नई दिल्ली । भारतीय महिला टेनिस स्टार सानिया मिर्जा आगामी टोक्यो ओलंपिक खेलों में उतरते ही एक अहम रिकार्ड अपने नाम करेगी। सानिया चौथी बार ओलंपिक खेलने वाली पहली भारतीय महिला खिलाड़ी बन जाएगी।   सानिया ने कहा कि मेरा अब तक का सफर  बहुत ही शानदार रहा है। यह बस अपने आप में विश्वास करने और अपनी क्षमताओं में विश्वास करने की बात है। मैं अभी 30 के दशक में हूँ और मैं इस बारे में बिलकुल भी नहीं सोचती कि मैं कब तक कब तक खेलूंगी। यह बस हर दिन की बात है। मैं इसे लेकर भविष्य के बारे में ज्यादा नहीं सोचती। साल 2018 में एक बच्चे को जन्म देने के बाद सानिया ने करीब ड़ेढ़ साल के बाद होबार्ट इंटरनेशनल डब्लूटीए टूर्नामेंट जीतकर खेल में वापसी की थी। सानिया ने साल 2016 में पिछले रियो ओलंपिक्स में मिश्रित युगल स्पर्धा में रोहन बोपन्ना के साथ चौथा स्थान हासिल किया था।  सानिया ने कहा कि यह मेरे जीवन का सबसे निराशाजनक क्षण था कि मैं पदक के इतने पास आकर भी इसे जीत नहीं पायी। मुझे अब ओलंपिक में देश की तरफ से उतरने का इंतजार है। मुझे भारत की तरफ से खेलना बहुत पसंद है। चाहे मैं जहाँ भी खेलूं पर ओलंपिक में देश के लिए खेलना मेरे लिए क्या सभी एथलीटों के लिए बड़े गर्व की बात है। मुझे बताया गया है कि मैं जब ओलम्पिक में उतरूंगी तो मैं किसी महिला द्वारा किसी और के साथ टीम बनाकर सर्वाधिक ओलंपिक खेलने वाली पहली महिला खिलाड़ी बन जाउंगी, जिस पर मुझे गर्व है। PLC.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here