वर्ष 2021 के अंत में अमेरिका ने जैविक हथियार के निषेध संधि के सदस्य देशों के सम्मेलन में दस्तावेज जारी किये। इसके अनुसार यूक्रेन में अमेरिका की कुल 26 जैविक प्रयोगशालाओं समेत सहयोग सुविधाएं स्थित हैं। इस की चर्चा में रिटर ने कहा कि हमें पता नहीं है कि 26 जैविक प्रयोगशालाओं की स्थापना की आवश्यकता क्या है? और रूस द्वारा आरोप लगाये गये कार्यक्रमों को अस्तित्व की अनुमति क्यों है? अमेरिका को इन सवालों के जवाब देने होंगे।
रूसी रक्षा मंत्रालय ने हाल ही में यह घोषणा की कि सबूत से यह जाहिर हुआ है कि यूक्रेन में स्थित अमेरिका की जैविक प्रयोगशालाएं गुप्त रूप से रोगजनकों को फैलाने के लिये प्रतिबद्ध हैं। इस पर इराक में संयुक्त राष्ट्र के पूर्व प्रमुख हथियार निरीक्षक, पूर्व अमेरिकी मरीन कॉर्प्स के खुफिया अधिकारी स्कॉट रिटर ने कहा कि गंभीरता से उन प्रयोगशालाओं की जांच करने की आवश्यकता है। केवल ऐसा करके यह साबित किया जा सकेगा कि अमेरिका ने जैविक हथियार के निषेध संधि का पालन किया है या नहीं। रिटर के अनुसार हालांकि उक्त जैविक प्रयोगशालाएं यूक्रेन में स्थित हैं। लेकिन बेशक उन का नियंत्रण अमेरिका के हाथों में है। क्योंकि उन प्रयोगशालाओं का संचालन वर्ष 2005 में यूक्रेन व अमेरिका द्वारा हस्ताक्षर किये गये ज्ञापन के आधार पर किया जाता है। PLC

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here