गंगा नदी के संरक्षण को लेकर सरकार सचेत है और गंगा को स्वच्छ रखने के लिए लगातार तमाम योजनाओं का संचालन कर रही है. अभी हाल ही में काशी विश्वनाथ कॉरिडोर का उद्घाटन करने के दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी  ने गंगा में डुबकी लगाकर के गंगा को स्वच्छ रखने का संदेश दिया था. इसी क्रम में वाराणसी में नगर निगम गंगा को स्वच्छ रखने को लेकर एक नए कानून को लागू करने जा रहा है, जिसके तहत गंगा को गंदा करने वालों के खिलाफ प्रशासन का डंडा चलेगा.

सरकार व प्रशासन के लाख प्रयासों के बावजूद भी गंगा में लोग कूड़े-कचरे और गन्दगी का प्रवाह कर रहे हैं, जिसको लेकर अब वाराणसी नगर निगम नया कानून लागू करने जा रहा है. इसके तहत गंगा में कचरा फैलाने वालों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी. इसके साथ ही लापरवाही बरतने वाले पर 1 रुपये से लेकर 1 लाख तक का जुर्माना लगाया जाएगा.

नगर स्वास्थ्य अधिकारी डॉक्टर एनपी सिंह ने बताया कि तमाम कोशिशों के बावजूद भी लोग गंगा में मल-मूत्र व गंदगी का विसर्जन कर रहे हैं, जिसको लेकर के सख्ती बरते जाने की जरूरत है और इसी के तहत अब नए नियम को लागू किया जाएगा और गंगा में गंदगी करने वालों के खिलाफ एक्शन लिया जाएगा. फिर भी लोगों ने लापरवाही की तो जुर्माना लगाने के साथ-साथ उन पर विधिक कार्रवाई की जाएगी.

गंगा के साथ ही शहर में सड़कों पर कूड़ा फेकने वालों के ऊपर भी नगर निगम सख्ती करेगा. आर्थिक दंड उनके लिए भी लागू होंगे. इस कड़ाई का उद्देश्य आम जनमानस को परेशान करना नहीं, बल्कि गंगा और शहर को स्वच्छ रखना है. वो कहावत तो आपने सुनी ही होगी डर बिन प्रीत ना होए. PLC

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here