Close X
Wednesday, October 28th, 2020

ब्याज मुक्त कर्ज के साथ ही परिचय पत्र भी मिलेंगे


आई एन वी सी न्यूज़
भोपाल,

मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि मध्यप्रदेश के ग्रामीण स्ट्रीट वेंडर्स के व्यवसाय को मजबूत आधार देने के लिए उन्हें 10 हजार रुपये का ब्याज मुक्त कर्ज देने की योजना अमल में लाई गई है। सभी वेंडर्स अपना कार्य सम्मानजनक ढंग से कर सकें, इसलिए इन सभी को परिचय पत्र प्रदान किए जाएंगे। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा बड़ी कंपनियों को छोटे व्यवसायियों का व्यवसाय छीनने नहीं देंगे। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने पथ विक्रेताओं को संबोधित करते हुए कहा कि आपकी मेहनत पर विश्वास है इसलिए मैं आपके ऋण की गारंटी ले रहा हूँ और इस ऋण का ब्याज भी सरकार ही चुकायेगी।

मुख्यमंत्री श्री चौहान आज मिंटो हाल, भोपाल में ग्रामीण लघु व्यवसायियों (स्ट्रीट वेंडर्स) के ऋण वितरण कार्यक्रम को संबोधित कर रहे थे। कार्यक्रम का प्रसारण पूरे प्रदेश में किया गया। विभिन्न सोशल मीडिया के माध्यमों से भी लाखों लोग कार्यक्रम से लाइव जुड़े। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने इस अवसर पर हितग्राहियों से संवाद किया। कार्यक्रम का शुभारंभ मध्यप्रदेश गान से हुआ। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि हमारे सब्जी और फल बेचने वाले, चाट की दुकान लगाने वाले, पान की दुकान चलाने वाले, मनिहारी की छोटी दुकान चलाने वाले, मोची, नाई, धोबी और अन्य इसी तरह के कार्य करने वाले लघु व्यवसायी कोविड-19 के कारण आर्थिक दिक्कतों में थे। इनकी समस्याएं इस योजना से हल करने के लिए मध्यप्रदेश सरकार ने जुलाई माह में योजना की रूपरेखा बनायी। सिर्फ ढाई माह की अवधि में आज प्रदेश के 20 हजार ग्रामीण पथ-विक्रेताओं को ऋण राशि मिल रही है।

ऋण चुकाने पर दुगुनी राशि के ऋण की व्यवस्था

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि इस योजना से मध्यप्रदेश के स्ट्रीट वेंडर आत्मनिर्भर हो रहे हैं । प्रदेश में 16 सितम्बर से विभिन्न वर्गों के कल्याण के लिए गरीब कल्याण सप्ताह में कार्यक्रम हो रहे हैं। इसके अंतर्गत आज रेहड़ी पटरी वालों को सौगात मिल रही है। प्रदेश के 20 हज़ार हितग्राहियों को यह सौगात मिल रही है जिसमें लाभार्थियों को 10 हज़ार का ब्याज मुक्त ऋण देने की व्यवस्था की गई है। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने योजना की जानकारी देते हुए बताया कि हितग्राही द्वारा दस हजार का ऋण चुकाने पर आगामी वर्ष दुगुनी राशि देने का योजना में प्रावधान है। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने ग्रामीण स्ट्रीट वेंडर्स से कहा कि 'आपकी जिन्दगी बदलना ही हमारी जिन्दगी का मकसद है।'

कामगार सेतु पोर्टल में पंजीकृत सभी स्ट्रीट वेंडर्स को मिलेगा ऋण

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने शहरी क्षेत्र के स्ट्रीट वेंडर्स को ऋण प्रदान करने वाली पीएम स्वनिधि योजना का उल्लेख करते हुए बताया कि प्रधानमंत्री श्री मोदी ने इस योजना में मध्यप्रदेश की उपलब्धियों की सराहना की है। देश के कुल हितग्राहियों में से 66 प्रतिशत हितग्राही मध्यप्रदेश के हैं। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि शहरी क्षेत्र में योजना की सफलता को देखते हुए ग्रामीण क्षेत्र के स्ट्रीट वेंडर्स को भी लाभान्वित करने पर विचार किया जाए। प्रदेश में कामगार सेतु पोर्टल के माध्यम से 8 लाख 52 हजार पंजीयन हो चुके हैं। सभी स्ट्रीट वेंडर्स को लाभान्वित करने का लक्ष्य है।

