Close X
Friday, September 24th, 2021

भगवान शिव का सबसे प्रिय माह सावन     

हमारे भारतीय पौराणिक ग्रंथों की बात करें तो सावन के महीने को बहुत ही पवित्र माना जाता है । भगवान शिव का हर भक्त इस खास महीने का इंतजार बेसब्री से करता है।

देखा जाए तो पूरे भारत में इस पवित्र महीने को बड़े ही धूमधाम के साथ मनाया जाता है। वहीं, हमारे शास्त्रों के अनुसार सावन के महीने को भगवान शिव का सबसे प्रिय माह भी माना गया है ।

साल 2021 का सावन माह -

हिंदू कैलेंडर के मुताबिक पांचवा महीना सावन का ही होता है और सावन में पड़ने वाले हर सोमवार का महत्व भी बहुत माना जाता है। आपकी जानकारी के लिए साल 2021 के श्रावण माह की शुरुआत 25 जुलाई, 2021 से हो जाएगी और इसकी समाप्ति 22 अगस्त, 2021 को होगी। वहीं, 26 जुलाई को इसका पहला सोमवार पड़ेगा।

आज वेद संसार आपको बताने जा रहा है कि सभी शिव भक्त सावन में पड़ने वाले हर सोमवार के दिन कैसे पूरे विधि विधान के साथ व्रत रख सकते हैं और पूजा किस तरह से कर सकते हैं -

सबसे पहले जानते हैं कि श्रावण माह के सोमवार की क्या है पूजा विधि - श्रावण माह में सोमवार के व्रत के दिन भगवान शिव और माता पार्वती दोनों की ही पूजा व अर्चना की जाती है। सोमवार के दिन आप सुबह जल्दी से उठ जाए और स्नान करने के बाद ही अपने व्रत का संकल्प लें।

अब आप व्रत का संकल्प ले लें और उसके बाद भगवान शिव और माता पार्वती की मूर्ति को स्थापित कर उसका जलाभिषेक भी करें। याद से शिवलिंग पर फूल, धतूरा, दूध आदि को अर्पित अवश्य करें । यही नहीं, मंत्रोच्चार करते हुए भगवान शिव को सुपारी, नारियल, बेल की पत्तियां और पंच अमृत भी चढाएं । इसी के साथ माता पार्वती को सोलह श्रृंगार की चीजें भी ज़रूर अर्पित करें।

ध्यान रहे कि यह सब करने के बाद भ गवान के समक्ष आप तिल के तेल का दीप, धूप और अगरबत्ती ज़रूर जलाएं । दीप जलाने के बाद भगवान के सामने शांत बैठ कर ॐ नमः शिवाय मंत्र का जाप सच्चे मन से करें । अब अंत में शिव आरती और शिव चालीसा को श्रद्धापूर्वक पढ़ें । इसी के साथ पूजा जब समाप्त हो जाए तो सभी भक्तजनों के बीच प्रसाद का वितरण अवश्य करें। शिव पूजा समाप्त होने के बाद सोमवार व्रत की कथा सुनना बहुत जरूरी होता है। कोशिश करें कि पूरे दिन में कम से कम दो बार तो ज़रूर आप भगवान शिव की प्रार्थना करें। अब आप शाम के समय पूजा समाप्त कर लेने के बाद ही व्रत को खोलें और सामान्य भोजन करें।

तो दोस्तों, आपने कई लोगों को सावन माह के दौरान सोमवारी व्रत तो करते हुए ज़रूर देखा होगा, पर इसके क्या सही नियम व पूजा विधि है यह शायद ही आप जानते होंगे. पर अब से जब भी आप व्रत करेंगे तो वेद संसार द्वारा बताए गए सभी बातों को समझेंगे और सही तरीके से पूजा व अर्चना करेंगे।

बोलो हर हर महादेव!!! ऊं नम: शिवाय! PLC.

Comments

CAPTCHA code

Users Comment