डॉ शर्मा ने कहा कि कोटा में तकनीकी विश्वविद्यालय एवं तीन अन्य विश्वविद्यालय होने के बावजूद चंबल नदी का जल केमिकल की दृष्टि से अत्यधिक प्रदूषित हो चुका है और कोई भी विश्वविद्यालय इस पर शोध नहीं कर रहा

 

आई एन वी सी न्यूज़
नई दिल्ली ,

केशोरायपाटन! केशवरायपाटन स्थित योगेश्वर भगवान केशव राय   के प्रमुख महंत पंडित जमुना लाल शर्मा ने पूर्व मुख्यमंत्री एवं भारतीय जनता पार्टी की राष्ट्रीय उपाध्यक्षा श्रीमती वसुंधरा राजे के जन्मदिवस पर आयोजित विशेष यज्ञ, हवन एवं चंबल आरती के दौरान आशीर्वचन देकर शुभकामनाएं दीं। इस अवसर पर पंडित जमुना लाल शर्मा, पंडित दीपक शर्मा, पंडित सुधीर शर्मा ने भगवान केशव राय का एक वृत्तचित्र भी वसुंधरा राजे को भेंट किया।

इस अवसर पर राजस्थान सरकार के देवस्थान विभाग न्यास बोर्ड के अध्यक्ष श्री एसडी शर्मा, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के स्वच्छ भारत मिशन के राष्ट्रीय ब्रांड एंबेसडर एवं यूनाइटेड नेशंस के अंतरराष्ट्रीय सलाहकार डॉ डीपी शर्मा के साथ-साथ अनेकों विधायक इस अवसर पर मौजूद रहे।

101 पंडितों की भव्य उपस्थिति में विशेष हवन एवं पहली बार हजारों की संख्या में दीप ज्योति के साथ चंबल आरती का शुभारंभ केशव राय भगवान के मंदिर प्रांगण में केशवरायपाटन के चंबल तट पर आयोजित किया गया।

स्वच्छ भारत मिशन के राष्ट्रीय ब्रांड एंबेसडर डीपी शर्मा ने कहा कि यद्यपि यह एक सामाजिक, धार्मिक एवं राजनीतिक कार्यक्रम की एक श्रंखला समागम है परंतु फिर भी इस आयोजन से चंबल नदी की स्वच्छता एवं उसके पाटों की स्वच्छ दिव्यता का जो संदेश जन सहयोग से दिया गया ऐसे कार्यक्रम अति प्रशंसनीय हैं।

डॉ शर्मा ने कहा कि कोटा में तकनीकी विश्वविद्यालय एवं तीन अन्य विश्वविद्यालय होने के बावजूद चंबल नदी का जल केमिकल की दृष्टि से अत्यधिक प्रदूषित हो चुका है और कोई भी विश्वविद्यालय इस पर शोध नहीं कर रहा। यह चिंतनीय प्रश्न है। इसको जन सहभागिता एवं प्रतिदिन दिव्य दीपदान के माध्यम से और अधिक स्वच्छ बनाया जा सकता है ताकि प्रधानमंत्री मोदी के स्वच्छ भारत मिशन को और अधिक सफल बनाया जा सके।

 

उन्होंने बताया कि साल भर पहले जब वह चंबल नदी पर एक निजी यात्रा के दौरान आए थे तब भी यहां गंदगी फैली हुई थी मगर सुकून है कि आज गंदगी साफ हो चुकी है। उन्होंने कहा कि यह महत्वपूर्ण नहीं है कि कोई पूर्व मुख्यमंत्री या वर्तमान मुख्यमंत्री ऐसे कार्यक्रमों में सम्मिलित होने के लिए आता है तो स्वच्छता का संदेश जाता है। महत्वपूर्ण यह है इस तरह के कार्यक्रम अगर देश की सार्वभौमिक स्वच्छता को सुनिश्चित करते हैं तो उनकी प्रशंसा की जानी चाहिए। वसुंधरा राजे के इस कार्यक्रम की चारों तरफ प्रशंसा हो रही है जिसमें हजारों लोग उपस्थित हुए।
 
डॉ शर्मा ने धौलपुर जिले से अपील करते हुए कहा कि वसुंधरा राजे धौलपुर की रहने वालीं हैं। यदि वे धौलपुर जिले के चंबल तट पर भी इस तरह के जल स्वच्छता से जुड़े, दिव्यता से जुड़े कार्यक्रमों को सामाजिक सहयोग से शुरुआत करवाती हैं तो यह पर्यावरण की स्वच्छता के लिए अत्यंत ही प्रशंसनीय कदम हो सकता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here