Close X
Saturday, December 4th, 2021

कांग्रेस का विकास और जनकल्याण से कोई लेना-देना नहीं

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि हमने मुख्यमंत्री भू अधिकार योजना बनाई है। हमारा संकल्प है कि हर गरीब का पक्का घर हो। जिनके पास खुद की जमीन नहीं है, उन्हें पट्टा देकर जमीन का मालिक बनाया जाएगा। अगर जमीन खरीद कर भी देनी पड़े तो गरीबों के लिए वह भी करूंगा। यह हम बहुत पहले तय कर चुके हैं, लेकिन कांग्रेस इसमें भी मेरी शिकायत करेगी।

मुख्यमंत्री शुक्रवार को रैगांव विधानसभा क्षेत्र के ग्राम सोहावल में भाजपा प्रत्याशी प्रतिमा बागरी के समर्थन में चुनावी सभा को संबोधित कर रहे थे। विजयदशमी से उन्होंने भाजपा के विजय संकल्प ध्वज अभियान का शुभारंभ किया। उन्होंने पार्टी का ध्वज भी फहराया।

मुख्यमंत्री ने कांग्रेस पर तीखे हमले किए। कहा कि कांग्रेस गरीब-गरीब तो करती रही, लेकिन गरीबी कभी दूर नहीं की। गरीबों के लिए भाजपा द्वारा चलाई जा रही संबल जैसी योजनाओं को कमल नाथ ने बंद कर दिया। गरीबों को अंतिम संस्कार के पांच हजार देना भी बंद कर दिए थे। आखिर कांग्रेस को गरीबों से क्या परेशानी है। सरकार सबसे पहले उनकी है जो सबसे गरीब हैं। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री जी को धन्यवाद देना चाहता हूं कि गरीबों को मकान के साथ ही वे किसानों को सम्मान निधि से सम्मानित कर रहे हैं।

कांग्रेस के पास कोई मुद्दा नहीं हैं

शिवराज ने कहा कि कांग्रेस के पास कोई मुद्दा नहीं है। कमल नाथ जी जैसे नेता को विकास और जनकल्याण से लेना-देना नहीं है। वे कहते हैं मैं तो बहुत पहले से सांसद हूं। जब भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष निक्कर (हाफ पैंट) पहनते थे। निक्कर पहनने वाले अब सक्षम नेतृत्व कर रहे हैं तो कमल नाथ जी को तकलीफ हो रही है। करना धरना कुछ नहीं है, जनता के बीच जाते नहीं, केवल टि्वटर वार खेलते हैं। मैंने जितने भी योजना बनाई थी, कांगे्रस ने बंद कर दी। पता नहीं कमल नाथ दादा क्यों गुस्सा रहते हैं। अगर गरीब के बेटा-बेटी भी मेडिकल-इंजीनियरिंग कॉलेज में प्रवेश लेंगे तो फीस माता-पिता नहीं मामा भरवाएगा।

भैया, बस आपसे मिलना था

कार्यक्रम के दौरान एक महिला चबूतरे से कूदकर आई और मुख्यमंत्री के पैर पकड़ लिए। मुख्यमंत्री ने उठाया और पूछा-क्या बात हो गई बहन, रो क्यों रही हो तो महिला ने कहा कि भैया कोई समस्या नहीं, मुझे कुछ नहीं चाहिए, बस आपसे मिल लिए तो आंसू छलक आए।

मुख्यमंत्री ने ली बैठक

सभा से पूर्व मुख्यमंत्री ने एरोड्रम में पार्टी पदाधिकारियों की बैठक ली। उप चुनाव में भाजपा से बागी उमीदवारों द्वारा पर्चा वापस लेने के बाद पार्टी उन्हें साथ मे लेकर चले, इस पर भी चर्चा की। मालूम हो, भाजपा से बागी निर्दलीय प्रत्याशी के तौर पर पूर्व विधायक जुगल किशोर बागरी के बड़े पुत्र पुष्पराज बागरी और छोटे पुत्र देवराज बागरी की पत्नी वंदना बागरी ने पर्चा भरा था। दोनों ने नामांकन वापस ले लिया है। हालांकि सभा के दौरान इस परिवार से कोई सदस्य मंच पर नहीं दिखा। PLC

Comments

CAPTCHA code

Users Comment