पथ-विक्रेताओं को हटायेंगे नहीं-साथ मिलकर करेंगे पथ प्रबंधन

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि लघु व्यवसायियों की रोजी-रोटी की चिंता दूर करने के साथ ही उन्हें उनके स्थान से न हटाने के संबंध में भी निकायों को निर्देश दिए जाएंगे। सौंदर्यीकरण के नाम पर इन मेहनतकश वेंडर्स को उनके व्यवसाय करने के स्थान से हटाने का कार्य नहीं किया जाएगा। पथ-विक्रेताओं के साथ मिलकर पथ को साफ और सुंदर रखने के लिए को-ऑपरेटिव्स स्ट्रीट मेनेजमेंट अर्थात सहयोगी पथ-प्रबंधन की बात भी हमें सोचनी होगी, जिसमें पथ विक्रेताओं को अपना सामान बेचने का अधिकार होगा और पथ में सॉलिड वेस्ट मेनेजमेंट में उनकी भागीदारी भी तय की जाएगी। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि जिन पथ-विक्रेताओं को ऋण प्राप्त होगा उन्हें जनपद पंचायत से पहचान पत्र भी जारी किया जाएगा।

मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने इन्दौर, शहडोल और गुना के पथ विक्रेताओं से वीडियो कान्फ्रेंसिंग द्वारा बातचीत की।

ब्याज मामा भरेंगे

इन्दौर के सांवेर जनपद के ग्राम पंचायत रिंगनौदिया के श्री मुकेश से बातचीत में मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि लोन मिल गया है। अब किश्त ठीक से चुकाना, ताकि फिर दुगुनी राशि का लोन ले सको। इस पर मुकेश ने कहा कि निश्चित रूप से हम नियमित किश्त चुकाएंगे और ब्याज तो मामा भरेगा। श्री मुकेश सब्जी का ठेला लगाते हैं। मुकेश ने मुख्यमंत्री को बताया कि उनकी बेटी अस्वस्थ रहती है। इस बातचीत में जल संसाधन मंत्री श्री तुलसीराम सिलावट भी उपस्थित थे। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने श्री सिलावट को कहा कि वे मुकेश की बेटी का इलाज कराएं और उपयुक्त विशेषज्ञ की सलाह लें।

मामा फुल्की सेंटर

शहडोल की ग्राम पंचायत महोत्रा के रामबिहारी विश्वकर्मा फुल्की का ठेला लगाते हैं। उन्होंने अपने ठेले का नाम मामा फुल्की सेंटर रखा है। रामबिहारी बताते हैं कि वे पहले मजदूरी करते थे। उनकी पत्नी स्व-सहायता समूह की सदस्य हैं। पत्नी से ही इस योजना का पता चला और अपना काम शुरु करने का विचार बनाया। अब स्वयं के काम का संतोष है। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि आगे और काम बढ़ाना लोन की चिंता मत करना। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने फुल्की सेंटर में स्वच्छता का विशेष ध्यान रखने की सलाह दी।

आप पहल करें, सहयोग हम देंगे

गुना जिले के ग्राम बक्सनपुर के भागीरथ बागले मनिहारी की दुकान चलाते हैं। श्री भागीरथ के बेटे ने बी-कॉम किया है। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि मनिहारी की दुकान के साथ-साथ दुकान में कुछ दूसरा समान रखकर आमदनी बढ़ाई जा सकती है। सरकार ऐसी सहायता के लिए हमेशा तैयार है। आप पहल करें, सहयोग हम देंगे।

मुख्यमंत्री श्री चौहान की संवेदनशीलता से पथ विक्रेताओं को पूंजी भी मिली और संबल भी

कार्यक्रम में पंचायत एवं ग्रामीण विकास राज्यमंत्री श्री राम खेलावन पटेल ने मुख्यमंत्री श्री चौहान का स्वागत करते हुए कहा कि मुख्यमंत्री श्री चौहान की संवेदनशीलता और दूरदर्शिता के परिणाम स्वरूप ही यह योजना आरंभ हो सकी है। मुख्यमंत्री ग्रामीण पथ विक्रेता ऋण योजना से वास्तव में जो जरूरमंद हैं और जिनके पास रोजगार का विकल्प नहीं था, उन्हें कोरोना काल में मदद मिली है। कोरोना महामारी के कारण पथ-विक्रेताओं और छोटे कारोबारियों की आजीविका पर संकट खड़ा हो गया था। इस योजना से उन्हें फिर से अपना कारोबार शुरु करने के लिए पूंजी के साथ-साथ संबल भी मिला है। कार्यक्रम में पूर्व मंत्री श्री रामपाल सिंह उपस्थित थे।

कार्यक्रम संचालन अपर मुख्य सचिव ग्रामीण और पंचायत श्री मनोज श्रीवास्तव द्वारा किया गया। राज्यस्तरीय बैंकर्स कमेटी के समन्वयक श्री एस.डी.माहोरकर भी उपस्थित थे। इस अवसर पर मुख्यमंत्री श्री चौहान ने भोपाल के स्ट्रीट वेंडर्स सुश्री सरिता मारन, श्री हरी सिंह, श्री बाला प्रसाद, सुश्री संगीता अहिरवार, श्री प्रेम सिंह और सुश्री राखी बाई को प्रतीक स्वरूप चैक भेंट किए।

Comments

CAPTCHA code

Users Comment