Close X
Friday, December 4th, 2020

गैंगस्टर राम सिंह यादव की 84 करोड़ की संपत्ति कुर्क

लखनऊ |  सपा सरकार में जिस शातिर अपराधी राम सिंह यादव के खिलाफ कार्रवाई करने की हिम्मत अफसर नहीं जुटा पाते थे, गुरुवार को कमिश्नरेट पुलिस ने उसके खिलाफ अब तक की सबसे बड़ी कार्रवाई कर डाली। गुरुवार दोपहर पीजीआई पुलिस ने गैंगस्टर और हत्या के आरोपी राम सिंह की 84 करोड़ रुपए की संपत्ति कुर्क कर दी। इसमें राम सिंह के नाम कई जमीनें, 11 प्लॉट और लग्जरी गाड़ियां शामिल हैं। राम सिंह ने अपनी पत्नी, बेटों व भाई के नाम से तीन स्कार्पियो, दो फॉर्च्यूनर गाड़ियां ले रखी थीं। आवास विकास परिषद की वृन्दावन योजना में करोड़ों रुपए की जमीन पर भी कब्जा कर रखा था। पुलिस ने यह सारी कार्रवाई गैंगस्टर एक्ट में धारा 14 (1) के तहत की है। दोनों बेटों के बैंक खातों को भी सीज कर दिया गया है।

राम सिंह पर 25 मुकदमे दर्ज
पुलिस कमिश्नर सुजीत पाण्डेय ने बताया कि चिरैयाबाग निवासी राम सिंह यादव भू-माफिया व हिस्ट्रीशीटर है। उसके खिलाफ मोहनलालगंज व पीजीआई थाने पर 25 मुकदमे हैं। इसमें हत्या, लूट, डकैती जैसे अपराध भी है। रेप के मामले में भी वह जेल जा चुका है। उसकी सीतापुर में भी काफी जमीन है जिसका ब्योरा जुटाया जा रहा है। उसके खिलाफ लोग शिकायत करने का साहस नहीं जुटा पाते हैं। गैंगस्टर में वह वांछित चल रहा था।

करोड़ों रुपए की जमीन व बंगले
एसीपी कैंट बीनू सिंह ने बताया कि शहीद पथ के किनारे करीब एक किलोमीटर तक सरकारी जमीन पर राम सिंह ने कब्जा कर रखा है। इसे खाली कराने के साथ ही उसकी हैवतमऊ मवैया, तेलीबाग की वृन्दावन योजना, खलीलाबाद, चिरैयाबाग में जमीन व मकान कुर्क किये गए। दस्तावेजों के मुताबिक हैवतमऊ मवैया में आरोपी ने 17.18 करोड़,  वृन्दावन योजना में 1.43 करोड़, तेलीबाग में 13.48 करोड़रुपए की जमीन अर्जित कर रखी थी।

परिवारीजनों के नाम तेलीबाग में 66 लाख 30 हजार, खलीलाबाद में 15 करोड़ 48 लाख, खलीलाबाद में 22 करोड़ 38 लाख रुपए की जमीन निकली। पत्नी तारा यादव के नाम तीन करोड़ 31 लाख रुपए की जमीन मिली। आवास विकास परिषद से आवंटित 11 प्लॉट भी कुर्क किये गये। इन प्लाटों की कीमत तीन करोड़ 65 लाख 87 हजार आंकी गई। चिरैयाबाग में उसके आलीशान मकान की कीमत एक करोड़ सात लाख रुपए, वृन्दावन योजना में बने बंगले की कीमत 82 लाख रुपए, चिरैयाबाग में एक अन्य मकान की कीमत 24.27 लाख रुपए, खलीलाबाद में एक मकान की कीमत दो करोड़ 38 लाख रुपए लेखपाल ने आंकी है।

पत्नी व बेटों के नाम पांच लग्जरी गाड़ियां
एसीपी बीनू सिंह के मुताबिक राम सिंह के पास अवैध तरीके से कमायी गई अकूत संपत्ति है। इसमें ही उसने पत्नी तारा, बेटों गौरव व दीपांकर, भाई मान सिंह के नाम तीन स्कार्पियो व दो फाच्र्यूनर गाड़ियां खरीदी थीं। इनकी कीमत 99 लाख 40 हजार रुपए है। परिवार के अन्य सदस्यों के नाम गाड़ियां है जिनका पता लगाया जा रहा है।

खातों में सिर्फ तीन लाख रुपए ही निकले
अफसरों ने बताया कि राम सिंह व परिवारीजनों के सभी बैंक खातों का ब्योरा अभी नहीं मिल सका है। अब तक बेटों के दो खातों का ही पता चला है। बेटे दीपांकर के पीएनबी खाते में एक लाख 54 हजार रुपए और गौरव के आर्याव्रत बैंक खाते में दो लाख रुपए मिले हैं।  PLC.

Comments

CAPTCHA code

Users Comment