Close X
Thursday, April 22nd, 2021

CJI ने हाथरस कांड को बताया shocking

हाथरस गैंगरेप केस को दाखिल याचिकाओं पर आज सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई हुई. यूपी सरकार ने हलफनामा दाखिल करके मामले की सीबीआई जांच कराने का आदेश देने की मांग की. इस बीच पूरे मामले की एसआईटी की जांच चल रही है. एसआईटी की टीम वहां पहुंची हैं, जहां पीड़िता का शव जलाया गया है. पूरे मामले की छानबीन की जा रही है. इस बीच उत्तर प्रदेश सरकार ने दावा किया है कि हाथरस के बहाने राज्य में दंगा कराने की साजिश रची गई थी. इस मामले में मथुरा से चार लोगों को गिरफ्तार भी किया गया है. सीजेआई एसए बोबड़े ने कहा कि हम पीड़ित पक्ष और गवाहों के सुरक्षा ‌के‌ यूपी सरकार के बयान को दर्ज कर रहे हैं या आप हलफनामा दाखिल करें. इस पर सरकार की ओर से पेश हो रहे सॉलिसिटर जनरल तुषार मेहता ने कहा कि कल तक दाखिल  कर देंगे.

इसके बाद सीजेआई ने कहा कि ठीक है, आप गवाहों की सुरक्षा को लेकर किए इंतजामों पर और पीड़ितों की सुरक्षा के बारे में हलफनामे में पूरी जानकारी दें.  सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि वो सुनिश्चित करेगा कि हाथरस मामले की जांच सही तरीके से चले. सुनवाई के दौरान वकील कीर्ति सिंह ने कहा कि मैं कोर्ट की महिला वकीलों की तरफ से बोल रही हूं. हमने रेप से जुड़े कानून पर काफी अध्यययन किया है. यह एक झकझोरने वाली घटना हुई है.इस पर सीजेआई एसए बोबड़े ने कहा कि हर कोई कह रहा है कि घटना झकझोरने वाली है. हम भी यह मानते हैं. तभी आपको सुन रहे हैं, लेकिन आप इलाहाबाद हाई कोर्ट क्यों नहीं गईं? क्यों नहीं मामले की सुनवाई पहले हाई कोर्ट करे, जो बहस यहां हो सकती है, वही हाई कोर्ट में भी हो सकती है. क्या ये बेहतर नहीं होगा कि हाई कोर्ट मामले की सुनवाई करे? सुप्रीम कोर्ट के चीफ जस्टिस ऑफ इंडिया (सीजेआई) एसए बोबड़े ने कहा कि हम ये भी देखना चाहते हैं कि इस मामले में याचिकाकर्ता का लोकस है या नहीं, लेकिन अभी हम केवल मामले की सुनवाई इसलिए कर रहे है कि ये एक शॉकिंग केस है. PLC.

Comments

CAPTCHA code

Users Comment