Tuesday, February 25th, 2020

IRCTC की कमाई में जबरदस्त उछाल

नई दिल्ली । ट्रेन से सफर करने के लिए टिकट बुकिंग का सबसे आसान तरीका आईआरसीटीसी की वेबसाइट और मोबाइल एप से टिकट बुक करना है। आईआरसीटीसी इसके लिए कुछ शुल्क भी लेती हैं। लेकिन बता दें कि अक्टूबर-नवंबर और दिसंबर महीने में इंटरनेट टिकट बुकिंग के द्वारा आईआरसीटीसी की आमदनी तीन गुना बढ़कर 227 करोड़ हो गई हैं। वहीं, इस दौरान आईआरसीटीसी ने पानी यानी रेल नीर को बेचकर कुल 58.6 करोड़ की कमाई की हैं। ये 42 फीसदी बढ़ी हैं। आईआरसीटीसी ने गुरुवार को अपने तिमाही नतीजों की घोषणा की। अक्टूबर-नवंबर और दिसंबर में कंपनी की आमदनी 435 करोड़ से बढ़कर 716 करोड़ हो गई हैं। वहीं,मुनाफा 73.6 करोड़ से बढ़कर 206 करोड़ हो गया है, यानी मुनाफे में 180 फीसदी का उछाल आया हैं। इसके साथ ही आईआरसीटीसी ने अपने निवेशकों को खुश करने के लिए 10 रुपये प्रति शेयर का डिविडेंड देने की बात कही है। केटरिंग यानी ट्रेन में खाना बेचने से आईआरसीटीसी को दिसंबर तिमाही में 269 करोड़ की आय हुई है। यह 8.23 फीसदी बढ़ी हैं।इसके पहले वित्त वर्ष यानी साल 2018 की अक्टूबर-दिसंबर तिमाही से आमदनी 249 करोड़ रही थी।
वहीं देश के प्रमुख धार्मिक और पर्यटक स्थलों के लिए टूरिज्म पैकेज बेचकर आईआरसीटीसी ने दिसंबर तिमाही में 95 करोड़ की कमाई की हैं। इसमें 15 फीसदी की ग्रोथ आई है। इसके पिछले वित्तवर्ष यानी साल 2018 की अक्टूबर-दिसंबर तिमाही से आमदनी 82.75 करोड़ रही थी। बता दें कि आईआरसीटीसी देश की पहली दो प्राइवेट ट्रेन लखनऊ-दिल्ली तेजस एक्सप्रेस और अहमदाबाद-मुंबई तेजस एक्सप्रेस का संचालन कर रही है। अब इंदौर-वाराणसी रूट पर आईआरसीटीसी तीसरी प्राइवेट ट्रेन चलाएगी। काशी महाकाल एक्सप्रेस चलने को तैयार है। उम्मीद है कि इस ट्रेन को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 16 फरवरी को अपने संसदीय क्षेत्र वाराणसी से हरी झंडी दिखा सकते हैं। ये ट्रेन वाराणसी में बाबा विश्वनाथ, उज्जैन में महाकालेश्वर और इंदौर में ओंकारेश्वर ज्योर्तिलिंग के श्रद्धालुओं को दर्शन कराएगी। PLC.

Comments

CAPTCHA code

Users Comment