Close X
Thursday, September 16th, 2021

मैं भारत हूं संघ द्वारा डॉ डीपी शर्मा राजस्थान रत्न से सम्मानित

मैं भारत हूं संघ द्वारा अति विशिष्ट प्रतिभाओं को "राजस्थान रत्न" सम्मान : पी एम भारद्वाज

आई एन वी सी न्यूज़
जयपुर  ,

मैं भारत हूं संघ के राजस्थान प्रदेश के मुख्य सलाहकार एवम राष्ट्रीय मोटिवेशनल मैनेजमेंट गुरु पीएम भारद्वाज ने बताया कि अतिविशिष्ट क्षेत्रों में उत्कृष्ट कार्य करने के लिए राजस्थान की  चुनिंदा विभूतियों को संघ द्वारा राजस्थान रत्न से सम्मानित किया गया l सम्मानित होने वाली शख्सियतों में डॉ के एल जैन (मानद सेक्रेटरी जनरल राजस्थान चेंबर ऑफ कॉमर्स एंड इंडस्ट्री), डॉ अशोक गुप्ता (चांसलर आईआईएस डीम्ड यूनिवर्सिटी), प्रोफेसर डीपी शर्मा, प्रधानमंत्री द्वारा मनोनीत स्वच्छ भारत अभियान के राष्ट्रीय ब्रांड एंबेसडर एवं यूएन(आई एल ओ) के आईटी एडवाइजर, गोविंद महेश्वरी (निर्देशक एलेन कैरियर इंस्टिट्यूट कोटा), डॉ अजय डाटा (प्रोफेसर फाउंडर एवं सीईओ डाटा इंजीनियर ग्लोबल लिमिटेड), मीडिया रत्न प्रोफ़ेसर संजय  द्विवेदी (महानिदेशक भारतीय जनसंचार संस्थान दिल्ली), प्रोफेसर आर  ए गुप्ता (कुलपति राजस्थान टेक्निकल यूनिवर्सिटी  कोटा), प्रोफ़ेसर संदीप संचेती (कुलपति मारवाड़ी यूनिवर्सिटी राजकोट), डॉक्टर संदीप बक्शी (चांसलर जयपुर नेशनल यूनिवर्सिटी), प्रोफेसर जीके प्रभु (वाइस चांसलर मणिपाल यूनिवर्सिटी जयपुर), डॉ अश्वनी कुमार शर्मा (कुलपति सिंबोयसिस स्किल्स एंड प्रोफेशनल यूनिवर्सिटी पुणे) , डॉ जी एल शर्मा (निदेशक सिक्किम मणिपाल कैंपस), लॉयन सुमेर चंद्र जैन (पूर्व प्रांत पाल), डॉ शमीम शर्मा (एमडी ईटरनल हॉस्पिटल जयपुर), डॉ शैलेंद्र शर्मा (एमडी जयपुर हॉस्पिटल एवं प्रमोटर इंडस जयपुर हॉस्पिटल जयपुर),राजू मंगोड़ी वाला (कोषाध्यक्ष जयपुर ज्वेलर्स एसोसिएशन), डॉ संजय बियानी (डायरेक्टर बियानी ग्रुप ऑफ़ कॉलेजेस जयपुर) प्रमुख रूप से शामिल थेl
मैं भारत हूं संघ के अध्यक्ष विजय कुमार जैन ने बताया कि 'भारत देश' को 'भारत' के नाम से ही सम्बोधित किया जाना चाहिए l
सरकारी क्षेत्र की चार कंपनियों के एमडी सीएमडी रहे महामनीषी पीएम भारद्वाज ने कहा कि भारत  अपने गौरवशाली इतिहास में विश्व गुरु पद से शुषोभित एवं सोने की चिड़िया कहलाता था मगर दुर्भाग्य से भारत का यह ताज कैसे विलुप्त हो गया और आज इसे कैसे पुनर्स्थापित किया जाए यह हम सब के लिए अति चिंतनीय मिशन बिंदु होना चाहिए। हमारी अति संपन्नता का यह ताज कोई यकायक नहीं था बल्कि हमारे यहां ज्ञान का अथाह भंडार एवं हमारे लोग आध्यात्मिक, तकनीकी विद एवम हुनरमंद थे l श्री भारद्वाज ने कहा कि भारत देश को सिर्फ भारत ही सम्बोधित करना चाहिए अर्थात इंडिया कहने का आज कोई गौरवशाली औचित्य नहीं है ! इस अवसर पर विशिष्ट अतिथि (सेवानिवृत्त जस्टिस राजस्थान उच्च न्यायालय) श्री पानाचंद जैन एवं जयपुर नेशनल यूनिवर्सिटी के कुलपति प्रोफेसर एचएन वर्मा भी उपस्थित थे l
मैं भारत हूं संघ के राष्ट्रीय अध्यक्ष विजय कुमार जैन के अलावा राष्ट्रीय महामंत्री शोभा सादानी , राष्ट्रीय कोषाध्यक्ष निशा लोड़ा के साथ इस ऑनलाइन सम्मान समारोह को बड़ी संख्या में लोगों ने देखा और सराहा l
 

Comments

CAPTCHA code

Users Comment