मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री व राज्यसभा सदस्य दिग्व‍िजय सिंह ने कहा कि मध्य प्रदेश में कानून व्यवस्था चौपट होकर अपराध‍ियों को संरक्षण मिला हुआ है। शासन-प्रशासन पूरे तरीके से भेदभाव का व्यवहार कर रहा है। इन्दौर की ही बात करें, तो जिनके ऊपर साधारण से प्रकरण है, उन्हें जिला बदर किया जा रहा है, जो आद्यतन अपराधी है, जिन पर हत्या के प्रयास, लूट, आर्म्स एक्ट आदि अनेक अपराध दर्ज है, उनपर कोई कार्यवाही नहीं हो रही है। उनकी हिम्मत इतनी बढ़ी हुई है कि मंत्री के गले में सोने की चेन वो लोग पहनाते है, जो आद्यतन अपराधी है।
मंगलवार को इन्दौर में कांग्रेस द्वारा जिला प्रशासन के खिलाफ निकाली गई एक रैली में भाग लेने के बाद दिग्व‍िजय सिंह पत्रकारों से चर्चा कर रहे थे। उन्होंने आरोप लगाया कि राज्य प्रशासन निर्दोष कांग्रेस नेताओं को (आपराधिक मामलों में) फंसा रहा है। उनके मकानों को अवैध घोषित कर ढहाया जा रहा है और भाजपा के इशारों पर उनका उत्पीड़न किया जा रहा है। दिग्विजय सिंह ने कहा कि विपक्षी पार्टी कांग्रेस, प्रदेश सरकार और प्रशासन के इस दमनकारी व्यवहार को कतई स्वीकार नहीं करेगी और इसके खिलाफ विधानसभा के साथ-साथ सड़कों पर लड़ेगी।
उन्होंने सवाल करते हुए कहा कि साल 2004 से लेकर अब तक (कमलनाथजी के कार्यकाल को छोड़कर) पूरे समय पर अगर शासकीय ज़मीन पर कब्जा हुआ है, तो इसके लिए कौन दोषी है? यहां भी शक्ल देखकर कार्रवाई की जा रही है। कई कॉलोनी और कई क्षेत्र सरपंच की मंजूरी के आधार पर बहुमंजिला भवन बन गए, वहीं कुछ भवन गिराये जाते है, लेकिन बगल में उन्हीं हालातों में जो कॉलोनी और भवन बने हुए है, उन्हें टच नहीं किया जाता। इसी प्रकार पूरे प्रदेश में चूंकि मास्टर प्लान लागू नहीं किया, उसके कारण सरकारी ज़मीनों पर अवैध कॉलोनियॉं और निर्माण प्रदेश में विशेषकर इन्दौर में धडल्ले से हुआ है। उन्होंने कहा कि श‍िवराजसिंह अब जागे है, कि हम लोग माफ‍िया के ख‍िलाफ कार्यवाही करेंगे। भाजपा के राज में माफ‍ियाओं को संरक्षण किन लोगों का था, आप ही लोगों का था। ये बहुत बड़ा प्रकरण है और अब तो हालात यह हो गये है कि शराब के ठेकेदारों के झगड़ों/मिटिंग में गोलियां चल रही है। उसमें भाजपा का एक गुट कुछ कहता है, और गुट कुछ कहता है। कानून व्यवस्था चौपट है और अपराध‍ियों को संरक्षण मिला हुआ है। उन्होने कहा कि जिन लोगों ने एक चुड़ी बेचने वाले से मारपीट कर पैसा छुडाया, उनको गिरफ्तार कर लिया, लेकिन जो लोग बीच बचाओ के लिए गए प्रशासन के आग्रह पर गए उन पर केस बना दिया गया और उन्हें जिला बदर कर दिया। राजू भदौरिया का जिक्र करते हुए उन्होने कहा कि छोटे मोटे राजनीतिक विवाद हो जाते है, उनके ऊपर प्रकरण थे, लेकिन जिला बदर का प्रकरण तो बनता नहीं था।
दिग्व‍िजय ने कहा कि हालात कुछ सालों में कितने बिगड़ गये है, सीएमआई की रिपोर्ट देख लें। मीडिया में सवा 10 लाख लोग जो सेवा कर रहे थे, वो आज घटकर पौने तीन लाख लोग रह गये है। 7-8 लाख लोग मीडिया में ही बेरोजगार हो गये है। आप दूसरे क्षेत्रों की बात तो छोड़ दीजिए। छोटे और मध्यम उद्योग समाप्त हो गए है। किसानों के लिए जो कानून लाए गए है, किसानों से कोई चर्चा नहीं की गई है। पूरी तरह कृष‍ि व्यापार पर मल्टीनेशल का कब्जा कराने के लिए ये कानून लाए है। इन कानूनों से केवल किसान का नुकसान नहीं है, लेकिन उपभोक्ताओं व मजदूरों का भी नुकसान है। किसानों के हालात ख़राब है, इन्हें किसान सम्मान न‍िध‍ि दी जाती है, लेकिन डीज़ल, खाद और दवाइयों के भाव बढ़ते जा रहे है। अभी खाद के भाव 30 प्रतिशत बढ़ाये है। कृष‍ि उपज के भाव घट रहे है। उन्होने कहा कि मोदी ने वादा किया था 2022 तक किसानों की आमदनी दोगुनी कर देंगे, लेकिन जनाब उनके हालात बिगड़ते चले जा रहे है। 