जगत प्रकाश नड्डा ने सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव पर आरोप लगाया कि ‘‘वह संविधान की रक्षा के लिए नहीं बल्कि ‘आतंकवादियों’ की हिफाजत के लिए ईश्वर की शपथ लेते हैं। नड्डा ने अखिलेश पर अपने मुख्यमंत्रित्वकाल में पूर्व में हुई कई वारदातों में शामिल आतंकवादियों से मुकदमे वापस लेने का आरोप लगाकर कहा, बाकी लोग संविधान की रक्षा के लिए ईश्वर की शपथ लेते हैं,लेकिन अखिलेश कहते हैं कि मैं ईश्वर की शपथ लेता हूं कि मैं आतंकवादियों की रक्षा करूंगा। उन्होंने कहा, पिछले शुक्रवार को 38 लोगों को अहमदाबाद बम धमाकों के मामले में सजा-ए-मौत हुई है। उनमें एक व्यक्ति मोहम्मद सैफ के पिता शादाब अहमद सपा के कार्यकर्ता हैं और अखिलेश के साथ गले मिलकर काम कर रहे हैं। क्या आप इसतरह के लोगों को चुनाव में आगे बढ़ाएंगे।”
नड्डा ने कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा पर भी निशाना साधकर कहा, “प्रियंका गांधी ने आतंकवाद के मामले पर कहा कि यह फुजूल की बात है। उनके पिता राजीव गांधी के जीवन का अंत आतंकवादियों के हाथ हुआ मगर उनके लिए आतंकवाद फुजूल का मुद्दा है। नडडा ने दावा किया कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने राज्य से माफिया राज और गुंडाराज समाप्त कर दिया है और देशद्रोहियों को जेल में डाला है। नड्डा ने कहा कि पांच साल पहले आजम खान, मुख्तार अंसारी और अतीक अहमद आतंक फैलाते थे मगर पिछले पांच साल से यह तीनों जेल में गुल्ली डंडा खेल रहे हैं।’’ नड्डा ने भाजपा के पक्ष में मतदान की अपील करते हुए कहा, “उत्तर प्रदेश में पहले भी दीवाली आती थी मगर अयोध्या में दीपोत्सव क्यों नहीं होता था? पहले भी कृष्ण जन्माष्टमी आती थी,तब मथुरा क्यों नहीं सजता था? पहले देव दीपावली पर बनारस क्यों नहीं सजता था? अब भाजपा के शासनकाल में यह सब हो रहा है। यह आपके वोट की ताकत है।उन्होंने कहा कि सपा या कांग्रेस के किसी भी नेता में जनता के बीच जाकर अपने काम गिनाने की ताकत नहीं है। भाजपा अध्यक्ष ने कहा कि सिर्फ भाजपा के लोग ही सीना ठोक कर कह सकते हैं कि हमने जो कहा था वह करके दिखाया। उन्होंने दावा किया कि रिपोर्ट कार्ड की राजनीति किसी और ने नहीं बल्कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सिखाई है। PLC

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here