.

पीएम मोदी ने भी ट्वीट कर कहा कि शो में आप घने हरे जंगल, विविधतापूर्ण वन्‍यजीव , खूबसूरत पहाड़ों और उदार नदियों से रूबरू होंगे. इस प्रोग्राम को देखने के बाद आप देश के विभिन्‍न हिस्‍सों में घूमना चाहेंगे और पर्यावरण संरक्षण की मुहिम का हिस्‍सा बनेंगे. उन्‍होंने प्रोग्राम के लिए बियर ग्रिल्‍स का आभार भी प्रकट किया. बियर ग्रिल्‍स ने पीएम मोदी को ट्वीट कर कहा कि आपके साथ इस तरह की यात्रा करना मेरे लिए सम्‍मान की बात है.
वैसे टीवी शो मैन वर्सेज वाइल्‍ड (Man Vs Wild) दुनिया के सबसे लोकप्रिय कार्यक्रमों में शुमार है. दुनियाभर की कई प्रसिद्ध हस्तियां इस शो का हिस्‍सा रही हैं. दिसंबर, 2015 में अमेरिका के तत्‍कालीन राष्‍ट्रपति बराक ओबामा ने भी इस कार्यक्रम में हिस्‍सा लिया था. उस प्रोग्राम को अमेरिका के अलास्‍का में शूट किया गया था. उसमें होस्‍ट बियर ग्रिल्‍स ने ओबामा को मछली भी खिलाई थी, जिसको थोड़ी हिचक के साथ ओबामा ने खाया था. उस प्रोग्राम को भी पूरी दुनिया में देखा गया था और बेहद लोकप्रिय हुआ था.

अंतरराष्‍ट्रीय बाघ दिवस
बियर Man Vs Wild जैसे लोकप्रिय प्रोग्राम पेश करते हैं. बियर ने इस संदर्भ में ट्वीट कर कहा, ''वन्‍य जीव संरक्षण और जलवायु परिवर्तन के मुद्दे पर 180 देशों के लोग पीएम मोदी के उस पक्ष से रूबरू होंगे जो अभी तक सामने नहीं आया है.''
इसके साथ ही उन्‍होंने कहा कि डिस्‍कवरी इंडिया पर यह प्रोग्राम 12 अगस्‍त को रात नौ बजे दिखाया जाएगा.
बाघों की संख्‍या दोगुनी
अंतरराष्‍ट्रीय बाघ दिवस ( International Tiger Day) पर बोलते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि इस अवसर पर बाघों की सुरक्षा के संबंध में हम अपनी प्रतिबद्धता दोहराते हैं. बाघों की संख्‍या के बारे में जो आंकड़े जारी किए गए हैं, उससे प्रत्‍येक भारतीय को गर्व होगा. नौ साल पहले यानी 2010 में रूस के सेंट पीट्सबर्ग में अंतरराष्‍ट्रीय बिरादरी के समक्ष 2022 तक बाघों की संख्‍या दोगुना करने का लक्ष्‍य रखा गया था. हमने चार साल पहले ही बाघों के बचाने के लक्ष्‍य को हासिल कर लिया. उन्‍होंने कहा कि भारत बाघों के संरक्षण के लिए दुनिया में सबसे बेहतरीन जगह है. बाघों की गणना के संबंध में उन्‍होंने आंकड़े जारी करते हुए कहा कि 2014 में बाघों की संख्‍या 2,226 थी. 2018 में यह बढ़कर 2,967 हो गई.
इस दौरान केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने कहा कि कुछ साल पहले देश भर में कुल 1400 बाघ ही बचे थे लेकिन बाघों की संख्‍या बढ़कर अब 2,967 हो गई है. ये वाकई बेहद खुशी की बात है. उन्‍होंने कहा कि बाघों की संख्‍या के संबंध में 3 लाख 80 हजार वर्ग किमी का सर्वे हुआ. 26 हजार कैमरा ट्रैप्स लगे थे. 3.5 लाख फोटो आये और उसमें 76 हजार टाइगर फोटो आए.

उन्‍होंने कहा कि इस काम में पीएम मोदी ने हमारा मार्गदर्शन किया. नतीजतन पिछले 5 साल में वन क्षेत्र बढ़ा है. 15 हजार वर्ग किमी से ज्यादा फारेस्ट कवर बढ़ा है. सारे जीवन प्राणी हमारे जीवन का हिस्सा हैं. आज पूरी दुनिया सलाम करेगी कि बाघों के विकास का इतना बड़ा काम भारत ने किया है. बाघों की गणना का ब्यौरा हर चार साल में जारी किया जाता है. पिछली गणना वर्ष 2014 में हुई थी.

Comments

CAPTCHA code

Users Comment