10 माह से अध‍िक समय से किसान धरना दे रहे है और मोदीजी को फुर्सत नहीं है। उन्होने मीडिया से कहा कि कभी बेरोजगारी और महंगाई पर भी बात किया करें, कभी शासकीय सम्पत्त‍ि बेचने पर भी बात किया करें। वो आप करना नहीं चाहते। ये कहते है कि कांग्रेस ने कुछ नहीं किया, 47 से लेकर आज तक जो कारखाने डाले गए, लाईफ इंश्योरेंस 10 हजार करोड़ का डिविडेंट देता है, उसको निजी हाथों में सौंपा जा रहा है। उसके डिसइन्वेस्टमेंट से पैसा लेकर वे अपने बजट की पूर्ति कर रहे है और खर्चिले प्रोजेक्ट लिए जा रहे है। नया संसद भवन बनना चाहिये? प्रधानमंत्री और उप राष्ट्रपति का महल बनना चाहिये? सेन्ट्रल विस्टा जो भारत की शान थी, उसको तोड़ा जा रहा है समेटा जा रहा है। संसद भवन की अच्छी बिल्ड‍िंग है, इंग्लैंड में 250 पुराने भवन में कोई परिवर्तन नहीं है, लेकिन मोदीजी को ये पसंद नहीं था और बिना टेंडर लगाए और बिना लोगों से चर्चा करें, उन्होंने पूरे भवन की तोड़फोड़ शुरू कर दी और कल-परसो जाकर फोटो भी ख‍िचवाई है। उन्होने माना कि अब न‍िश्च‍ित तौर पर कांग्रेस को महंगाई जैसे मुद्दों पर आक्राम रूख लेना पड़ेगा।
:: अधिकारी भाजपा के कार्यकर्ता बनकर काम कर रहे ::
कांग्रेस की रैली पर प्रशासन द्वारा प्रकरण दर्ज करने पर द‍िग्व‍िजय सिंह ने कहा कि यही तो हो रहा है। जब केंद्रीय मंत्री का रोड़ शो हो या युवा मोर्चा अध्यक्ष रैली निकालें तो प्रकरण दर्ज नहीं होता। अधिकारी भाजपा के कार्यकर्ता बनकर काम कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि सरकारी अधिकारियों को अपने कर्तव्यों का निर्वहन करते समय संविधान का पालन करना चाहिए।
:: भाजपा बदलाव करे तो मास्टर स्ट्रोक हम करें तो अव्यवस्था ::
पंजाब में कांग्रेस अध्यक्ष नवजोतसिंह सिद्धू के त्यागपत्र पर पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह ने कुछ भी बोलने से इन्कार कर दिया। इस मामले पर पत्रकारों द्वारा पूछे गए सवालों पर सिंह ने प्रतिप्रश्न के अंदाज में कहा कि यदि बदलाव भाजपा करती है तो वह मास्टर स्ट्रोक और हम करें तो अव्यवस्था!
पूर्व मुख्यमंत्री सिंह ने सरस्वती शिशु मंदिरों पर दिए अपने बयान पर कहा कि मैं उस विचारधारा के खिलाफ हूं और लड़ाई कर रहा हूं, जो सद्भाव बिगाड़ती है। मेरा बयान उन लोगों के खिलाफ है जो ऐसी विचारधारा को पनपने में मदद करते हैं। छात्र उसमें पढ़ते हैं, उनके बारे में मुझे कुछ नहीं कहना।
:: मेरी कुंडली में लिखा है मैं जो काम करूंगा, उसका श्रेय नहीं है ::
गोवा में पूर्व मंत्री के दलबदल पर दिग्व‍िजय सिंह ने कहा कि गडकरीजी ने सही कहा था कि मंत्री पद पाने के लिए लोग दलबदल कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि गोवा में 6 से हम 18 सीटों तक पहुंचे थे, लेकिन मेरी कुंडली में लिखा है कि जो काम मैं करूंगा, उसका श्रेय मुझे नहीं मिलेगा। पूर्व मुख्यमंत्री सिंह ने दावा किया कि खंडवा उपचुनाव में भी लोगों का गुस्सा भाजपा की हार के रूप में निकलेगा। यह पूछे जाने पर कि मध्य प्रदेश में मुख्यमंत्री बदला जा रहा है, इस पर उन्होंने कहा कि निश्च‍ित तौर पर बदलाव हो रहा है और होगा। PLC

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here