Close X
Sunday, September 20th, 2020

बीते समय पर पछताना एकदम व्यर्थ

चाणक्य की नीतियां आज के दौर में जीवन में आ रही कठिनाइयों का सामना करने की हिम्मत देती हैं। चाणक्य एक महान राजनीतिज्ञ, अर्थशास्त्री और परम ज्ञानी थे। उन्होंने अपनी नीतियों के दम पर ही चंद्रगुप्त मौर्य जैसे साधारण से बालक को भारत का सम्राट बना दिया। इनकी नीतियों में मानव समाज से संबंधित लगभग हर एक पहलू के बारे में बताया है। जानिए सफलता पाने को लेकर इनकी नीतियां क्या कहती हैं.

1. चाणक्य अनुसार व्यक्ति हमेशा अपनी गलतियों से सीखता है। अगर वह अपने ऊपर प्रयोग करके देखेगा तो उसकी पूरी उम्र ही कम पड़ जायेगी।

2. चाणक्य नीति कहती है कि मित्रता हमेशा बराबर वाले से ही करनी चाहिए। अपने से नीचे या उच्चे व्यक्ति के साथ मित्रता हमेशा कष्टदायी होती है।
3. किसी भी कार्य को प्रारंभ करने से अपने अपनी आप से तीन प्रश्न जरूर पूछें कि मैं ये कार्य क्यों कर रहा हूं? इस कार्य का परिणाम क्या होगा? क्या इसमें मुझे सफलता हासिल होगी? जब इन तीनों सवालों का उचित जवाब मिल जाए तभी किसी कार्य को करें।

4. चाणक्य कहते हैं कि बीते समय पर पछताना एकदम व्यर्थ है। अगर आपसे कोई गलती हो गई है तो उससे शिक्षा प्राप्त कर अपने आज को श्रेष्ठ बनाने का प्रयास करें।

5. समझदार व्यक्ति वही है जो अपनी कमाई और खर्चे के बीच में सही तालमेल समझ सके। जो लोग आय से अधिक खर्च करते हैं वो हमेशा परेशान रहते हैं। इसलिए धन संबंधि सुख पाने के लिए कभी भी आय से अधिक खर्च न करें।

6. चाणक्य नीति के अनुसार अगर जीवन में सफलता पाना चाहते हैं तो अपना रहस्य किसी को भी न बताएं। क्योंकि लोग इसका फायदा उठा सकते हैं या आपको भटका सकते हैं।

7. व्यक्ति को हमेशा यह पता होना चाहिए कि अभी कैसा वक्त चल रहा है और समय के हिसाब से ही कोई भी निर्णय लेना चाहिए। हमेशा इस बात का ध्यान रखें कि वक्त अच्छा चल रहा है तो कुछ नया काम करते रहें, लेकिन बुरे वक्त में धैर्य रखना ही सही है।

8. एक बार जब आप कोई काम शुरु करते हैं, तो असफलता से डरे नहीं और ना ही उसे त्‍यागें। ईमानदारी से काम करने वाले लोग खुश रहते हैं। PLC.

 

Comments

CAPTCHA code

Users Comment