इंदिरा एकादशी 2022 : ऐसे कर्ज और जीवन भर के कष्टों से मुक्ति पाएं

आश्विन माह के कृष्ण पक्ष की एकादशी तिथि को इंदिरा एकादशी का व्रत रखा जाता है. इस साल इंदिरा एकादशी का व्रत 21 सितंबर 2022, दिन मंगलवार को रखा जाएगा.

इस दिन भगवान विष्णु की विधिवत पूजा की जाती है. पितृपक्ष के दौरान पड़ने के कारण इस एकादशी पर श्री हरी विष्णु की कृपा से पितरों को स्वर्ग की प्राप्ति होती है. माना जाता है कि जो लोग हर तरह के कष्टों से छुटकारा पाकर सुख-समृद्धि मृत्यु के बाद मोक्ष चाहते हैं, उन्हें इस व्रत को जरूर रखना चाहिए. इस दिन कुछ विशेष उपाय कर पितृ दोष से मुक्ति मिल सकती है, साथ ही भगवान विष्णु की विशेष कृपा बरसती है. ऐसे में चलिए जानते हैं इंदिरा एकादशी के उन उपायों के बारे में.

– इंदिरा एकादशी पर सूर्यास्त के समय तुलसी के समक्ष घी का दीपक जलाकर ‘ॐ वासुदेवाय नमः’ मंत्र का जाप करते हुए तुलसी की 11 परिक्रमा करें. मान्यता है इससे सौभाग्य में वृद्धि होती है. घर में सुख-शांति का माहौल बना रहता है.

– कर्ज में डूबे लोगों को इंदिरा एकादशी के दिन भगवान विष्णु को पीले रंग की वस्तु जैसे पीले फूल, पीला फल(केला), पीला अनाज(अरहर दाल) पूजा में अर्पित करना चाहिए. इसके बाद इन सामग्री को गरीब या जरूरतमंदों में बांट दें. ऐसा करने पर कर्ज का बोझ कम होता जाएगा.

– निर्धता दूर करने के लिए इंदिरा एकादशी के दिन पीपल के पेड़़ में सरसों के तेल का दीपक लगाने से पितरों की आत्मा को शांति मिलती है. साथ ही दरिद्रता का नाश होता है.

– इंदिरा एकादशी के दिन घर में विष्णु सहस्त्रनाम का पाठ भजन-कीर्तन करने से नकारात्मकता दूर होती है. परिवार में क्लेश नहीं होता. हर कार्य में सिद्धि प्राप्त होती है. PLC/

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here