पंजाब के मुख्‍यमंत्री चरणजीत स‍िंह चन्‍नी ने कहा कि उन्होंने कैप्‍टन अमरिंदर स‍िंह को हटाए जाने की मांग उठाई थी क्योंकि वह बीजेपी के साथ थे और अकालियों की तरह काम कर रहे थे। उन्होंने एक समाचार चैनल से कहा “लेकिन मैं मुख्यमंत्री पद का उम्‍मीदवार नहीं था, यह राहुल गांधी का निर्णय था,  राहुल गांधी ने मुझे मुझे मुख्‍यमंत्री के रूप में चुना। उन्‍होंने मुझे फोन किया और कहा कि हम आपको सीएम बना रह हैं। मैं रोने लगा, ये आप क्‍या कर रहे हैं, मैं इस योग्‍य नहीं हूं।” उन्‍होंने कहा, अब फैसला हो चुका है।
चन्‍नी ने कहा, ”मुझे सीएम के रूप में 4 महीने मिले हैं लेकिन मैं चार साल का काम करूंगा। ना तो मैं सोउंगा और ना ही अपने अधि‍कारियों को सोने दूंगा। अब सिस्‍टम बदल गया है।
अरविंद केजरीवाल द्वारा ‘नकली केजरीवाल’ कहे जाने पर सीएम चन्‍नी ने कहा, ”उन्‍हें कैसे पता दिल्‍ली का आम आदमी कौन है? जब उन्‍हें एहसास हुआ कि मुझे ‘नकली आम आदमी’ कह कर उन्‍होंने गलती कर दी है तो अब वो मुझे ‘नकली केजरीवाल’ कह रहे हैं। सभी वादे पहले ही पूरे किए जा चुके हैं।”
उन्होंने कहा, ”मैं मुख्‍यमंत्री पद की दौड़ में नहीं था। मैं जिस पृष्‍ठभूमि से आया हूं, मेरे बाप-दादा राजनीति में नहीं थे। एक आम आदमी के लिए इस सिस्‍टम में आना बहुत कठिन है। सबसे पहले मैंने निर्दलीय के रूप में चुनाव जीता था, मुझे नेता प्रतिपक्ष बनाया गया, मैंने कभी मांग नहीं की थी।” PLC
 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here