Saturday, July 4th, 2020

पत्रकारों की साजिश के शिकार हुए इंस्पेक्टर

Conspiracy-to-journalistsआई एन वी सी न्यूज़ आदित्यपुर ,झारखंड,

झारखंड के सरायकेला की खरसावां जिला अंतर्गत आदित्यपुर थाना क्षेत्र में जिस दीप शिखा  नामक  लड़की के साथ दुराचार के प्रयास की खबर छपी और जिसके बाद उस लड़की ने पास की नदी में कूदकर जान देने का रास्ता चुना उसकी सच्चाई यह सामने आई है कि वास्तव में उसके साथ दुराचार ऐसे प्रयास वाली कोई घटना ही नहीं हुई यह यह पूरा मामला एक बड़े खतरनाक खेल की तरह रचा गया जिसमें खबर को सनसनीखेज बनाने और आदित्यपुर के पुलिस इंस्पेक्टर पर लांछन लगाने का षड्यंत्र कुछ पत्रकारों ने रचा संलग्न ऑडियो क्लिप से पता चलता है कि लड़की के साथ दुराचार का प्रयास जैसी कोई घटना नहीं हुई थी लेकिन एक अखबार में जिस प्रकार दुराचार के प्रयास की खबर छपी जिसके बाद लड़की की मां ने लड़की के साथ पूछताछ की तो वह सदमा और संत्रास में आकर घर से निकल गई और नदी में रेलवे पुल से नीचे छलांग लगा दी l
पत्रकारों का षड्यंत्र कामयाब हुआ कि एक कर्तव्यनिष्ठ और लोगों के बीच अत्यंत लोकप्रिय इंस्पेक्टर इस मामले में निलंबित कर दिए गए लेकिन एक लड़की की जान भी पत्रकारों ने ले ली दुराचार के प्रयास की घटना ही नहीं हुई जिससे उसकी fir नहीं हुई थी इंस्पेक्टर पर यह आरोप लगा कि उसने fir दर्ज क्यों नहीं किया ?यहां एक गंभीर मामला लड़की की पहचान को सार्वजनिक करने को लेकर भी है अखबार में 16 साल की एक लड़की के साथ कथित दुष्कर्म की घटना के समाचार में उसके फोटो के साथ प्रकाशित किया गया जो बहुत आपत्तिजनक है निर्भया कांड का मामला सामने है जिसमें दुष्कर्म की शिकार हुई उस लड़की की पहचान पूरी दुनिया के सामने छिपाकर रखी गई उसे मीडिया ने निर्भया नाम दिया जिस नाम से वह लड़की जानी गई लेकिन दीपशिखा के मामले में एक अखबार एवं कुछ वीडियो चैनल बालों ने जैसा गैर जिम्मेदाराना एवं पत्रकारिता को कलंकित करने का कुकृत्य किया उससे मीडिया भी कलंकित हुई है एक युक्ति को अपनी जान देकर उसकी कीमत चुकानी पड़ी जबकि एक कर्तव्यनिष्ठ एवं तेज तर्रार पुलिस पदाधिकारी 27 वर्षों की सेवा पर दाग लगाने का प्रयास सोची-समझी साजिश के तहत किया गया l ऑडियो क्लिप मैं लड़की के पिता सच्चाई बयान कर रहे हैं इसकी पुष्टि लड़की को जिस दुकान में झूठी शिकायत लिखवाने के लिए ले जाया गया वहां क** करने वाला दूसरा व्यक्ति कर रहा है जो हो लड़की का पड़ोसी भी है उप पत्रकारों ने लड़की को यह झूठा झांसा देकर एक वीडियो भी बनवाया कि अगर वह जोर जबरदस्ती की बात करेगी तो लड़के से उसकी शादी हो जाएगी जबकि वह लड़की 16 साल की नाबालिग थी l          

Comments

CAPTCHA code

Users Comment

Krishna, says on September 18, 2016, 10:51 PM

Ye glat hua hai ek sache police karmi dil ko aur unke imandari ko thesh pahuchaya gya hai