Wednesday, February 26th, 2020

कोयला घोटाले की जिम्मेवारी से बच नहीं सकते पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह : हिन्दू महासभा

chandra-prakash-kaushikpresident-hindu-maha-sabha,चन्द्र प्रकाश कौशिक,आई एन वी सी न्यूज़

नई दिल्ली, अखिल भारत हिन्दू महासभा के राष्ट्रीय अध्यक्ष चन्द्र प्रकाश कौशिक, राष्ट्रीय महामंत्री मुन्ना कुमार शर्मा एवं राष्ट्रीय कार्यालय मंत्री वीरेश त्यागी ने एक संयुक्त वक्तव्य जारी करके विशेष अदालत के फैसले का स्वागत करते हुए कहा कि कोयला घोटाला देश की खनिज सम्पदा पर सीधी लूट जैसी थी और इस घोटाले का सच सामने आना चाहिए. गौरतलब है कि सीबीआई की विशेष अदालत ने ओड़िसा में 2005 में तालाबीरा-2 कोयला ब्लॉक आवंटन से जुड़े कोयला घोटाला के एक मामले में पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह के साथ ही उद्योगपति कुमार मंगलम बिड़ला, पूर्व कोयला सचिव पी सी पारख और तीन अन्य को आरोपी के तौर पर सम्मन जारी किए हैं और आठ अप्रैल को पेश होने के लिए कहा है. राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री कौशिक ने स्पष्ट कहा है कि जब पूर्व प्रधानमंत्री के पास कोयला मंत्रालय का प्रभार था, ठीक उसी समय यह घोटाला हुआ था इसलिए वह अपनी सीधी जिम्मेवारी से कतई नहीं बच सकते हैं. वहीं राष्ट्रीय महामंत्री श्री शर्मा ने मनमोहन सिंह के समर्थन में सड़क-मार्च करने को कांग्रेस की गैर जिम्मेदाराना कार्यवाही बताते हुए कहा है कि कांग्रेस हड़बड़ी में अदालत के सम्मान की अनदेखी कर रही है. घोटाला एक कानूनी और आपराधिक मुद्दा है, न कि राजनीतिक. इसलिए कांग्रेस जनता को गुमराह करना बंद करे. राष्ट्रीय कार्यालय मंत्री वीरेश त्यागी ने कांग्रेस काल में हुए दूसरे तमाम घोटालों की जांच के लिए भी फ़ास्ट ट्रैक कोर्ट बनाये जाने की मांग की, क्योंकि हिन्दू महासभा मानती है कि कांग्रेस की पिछली सरकार में प्रत्येक स्तर पर लूट हुई थी. हिन्दू महासभा ने एक सूर में मोदी सरकार की आलोचना करते हुए कहा कि लगभग एक साल हो जाने के बाद भी मोदी सरकार किसी भी घोटाले के आरोपी को जेल नहीं पहुंचा पायी है, उसे अपनी प्रक्रिया तेज करके देश को पिछली सरकार में हुए तमाम घोटालों का पर्दाफाश करना चाहिए. यदि मोदी सरकार इन घोटालों पर अपना रूख साफ़ करते हुए आरोपियों को सजा दिलवाने में नाकाम होती है तो हिन्दू महासभा राष्ट्रव्यापी आंदोलन करने को मजबूर होगी.

Comments

CAPTCHA code

Users Comment